अपना शहर चुनें

States

नशे की लत को पूरा करने चुराते थे बाइक व कार, 30 बाइक व 3 कार के साथ 7 आरोपी गिरफ्तार

पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार किया है. प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर
पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार किया है. प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

Jodhpur News: राजस्थान (Rajasthan) के जोधपुर (Jodhpur) के चौपासनी हाउसिंग बोर्ड थाना पुलिस (Police) ने जिला विशेष टीम की मदद से शातिर वाहन चोर गिरोह का पर्दाफाश करने का दावा किया है.

  • Share this:
जोधपुर. राजस्थान (Rajasthan) के जोधपुर (Jodhpur) के चौपासनी हाउसिंग बोर्ड थाना पुलिस (Police) ने जिला विशेष टीम की मदद से शातिर वाहन चोर गिरोह का पर्दाफाश करने का दावा किया है. पुलिस का दावा है कि बीते सोमवार को मामले में सात युवकों को गिरफ्तार किया गया है. आरोपियों के पास से चोरी के 30 दुपहिया वाहन, 3 चार पहिया वाहन व एक देसी पिस्तौल जब्त की गई है. आरोपियों में शामिल एक व्यक्ति हत्या के मामले में गिरफ्तार होने के बाद जेल से पैरोल पर छूटा था, इसके बाद से फरार था. पुलिस इन आरोपियों की गिरफ्तारी को बड़ी कामयाबी के तौर पर देख रही है. दावा किया जा रहा है कि आरोपी नशे की लत के शिकार थे और चोरी के वाहनों को महज 2 से 3 हजार रुपये में बेचकर नशा करते थे.

मीडिया रिपोर्ट के जोधपुर पुलिस उपायुक्त (पश्चिम) आलोक श्रीवास्तव ने बताया कि वाहन चोरियों पर रोकथाम के लिए संदिग्धों पर नजर रखने के बाद शातिर वाहन चोर गिरोह पकड़ा गया है. मामले में झंवर में बिजलीघर के सामने पटेलों का बास निवासी तरूण (27) पुत्र हुक्माराम पटेल, नंदवान में निचला बास निवासी सोहनराम (24) पुत्र चैनाराम पटेल, नंदवान निवासी आइदानराम (32) पुत्र बुद्धाराम जाट व ढलाराम सींगड़ (33) पुत्र भल्लाराम जाट, देचू में चांदसमा निवासी गोपालसिंह (30) पुत्र लालसिंह जाट, सर गांव निवासी दलाराम (35) पुत्र सोनाराम पटेल और पाली जिले में रायपुर थानान्तर्गत हाजीवास निवासी रामदीन (25) पुत्र श्रवणराम बावरी को गिरफ्तार किया गया.

इनके नेतृत्व में गई थी टीम
एडीसीपी (पश्चिम) हरफूलसिंह, एसीपी (प्रतापनगर) नीरज शर्मा व थानाधिकारी लिखमाराम के नेतृत्व में पुलिस ने आरोपियों से पूछताछ के बाद निशानदेही से 30 दुपहिया वाहन, 3 चार पहिया वाहन व एक पिस्तौल बरामद की गई. आरोपियों से एक दर्जन दुपहिया वाहन और बरामद की जा सकती है. आरोपी रामदीन को हत्या के मामले में प्रतापनगर थाने में गिरफ्तार किया गया था. वह जेल से पैरोल लेकर फरार हो गया था.  एडीसीपी हरफूलसिंह ने बताया कि डीपीएस चौराहे के पास बोलेरो कैम्पर में सवार एक युवक के संदिग्ध होने की सूचना मिली. इसके बाद आगे की कार्रवाई की गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज