झुंझुनूं के बीडीके अस्पताल में एसी और पंखे पड़े खराब, गर्मी से मरीज बेहाल
Jhunjhunu News in Hindi

झुंझुनूं जिले के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल बीडीके हॉस्पिटल के एसी और पंखे खराब पड़े हैं और गर्मी से मरीज बेहाल हैं. परिजन मरीजों को हाथ से पंखा झलने को मजबूर हैं.

  • Share this:
झुंझुनूं जिले के बीडीके अस्पताल में भर्ती मरीजों की गर्मी से बचाव के लिए कोई इंतजाम नहीं है. जिले के सबसे बड़े राजकीय वार्डों की हालत यह है कि दानदाताओं की ओर से लगाए गए कई एसी खराब पड़े हुए हैं. अधिकांश पंखे खराब हैं. गर्मी व उमस के चलते भर्ती मरीज व परिजन बेहाल हैं. वहीं पीएमओ, चिकित्सक, नर्सिंगकर्मी व कर्मचारियों के कक्षों में कूलर, पंखे बिल्कुल ठीक हालत में हैं.  गर्मी से बचाव के लिए राजकीय बीडीके अस्पताल प्रशासन की ओर से की गई व्यवस्थाओं की जानकारी लेने के लिए न्यूज 18 की टीम पहुंची तो सच्चाई सामने आ गई.

गर्मी व उमस के कारण भर्ती बच्चों के रोने की आवाज से बच्चा वार्ड गूंज रहा था, पास बैठी हुई महिलाएं कागज के गत्तों को झलकर गर्मी से राहत दिलाने का प्रयास कर रही थी लेकिन उमस इतनी थी कि बच्चे चुप नहीं हो रहे थे. परिजनों ने बताया कि एसी काम नहीं कर रहे, पंखे खराब हैं. गर्म हवा चलने के कारण मासूम बिलख पड़ते है. वहां मौजूद स्टाफ ने बताया कि मरम्मत के लिए अस्पताल प्रशासन को लिखा जा चुका है. अस्तपाल में मेल-फिमेल वार्डों के लगभग ऐसे ही हालत है.

मरीज से मिलने आए परिजनों के लिए दानदाताओं व अस्पताल प्रशासन ने गैलरी पंखे लगाए थे, लेकिन एक-दो पंखों को छोड़कर करीब-करीब सब खराब हैं. पंखों के नाम पर गैलरी में कुछ जगह केवल तार लटके हुए हैं. राहत के नाम पर हवा का आने वाला झोंका परिजनों को सुकुन देता है. पंखों को हटा दिया गया है. जनाना वार्ड में एसी होने के बावजूद स्टॉफ की ओर से शुरू नहीं किया गया.स्टॉफ का कहना था कि महिलाओं के खिड़की खोलने की वजह से भर्तीवार्ड का तापमान नियंत्रित नहीं हो पाता है.



 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading