झुंझुनूं: स्कूलों में सुरक्षा और सुविधा को लेकर बढ़ाई गई सख्ती

Imtiyaz Bhati | ETV Rajasthan
Updated: September 17, 2017, 5:46 PM IST
झुंझुनूं: स्कूलों में सुरक्षा और सुविधा को लेकर बढ़ाई गई सख्ती
फोटो-(ईटीवी)
Imtiyaz Bhati | ETV Rajasthan
Updated: September 17, 2017, 5:46 PM IST
गुरूग्राम स्थित रेयान इंटरनेशनल स्कूल के प्रद्युम्न सिंह मामले के बाद न्यायिक अधिकारी भी इस मामले में सख्त हो गए हैं. इस मामले में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण झुंझुनूं ने जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक झुंझुनूं को पत्र लिखकर कुछ निर्देश दिए हैं. वहीं जानकारियां भी मांगी है.

प्राधिकरण के पूर्णकालिक सचिव विनोद बागड़ी ने बताया कि प्राधिकरण के अध्यक्ष एवं जिला व सेशन न्यायाधीश अशोक कुमार जैन के निर्देश पर जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक को पत्र लिखकर जिले में संचालित कक्षा एक से 12 तक की सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों में शौचालयों, कक्षा कक्षों, सीसीटीवी कैमरों की स्थितियों के बारे में जानकारी मांगी है.

इसके अलावा स्कूल बसों के चालकों और उनके सहायकों की यूनिफॉर्म, आईडी और रिकॉर्ड आदि के बारे में भी जानकारी मांगी है. इसके अलावा स्कूल में आने-जाने वाले व्यक्तियों के रिकॉर्ड संधारित करने की क्या-क्या व्यवस्थाएं हैं. उनकी जानकारी मांगी गई है.

इसके अलावा निर्देश दिए गए हैं कि जिन स्कूलों में उपरोक्त बिंदुओं को लेकर कमियां है और जिनमें पर्याप्त सुविधाएं हैं उनकी जानकारी प्राधिकरण को उपलब्ध करवाई जाए.

बागड़ी ने बताया कि कुछ सालों में सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों के साथ हो रही घटनाओं के कारण यह निर्देश दिए गए हैं ताकि आने वाले दिनों में प्राधिकरण इस मामले में जागरूकता कार्यक्रम चला सके.

इधर, स्कूलों में बच्चों की सुविधा और सुरक्षा के मामले में बाल कल्याण समिति भी गंभीर हुई है. समिति की अध्यक्ष सुमन पूनियां और सदस्या कृष्णा अहलावत ने डीईओ को निर्देश दिए हैं कि सभी सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों में चाइल्ड हेल्पलाइन के टोल फ्री नंबर 1098 आवश्यक रूप से लिखवाएं जाएं ताकि बच्चे या फिर उनके अभिभावक किसी भी प्रकार की जानकारी चाइल्ड हेल्प लाइन से शेयर कर सके.
First published: September 17, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर