Home /News /rajasthan /

जानें, कैसे बीते जोधपुर की सेंट्रल जेल में आसाराम के 3 साल?

जानें, कैसे बीते जोधपुर की सेंट्रल जेल में आसाराम के 3 साल?

फाइल फोटो.

फाइल फोटो.

नाबालिग के साथ यौन उत्पीड़न के आरोपी आसाराम को बुधवार को जोधपुर में तीन साल पूरे हो गए हैं. पिछले तीन सालों से आसाराम जोधपुर की सेंट्रल में बंद हैं.

    नाबालिग के साथ यौन उत्पीड़न के आरोपी आसाराम को बुधवार को जोधपुर में तीन साल पूरे हो गए हैं. पिछले तीन सालों से आसाराम जोधपुर की सेंट्रल में बंद हैं. इन तीन सालों में आसाराम के जीवन में कई मोड़ देखने को मिले हैं.

    जिला एवं सेशन न्यायालय में आसाराम मामले की ट्रायल चल रही है. इस दौरान कई बार अप्रिय वारदातें भी हुईं. गवाहों पर हमले और उनकी हत्याएं भी हुईं, तो वहीं कई बार समर्थकों पर पुलिस को लाठी चार्ज भी करना पड़ा. यहां तक कि कई बार आसाराम ने विवादित बयान भी दिया.

    इन तीन सालों में आसाराम प्रकरण से जुड़े अभियोजन के सभी 43 गवाहों के बयान पूरे हो गए अब मामले में बयान मुलजिम होने हैं, जिसके बाद बचाव पक्ष के गवाहों के बयान दर्ज होंगे. आसाराम की ओर से तीन सालों में ट्रायल कोर्ट से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक नौ बार जमानत का प्रयास भी किया, लेकिन सफलता कभी नहीं मिली.

    ये भी पढ़ें

    लड़कों की ऐसी मिन्नतों पर फिदा हुई लड़कियां, महारानी कॉलेज में सारे रिकॉर्ड टूटे

    अब आसाराम की ओर से सुप्रीम कोर्ट में जमानत याचिका लगी है, जिसमें सुप्रीम कोर्ट ने आसाराम का स्वास्थ्य परीक्षण दिल्ली स्थित एम्स में करवाने के निर्देश जारी किए हैं, जोकि जल्द ही होने वाला है. इसके लिए एम्स के चिकित्सकों की ओर से तारीख निश्चित की जाएगी, लेकिन तीन सालों में आसाराम पूरी तरह से टूट चुके हैं.

    जब भी आसाराम से सवाल जवाब किया जाता है तो अक्सर झल्ला उठते हैं और अपनी बेबसी बयान करते हैं. मामला कितना लम्बा और चलेगा यह कहना मुश्किल है, लेकिन तीन सालों में आसाराम के ठुमके जरूर बंद हो गए हैं. जिस आसाराम के ठुमकों पर समर्थक झूम उठते थे उसी आसाराम का एक-एक क्षण तीन साल से जेल में कैसे बीत रहा है यह आसाराम से अधिक कौन जान सकता है.

    Tags: Jodhpur Central Jail

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर