प्रिंसिपल के रिटायरमेंट को छात्रों ने बनाया यादगार, घोड़ी पर बिठा कर किया विदा

Imtiyaz Bhati | News18 Rajasthan
Updated: September 1, 2019, 3:36 PM IST
प्रिंसिपल के रिटायरमेंट को छात्रों ने बनाया यादगार, घोड़ी पर बिठा कर किया विदा
प्रिंसीपल राम प्रताप सिंह को रिटायरमेंट के बाद छात्रों ने घोड़ी पर बैठा कर विदा किया.

झुंझुनूं के बड़ागांव में प्रिंसिपल (Principal) रामप्रताप सिंह खीचड़ की विदाई को यादगार बनाने के लिए छात्र-छात्राओं और परिजनों ने उन्हें दूल्हे की तरह सजाया और घोड़ी पर बिठा कर विदा किया.

  • Share this:
इन दिनों अपने रिटायरमेंट को यादगार बनाने के लिए कोई हेलिकॉप्टर (Helicopter) से जा रहा है तो कोई घोड़ी पर बैठकर. ऐसा ही एक दिलचस्‍प रिटायरमेंट (Retirement ) झुंझुनूं के बड़ागांव में देखने को मिला. यहां प्रिंसिपल ( Principal) रामप्रताप सिंह खीचड़ को उनकी विदाई पर छात्रों और स्टाफ ( Student and Staff) ने दूल्हे की तरह सजाया और घोड़ी पर बिठाकर विदा किया. विदाई के दौरान छात्र-छात्राओं और परिजनों ने डीजे की धुन पर जमकर डांस किया.



दरअसल, झुंझुनूं के बड़ागांव से प्रिंसिपल रामप्रताप सिंह खीचड़ 38 साल की नौकरी के बाद रिटायर हुए. छात्र-छात्राओं और स्टाफ ने रिटायरमेंट को यादगार बनाने के लिए एक विशेष विदाई समारोह (Farewell Ceremony) आयोजित किया. स्कूल में हुए विदाई समारोह के बाद रामप्रताप सिंह को घोड़ी पर दूल्हे (Groom) की तरह बैठाया गया. इसके बाद लोगों ने डीजे की धुन पर डांस (Dance On DJ) करके अपने प्रिंसिपल के रिटायरमेंट को यादगार बनाया.

डीजे की धुन में विद्यार्थियों और स्टाफ के साथ परिवार के सदस्य भी जमकर थिरके
डीजे की धुन में विद्यार्थियों और स्टाफ के साथ परिवार के सदस्य भी जमकर थिरके.


प्रिंसिपल को घोड़ी पर बैठा कर किया विदा

विदाई समारोह के दौरान छात्राओं ने स्टेज पर शानदार प्रस्तुति दी.
विदाई समारोह के दौरान छात्राओं ने स्टेज पर शानदार प्रस्तुति दी.


रिटायरमेंट के इस जश्न में रामप्रताप सिंह खीचड़ की बेटी अनिता खीचड़ भी खुद को डांस करने से नहीं रोक सकीं. उन्‍होंने तपती धूप में जमकर डांस किया. बता दें कि रामप्रताप सिंह खीचड़ की बेटी अनिता खीचड़ राजस्थान म्युनिसिपल सेवा की अधिकारी व चिड़ावा ईओ हैं. गांव में जगह-जगह पर रामप्रताप सिंह का स्वागत किया गया. रामप्रताप सिंह ने बड़ागांव स्कूल में चार साल तक अध्‍यापन किया, लेकिन उनके बेहतरीन कार्यों से ग्रामीणों के साथ-साथ विद्यार्थी और स्टाफ भी बेहद खुश थे. यही कारण रहा कि उनके रिटायरमेंट को इस तरह यादगार बनाया गया.
Loading...

यह भी पढ़ें- पत्नी की ख्वाहिश पूरी करने रिटायरमेंट पर शिक्षक ने मंगवाया हेलीकॉप्टर, यहां देखें पूरी कहानी

यह भी पढ़ें- मांगों पर बनी सहमति के बाद आखिरकार महापड़ाव हुआ समाप्त, बेनवाल ने कहा- मांगे नहीं मानी तो फिर करेंगे आंदोलन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए झुंझुनूं से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 1, 2019, 1:39 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...