दाह संस्कार करने गए लोगों पर मधुमक्खियों ने किया हमला, 100 से ज्यादा लोग घायल
Jhunjhunu News in Hindi

अस्पताल में डॉक्टर और नर्सिंग स्टाफ ने घायलों का इलाज किया. सीएचसी ने कहा कि किसी भी घायल को रेफर करने की जरूरत नहीं पड़ी.

  • Share this:
झुंझुनूं के बगड़ कस्बे में उस वक्त अफरा तफरी मच गई, जब एक साथ 100 से ज्यादा घायल लोग अचानक सरकारी अस्पताल पहुंचे. जानकारी के मुताबिक, कस्बे में रहने वाले लूणाराम सामरिया का निधन सोमवार की सुबह हो गया था. उनका दाह संस्कार करने के लिए परिवार और कस्बे के लोग खटीकाना मुक्तिधाम में पहुंचे थे. वहां पर शव की अंतिम क्रिया के लिए जब लोग लकड़ियां लाने गए तो वहां पर घोड़ा मधुमक्खियों ने लोगों पर हमला कर दिया. बड़ी संख्या में मधुमक्खी होने के कारण लोग खुद को संभाल नहीं पाए और गिरते उठते मुक्ति धाम के बाहर आ गए.

इसके बाद मौके पर 108 और 104 एंबुलेंस भेजी गई. लेकिन घायलों की संख्या अधिक होने के कारण न केवल चिड़ावा से 108 एंबुलेंस बुलवाई गई बल्कि अन्य दो निजी वाहनों से भी घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया. सभी घायलों को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई. वहीं कुछ घायल अभी भी अस्पताल में भर्ती हैं. लेकिन सभी की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है.

किसी भी घायल को रेफर नहीं किया गया



बड़ी संख्या में अस्पताल आए घायलों देखकर चिकित्सकों के हाथ पैर फूले.

घटना के संदर्भ में बगड़ के प्रभारी सीएचसी डॉ. जेएस बुडानिया कहा कि सूचना मिली कि समाज के किसी व्यक्ति की मृत्यु पर उसका दाह संस्कार करने के लिए लोग मुक्तधाम गए थे. वहां पर मधुमक्खियों ने उन पर हमला बोल दिया. उन्होंने कहा कि मधुमक्खियों के हमले करीब 100 से 125 लोग घायल हो गए. घटना की सूचना मिलने के बाद ही 104 और 108 एंबुलेंस भेजी गई. अनेक फेरे लगा कर एंबुलेंस ने घायलों को अस्पताल तक पहुंचाया. अस्पताल में डॉक्टर और नर्सिंग स्टाफ ने घायलों का इलाज किया. सीएचसी ने कहा कि किसी भी घायल को रेफर करने की जरूरत नहीं पड़ी.

ये भी पढ़ें - Article 370 : भारत-पाक बॉर्डर पर अलर्ट, BSF ने बढ़ाई चौकसी

कोट बांध में डूबने से दो युवकों की मौत, पुलिस-प्रशासन मौजूद
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading