जोधपुर: कोरोना संक्रमित आसाराम की हालत गंभीर, पेट में अल्सर की भी शिकायत

एम्स में भर्ती आसाराम के पेट में अल्सर की शिकायत है.

एम्स में भर्ती आसाराम के पेट में अल्सर की शिकायत है.

Asaram Health Update: हीमोग्लोबिन कम होने के कारण रविवार को आसाराम को दो यूनिट खून भी चढ़ाया गया. एम्स के डॉक्टर लगातार उसकी सेहत पर नजर रखे हुए हैं.

  • Share this:

जोधपुर. कोरोना संक्रमित आसाराम की हालत गंभीर है. जोधपुर एम्स अस्पताल से सोमवार को उसे मथुरादास माथुर हॉस्पिटल में शिफ्ट किया गया. खून की कमी के कारण आसाराम को कई यूनिट खून भी चढ़ाया गया. एम्स में भर्ती आसाराम के पेट में अल्सर की शिकायत है. एंडोस्कोपी करने के लिए सोमवार को एम्स से मथुरादास माथुर अस्पताल लाया गया. हीमोग्लोबिन कम होने के कारण रविवार को उसको 2 यूनिट खून भी चढ़ाना पड़ गया था. एम्स के डॉक्टर लगातार उसकी सेहत पर नजर रखे हुए हैं. एंडोस्कोपी के बाद उन्हें वापस एम्स ले जाया गया.

नाबालिग छात्रा के यौन उत्पीड़न मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहे आसाराम का दूसरे बंदियों के साथ कोरोना सैंपल लिया गया था. पॉजिटिव आने के बाद आसाराम का ऑक्सीजन लेवल गिरना शुरू हो गया. बाद में उसे महात्मा गांधी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. दो दिन तक महात्मा गांधी अस्पताल में रखने के बाद उसे एम्स में भेज दिया गया था. एम्स में कोरोना का इलाज करने के साथ ही पेट में दर्द की शिकायत के बाद डॉक्टरों ने उसकी स्वास्थ्य की जांच की थी. उनका हीमोग्लोबिन बहुत कम होने पर दो यूनिट खून चढ़ाया गया. पेट में अल्सर की जांच करने के लिए आज एंडोस्कोपी कराने का फैसला लिया. इस पर उसे एंडोस्कोपी के लिए कड़े सुरक्षा घेरे में एमडीएम अस्पताल लाया गया.

21 मई को सुनवाई

आसाराम ने कोरोना संक्रमित होने के बाद अपनी बीमारियों का इलाज आयुर्वेद पद्धति से कराने के लिए 2 माह की अंतरिम जमानत के लिए राजस्थान हाईकोर्ट में याचिका पेश कर रखी है. हाईकोर्ट ने 21 मई को अगली सुनवाई तिथि के दिन एम्स से आसाराम की मेडिकल रिपोर्ट मांगी है. इसके आधार पर उसकी जमानत याचिका पर फैसला किया जाएगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज