लाइव टीवी

दीवाली: दरगाह की दहलीज पर जले दीपावली के दीप, सांप्रदायिक सौहार्द और भाईचारे का दिया संदेश

Imtiyaz Bhati | News18 Rajasthan
Updated: October 27, 2019, 1:25 PM IST
दीवाली: दरगाह की दहलीज पर जले दीपावली के दीप, सांप्रदायिक सौहार्द और भाईचारे का दिया संदेश
झुंझुनूं की कमरूद्दीन शाह दरगाह पर मनाई गई दीपावली

झुंझुनूं में कमरूद्दीन शाह दरगाह की दहलीज पर एक बार फिर दिवाली के दीपक रोशन हुए. करीब दो सदियों से चली आ रही परंपरा इस बार भी निभाई गई.

  • Share this:
झुंझुनूं. राजस्थान के झुंझुनूं (Jhunjhunu) में कमरूद्दीन शाह दरगाह (Kamaruddin Shah Dargah) की दहलीज पर एक बार फिर दिवाली (Diwali) के दीपक रोशन हुए. करीब दो सदियों से चली आ रही परंपरा इस बार भी निभाई गई. दिवाली के मौके पर दरगाह कमरूद्दीन शाह की दहलीज पर मिट्टी के दीपक रोशन किए गए तो वहीं आतिशबाजी के साथ हिंदू-मुस्लिम भाइयों ने एक-दूसरे को दिवाली की बधाई दी.

दो सदियों से चली आ रही है परंपरा निभाई

झुंझुनूं के कमरूद्दीन शाह की दरगाह में दो सदियों से चली आ रही परंपरा इस बार भी निभाई गई. दरगाह के गद्दीनशीन एजाज नबी के नेतृत्व में शनिवार को दिवाली का त्योहार धूम-धाम से मनाया गया. इस मौके पर दरगाह पर मिट्टी से बने दीपक रोशन किए गए तो देर रात तक आतिशबाजी भी की गई. कार्यक्रम में दरगाह के गद्दीनशीन एजाज नबी ने कहा कि झुंझुनूं से सांप्रदायिक सौहार्द और भाईचारे का संदेश पूरे विश्व में जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि जिस मुस्लिम का हिंदू दोस्त नहीं, वह मुस्लिम अधूरा है. उन्होंने कहा कि सूफीज्म का संदेश है कि प्यार, मोहब्बत और भाईचारे के साथ रहा जाए. साथ ही कहा कि एक-दूसरे मजहब के लोग आपस में खुशियों को बांटे और त्योहार मनाए.



दीपोत्सव कार्यक्रम में सभी समाज के लोग हुए शामिल

दरगाह पर हुए इस दीपोत्सव कार्यक्रम में ना केवल मुस्लिम बल्कि हिंदू समाज के लोग भी शामिल हुए, जिन्होंने मुस्लिम भाइयों के साथ पूरे उत्साह के साथ दिवाली मनाई. वहां मौजूद लोगों ने कहा कि यहां आकर कभी नहीं लगता कि वे दूसरे कौम के साथ दिवाली मना रहे हैं. सभी अपने लगते हैं और सभी का आपस में दिली रिश्ता बन चुका है. शहर के लोगों ने कहा कि सालों पहले हजरत कमरूद्दीन शाह और चंचलनाथ टीले के महंत चंचलनाथ जी की दोस्ती ने ही सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल पेश की, जो आज भी सदियों बाद जारी है.

कमरूद्दीन शाह दरगाह पर आतिशबाजी के साथ रोशन हुए दीपक
कमरूद्दीन शाह दरगाह पर आतिशबाजी के साथ रोशन हुए दीपक

Loading...

आतिशबाजी के साथ रोशन हुए दीपक

इस मौके पर ना केवल पूरे दरगाह परिसर को मिट्टी के दीपकों से रोशन किया जाता है, बल्कि दरगाह परिसर को रोशनी से सजाया भी जाता है. इसके अलावा ना केवल बड़े, बल्कि बच्चे भी आतिशबाजी का मजा लेते हैं. कुछ मुस्लिम बच्चे तो केवल और केवल दिवाली का त्यौहार मनाने और दरगाह में आतिशबाजी करने के लिए बाहर से आते हैं. यह ऐसी दरगाह है, जहां की दिवाली मनाने के लिए सभी धर्मों के लोग पहुंचते है और कौमी एकता की मिसाल पेश करते हैं.

यह भी पढ़ें- दिवाली: यहां पूर्वजों का श्राद्ध कर बाद में मनाई जाती है दीपावली

यह भी पढ़ें- दीवाली: पुलिस-प्रशासन हुआ High Alert, सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाने के निर्देश जारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए झुंझुनूं से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 27, 2019, 1:05 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...