होम /न्यूज /राजस्थान /

Rajasthan: मां ने दुलारा, 7 साल के बेटे ने दी शहीद राजेंद्र प्रसाद भांबू को मुखाग्नि, अंतिम यात्रा में उमड़ा जनसैलाब

Rajasthan: मां ने दुलारा, 7 साल के बेटे ने दी शहीद राजेंद्र प्रसाद भांबू को मुखाग्नि, अंतिम यात्रा में उमड़ा जनसैलाब

सेना के जवानों ने यहां पार्थिव देह को गार्ड ऑफ ऑनर दिया. तत्पश्चात अंतिम दर्शन के लिए पार्थिव देह रखा गया तो अंतिम संस्कार की रश्म अदायगी की गई.

सेना के जवानों ने यहां पार्थिव देह को गार्ड ऑफ ऑनर दिया. तत्पश्चात अंतिम दर्शन के लिए पार्थिव देह रखा गया तो अंतिम संस्कार की रश्म अदायगी की गई.

राजस्थान के झुंझुनूं के मालीगांव के लाल शहीद राजेंद्र प्रसाद भांबू का शनिवार को अंतिम संस्कार किया गया. शहीद की अंतिम यात्रा में हजारों की संख्या में जनसैलाब उमड़ा. इलाके के हजारों युवाओं द्वारा तिरंगा यात्रा के जरिए पार्थिव देह को मालीगांव लाया गया. बीच रास्ते में ओजटू, नूनियां गोठड़ा, बख्तावरपुरा आदि गांवों में स्कूली बच्चों ने पुष्प वर्षा और हाथों में तिरंगा लिए अपने लाड़ले शहीद को नमन किया. पार्थिव देह जैसे ही मालीगांव पहुंचीस,दृश्य काफी गमगीन था.परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था. वहीं सेना के जवानों ने यहां पार्थिव देह को गार्ड ऑफ ऑनर दिया.

अधिक पढ़ें ...

कृष्ण शेखावत, झुंझुनूं. कश्मीर के राजौरी में आतंकियों से मुठभेड़ में शहीद हुए झुंझुनूं के मालीगांव के लाड़ले सपूत शहीद राजेंद्र प्रसाद भांबू का शनिवार को पूरे राजकीय सम्मान से उनके पैतृक गांव मालीगांव में अंतिम संस्कार किया गया. सेना के जवानों ने पार्थिव देह को गार्ड ऑफ ऑनर दिया. वहीं इससे पूर्व शहीद राजेन्द्र प्रसाद की शहादत पर तिरंगा यात्रा निकाली गई. शुक्रवार की देर रात को झुंझुनूं के चिड़ावा थाने में शहीद की पार्थिव देह पहुंची थी. जहां से शनिवार को सुबह सेना के फूलों से सजे ट्रक में पार्थिव देह सम्मान के साथ रखकर शहादत यात्रा निकाली. इलाके के हजारों युवाओं द्वारा तिरंगा यात्रा के जरिए पार्थिव देह को मालीगांव लाया गया. बीच रास्ते में ओजटू, नूनियां गोठड़ा, बख्तावरपुरा आदि गांवों में स्कूली बच्चों ने पुष्प वर्षा और हाथों में तिरंगा लिए अपने लाड़ले शहीद को नमन किया.

शहादत यात्रा के दौरान पूरे रास्ते में लोग लाड़ले के अंतिम दर्शन किए और शहादत को नमन कर श्रद्धासुमन अर्पित किए. लोगों ने वंदे मातरम, भारत मां की जय और राजेंद्र प्रसाद भांबू अमर रहे के नारे लगाए. दर्जनों डीजे पर देशभक्ति के गानों की धुन बजाई गई और शहीद राजेन्द्र प्रसाद को नमन किया गया. जगह जगह पुष्प वर्षा कर शहीद को अपनी ओर से श्रद्धांजलि दी गई. पार्थिव देह जैसे ही मालीगांव पहुंचीस,दृश्य काफी गमगीन था.परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था.

पिता और भाई की आंखें नम

वहीं सेना के जवानों ने यहां पार्थिव देह को गार्ड ऑफ ऑनर दिया. तत्पश्चात अंतिम दर्शन के लिए पार्थिव देह रखा गया तो अंतिम संस्कार की रश्म अदायगी की गई. बुजुर्ग पिता व भाई राजेश की आंखें भी नम थीं. शहीद की शहादत को सांसद नरेंद्र कुमार, सैनिक कल्याण मंत्री राजेन्द्र सिंह गुढा, पिलानी विधायक जेपी चंदेलिया, कलेक्टर लक्ष्मण सिंह कुड़ी, एसपी मृदुल कच्छावा सहित जनप्रतिनिधियों ने पुष्प चक्र अर्पित किए और शहादत को नमन किया. शहीद के सात साल के बेटे अंशुल ने चिता को मुखाग्नि दी. इस मौके पर सभी ने शहीद परिजनों को ढांढस बंधाया. मंत्री राजेन्द्र गुढा ने कहा राजेन्द्र प्रसाद ने आतंकवादियों के इरादों को नाकाम कर उन्हें ढेर किया. इसमें उन्होंने प्राणों का बलिदान दिया है. सैंकड़ों जवानों की जान बचाई और एक बड़े आतंकवादी हमले को नाकाम किया. हमें उनकी शहादत पर गर्व है. लेकिन उन्हें खोने का गम भी है.

Tags: Jhunjhunu news, Rajasthan news

अगली ख़बर