Article 370 : मुनाबाव से बॉर्डर पार कर थार लिंक एक्सप्रेस पहुंची पाकिस्तान

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 (Article 370) हटाने से बौखलाए पाकिस्तान की थार एक्सप्रेस को बंद करने की घोषणा के बीच शनिवार को दोपहर में थार लिंक एक्सप्रेस बाड़मेर के मुनाबाव से बॉर्डर पार कर पाकिस्तान पहुंच गई है.

Lalit Singh | News18 Rajasthan
Updated: August 10, 2019, 4:39 PM IST
Article 370 : मुनाबाव से बॉर्डर पार कर थार लिंक एक्सप्रेस पहुंची पाकिस्तान
थार लिंक एक्सप्रेस। फाइल फोटो।
Lalit Singh | News18 Rajasthan
Updated: August 10, 2019, 4:39 PM IST
जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 (Article 370) हटाने से बौखलाए पाकिस्तान की थार एक्सप्रेस को बंद करने की घोषणा के बीच शनिवार को दोपहर में थार लिंक एक्सप्रेस बाड़मेर के मुनाबाव से बॉर्डर पार कर पाकिस्तान पहुंच गई है. . थार एक्सप्रेस से 165 यात्री पाकिस्तान गए हैं. सभी यात्री खोखरापार से पाकिस्तानी ट्रेन में रवाना होंगे. कराची से भी ट्रेन खोखरापार पहुंच गई है.

165 यात्रियों को लेकर गई है ट्रेन
मुनाबाव और खोखरापार के रास्ते भारत व पाकिस्तान को जोड़ने वाली रिश्तों की ट्रेन थार लिंक एक्सप्रेस 165 यात्रियों को लेकर शनिवार को सुबह अपने निर्धारित समय पर भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय सरहद पर स्थित बाड़मेर जिले के मुनाबाव स्टेशन पर पहुंची थी. वहां यात्रियों का इमिग्रेशन की प्रक्रिया पूरी की गई. उसके बाद भारतीय रेलवे के अधिकारियों की पाक रेलवे के अधिकारियों से बात हुई.

दोपहर में 3 बजकर 10 मिनट पर ट्रेन ने पार किया बॉर्डर

लाइन क्लीयर का संदेश मिलने के बाद थार लिंक एक्सप्रेस को मुनाबाव से रवाना किया गया. दोपहर में 3 बजकर 10 मिनट पर ट्रेन ने बॉर्डर पार किया. उसके बाद वह खोखरापार पहुंची. थार लिंक एक्सप्रेस को जोधपुर के उपनगरीय भगत की कोठी रेलवे स्टेशन से शु्क्रवार देर रात 1 बजे पाकिस्तान के लिए रवाना किया गया था. भारतीय ट्रेन सरहद पार कर पाकिस्तान के जीरो प्वाइंट स्टेशन तक गई है.

पाक ने की है इसे बंद करने की घोषणा
जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 (Article 370) हटाने से नाराज़ पाकिस्तान ने अपनी भड़ास थार लिंक एक्सप्रेस ट्रेन पर भी निकाली है. पाकिस्तान ने कहा है कि वो थार लिंक एक्सप्रेस ट्रेन को बंद कर रहा है. हालांकि पाकिस्तान की ये बात बेतुकी भी है, क्योंकि अभी भारत की ट्रेन चल रही है. यह 31 अगस्त तक चलेगी. पाकिस्तान की बारी इसके बाद आएगी.
Loading...

छह-छह महीने चलती है ट्रेनें
इस समझौते के तहत 6 महीने पाकिस्तान की ट्रेन चलती है जो कराची से हिन्दुस्तान के बाड़मेर के मुनाबाव तक चलती है. जबकि 6 महीने भारत की ट्रेन चलती है. यह जोधपुर में भगत की कोठी से पाकिस्तान के सिंध प्रांत के खोखरापार तक जाती है. मुनाबाव भारत का अंतिम रेलवे स्टेशन है, जबकि खोखरापार पाकिस्तान का अंतिम रेलवे स्टेशन है.

165 यात्रियों को लेकर मुनाबाव पहुंची थार एक्सप्रेस

सबसे बेहतर है भारतीय सेना के जाबांजों का युद्ध कौशल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जोधपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 10, 2019, 3:57 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...