अपना शहर चुनें

States

कांकाणी हिरण शिकार मामले में फिर बढ़ी बॉलीवुड स्टार्स की मुश्किलें, इनको मिला नोटिस

 कांकाणी हिरण शिकार मामले में इन कलाकारों को मिला है नोटिस.
कांकाणी हिरण शिकार मामले में इन कलाकारों को मिला है नोटिस.

कांकाणी हिरण शिकार मामले में राजस्थान उच्च न्यायालय के न्यायाधीश मनोज कुमार गर्ग की कोर्ट ने फिल्म अभिनेता सैफअली खान, अभिनेत्री नीलम, तब्बू, सोनाली और दुष्यंतसिंह को नोटिस जारी किया है.

  • Share this:
फिल्म अभिनेता सैफअली खान, अभिनेत्री नीलम, तब्बसुम उर्फ तब्बू, सोनाली बेंद्रे और दुष्यंत कुमार की मुसीबतें एक बार फिर बढ़ती हुई नजर आ रही है. राजस्थान उच्च न्यायालय के न्यायाधीश मनोज कुमार गर्ग की कोर्ट ने इन सभी को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है. दरअसल, कांकाणी हिरण शिकार मामले में फिल्म अभिनेता सलमान खान के साथ यह सभी बॉलीवुड कलाकार सह अभियुक्त थे और इन सभी को संदेह का लाभ देते हुए सीजेएम ग्रामीण कोर्ट के पीठासीन अधिकारी देव कुमार खत्री की कोर्ट ने बरी कर दिया था.

ये भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव: सियासी रण में कुदने को तैयार हैं राजस्थान के ये पूर्व राजघराने!

इस फैसले पर राजस्थान उच्च न्यायालय में वन विभाग की ओर से एक अपील दायर की गई. हालांकि अपील दायर होने के बाद कोर्ट में यह प्रश्न खड़ा किया गया था कि नियत समय में अपील दायर नहीं की गई. जिसके चलते सेक्शन 5 की अर्जी कोर्ट में पेश की गई. इस अर्जी को स्वीकार करते हुए कोर्ट ने सभी अभियुक्तों को नोटिस जारी किया है. इस नोटिस के जरिए 8 सप्ताह में जवाब तलब किया है. कोर्ट में सोमवार को सुनवाई के दौरान वन विभाग की ओर से सरकारी अधिवक्ता महिपाल बिश्नोई ने पैरवी की.



ये भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव: BJP के इन 10 सांसदों का कटेगा टिकट! पढ़ें- वजह ?
गौरतलब है कि गत 5 अप्रैल 2018 को कोर्ट ने सभी सह अभियुक्तो को संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया था, लेकिन नोटिस जारी होने के बाद सितारों की मुसीबतें बढ़ती नज़र आ रही हैं. यह पूरा मामला साल 1998 में फिल्म 'हम साथ साथ हैं' की शूटिंग के दौरान का है. सलमान खान पर तब हिरण शिकार का अरोप लगा था और ये सभी कलाकार आरोपी सलमान के साथ थे. इसके चलते सभी सिने सितारों को मामले में सहअभियुक्त बनाया गया था. सलमान इस मामले को लेकर जोधपुर की सेंट्रल जेल में जा चुके हैं.

ये भी पढ़ें- DRONE: बॉर्डर पर इन चार तरीकों से घुसपैठ कर सकता है पाकिस्तान!

वन विभाग की ओर से दायर की गई अपील पर कोर्ट में यह प्रश्न खड़ा किया गया था कि नियत समय में अपील दायर नहीं की गई. इसके चलते सेक्शन 5 की अर्जी कोर्ट में पेश की गई जिसे स्वीकार करते हुए कोर्ट ने सभी अभियुक्तों को नोटिस जारी किया है.
महिपाल विश्नोई, सरकारी अधिवक्ता


ये भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव से पहले गहलोत सरकार का 'गौरक्षा' पर मास्टर स्ट्रोक!
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज