लाइव टीवी

घर में पानी की हुई कमी तो नौवीं कक्षा के छात्र ने मौसम की नमी से बनाया 'शुद्ध' पानी
Jhunjhunu News in Hindi

Imtiyaz Bhati | News18 Rajasthan
Updated: February 3, 2020, 5:29 PM IST
घर में पानी की हुई कमी तो नौवीं कक्षा के छात्र ने मौसम की नमी से बनाया 'शुद्ध' पानी
नौवीं कक्षा के छात्र अन्वेषण खन्ना ने मौसम की नमी से पीने का पानी बना डाला.

जयपुर के के नौवीं कक्षा के छात्र अन्वेषण खन्ना (Anweshan Khanna) के घर पानी की किल्लत (water Shortage) रहती थी. उन्होंने इस संकट से पार पाने के लिए मौसम की नमी से ही पानी बना डाला. पानी भी ऐसा है कि जिसे हम पीने के काम ले सकते हैं.

  • Share this:
झुंझुनूं. केंद्रीय विज्ञान एवं तकनीकी मंत्रालय (Central Science And Technique Ministry) के नेशनल इनोवेशन फाउंडेशन (National Innovation Foundation) के देखरेख में बाल वैज्ञानिकों (Child Scientist) की खोज की जा रही है. इस अभियान के तहत राजस्थान से ही करीब दो हजार आइडिया मंत्रालय तक पहुंचे. इनमें से 18 आइडियों का चयन कर राष्ट्रीय स्तर पर भेजा गया है. इनमें एक नाम जयपुर के कैंब्रिज कोर्ट हाई स्कूल के नौवीं कक्षा के छात्र अन्वेषण खन्ना का भी शामिल हुआ है. अन्वेषण ने मौसम की नमी को ही पानी में बनाने का नया विचार किया है. पानी भी ऐसा कि, जिसे हम पीने के काम ले सकते है और वह पूरी तरह से शुद्ध है.

दरअसल, अन्वेषण खन्ना बताते हैं कि एक बार उनके घर में पानी की सप्लाई नहीं हुई, इसलिए पीने के पानी का भी टोटा हो गया. वहीं मौसम में नमी होने के कारण सबकुछ चिप-चिप हो रहा था. अन्वेषण ने उसी दिन सोच लिया था कि इस नमी से ही पानी बनाएंगे. इसके बाद उसने यूट्यूब सहित वेब पर इस बारे में खूब सर्च किया, लेकिन इस बारे में कोई ज्यादा जानकारी नहीं मिली.

सिलिका का प्रयोग करके बनाते हैं पानी

अन्वेषण खन्ना ने अपनी टीचर ऋचा शर्मा के साथ अपने आइडिया को जब परवान चढ़ाने का काम किया तो उसे इस दिशा में सफलता मिल गई. आखिरकार, उसने अर्ज नाम से एक डिवाइस बनाया, जिसका पूरा नाम रखा गया है यूनिक रिजनरेटिंग इक्यूपमेंट ऑफ वॉटर.

1 लीटर शुद्ध पानी बनाने में लगता है 25 मिनट

अन्वेषण खन्ना बताते हैं कि सिलिका का यूज कर वे पानी बनाते हैं और उनका दावा है कि 25 मिनट में एक लीटर तक शुद्ध पानी केवल और केवल नमी से बन सकता है. वहीं इसकी कीमत भी तीन रुपए लीटर ही पड़ती है. इसके साथ ही एक दिन में 60 लीटर तक पानी बनाया जा सकता है. उसने बताया कि अभी तो उसने प्रारंभिक तौर पर यह डिवाइस तैयार किया है, लेकिन इसे और अधिक विस्तृत बनाने के साथ-साथ ऑटोमेटिक भी बनाया जा सकता है. इस डिवाइस को बनाने में ज्यादा खर्चा भी नहीं आया है.

यह भी पढ़ें: आयूष ने दादा की परेशानी देख बनाई ब्रेन ट्यूमर की टेस्ट किट, बने बाल वैज्ञानिक नंबर 01दलित दूल्हे ने घोड़ी पर बैठने के लिए पुलिस से मांगी मदद, 2 साल में दूसरा मामला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए झुंझुनूं से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 3, 2020, 4:12 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर