Assembly Banner 2021

जोधपुर सेंट्रल जेल के जेलर तक पहुंची पुलिस की जांच, 17 मोबाइल मिलने के मामले में बनाया आरोपी

जेलर जगदीश पूनिया पर इससे पहले भी पैसों के बदले कैदियों को सुविधा मुहैया करवाने के आरोप लगते रहे हैं.

जेलर जगदीश पूनिया पर इससे पहले भी पैसों के बदले कैदियों को सुविधा मुहैया करवाने के आरोप लगते रहे हैं.

जोधपुर सेंट्रल जेल (Jodhpur Central Jail) में चल रहे मोबाइल के खेल में जेलर जगदीश पूनिया की भूमिका सामने आई है. पुलिस ने इस मामले में चार आरोपियों को हिरासत में लेने के साथ ही जेलर पूनिया को भी आरोपी (Accused) बनाया है.

  • Share this:
जोधपुर. देश की सबसे सुरक्षित जेलों में शुमार हाई सिक्योरिटी जोधपुर सेंट्रल जेल (Jodhpur Central Jail) में कैदियों के पास मिले मोबाइल (Mobile) के मामले की जोधपुर पुलिस ने अपनी जांच और तेज कर दी है. 1 सप्ताह पहले जेल में सर्च ऑपरेशन के दौरान 17 मोबाइल बरामद हुए थे. उसके बाद पुलिस ने सभी नंबरों की जांच व जेल में लगे सीसीटीवी कैमरे की पड़ताल की है. इस पड़ताल के बाद सेंट्रल जेल के जेलर जगदीश पूनिया (Jailer Jagdish Poonia) को भी आरोपी बनाया गया है. पुलिस ने एक बार फिर सेंट्रल जेल में बैरकों के साथ साथ इस बार जेलर के घर की भी सघन तलाशी ली है.

डीसीपी ईस्ट पुलिस ने 1 सप्ताह पहले सेंट्रल जेल में 17 मोबाइल के साथ कुछ चार्जर बरामद किये थे. उसके बाद डीसीपी ईस्ट की टीम ने सभी नंबरों की जांच और जेल में लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज के आधार पर अब सेंट्रल जेल के जेलर जगदीश पूनिया को भी आरोपी बनाया है. सोमवार देर रात डीसीपी ईस्ट भारी पुलिस लवाजमे के साथ एक बार फिर सेंट्रल जेल पहुंचे थे. वहां उन्होंने जेल की बैरकों की तो तलाशी ली ही साथ ही जेल में जेलर जगदीश पूनिया के घर को भी खंगाला.

चार आरोपियों को हिरासत में लिया गया
डीसीपी ईस्ट धर्मेंद्र सिंह ने बताया कि जेल में मोबाइल मिलने के बाद जांच जैसे-जैसे जांच आगे बढ़ रही है वैसे-वैसे कई नामजद आरोपी सामने आ रहे हैं. अब तक इस मामले में चार आरोपियों को हिरासत में लिया गया है. उनके पूछताछ की जा रही है. उन्हीं की पूछताछ व अन्य सबूतों के आधार पर जेलर जगदीश पूनिया को भी सेंट्रल जेल में प्रतिबंधित सामग्री सप्लाई करने के मामले में आरोपी माना है. लिहाजा पूनिया को भी आरोपी बनाया गया है.
पूनिया पर पहले भी आरोप लगते रहे हैं


दरअसल सेंट्रल जेल में जेलर जगदीश पूनिया पर इससे पहले भी पैसों के बदले कैदियों को सुविधा मुहैया करवाने के आरोप लगते रहे हैं. लेकिन यह पहली बार है जब सेंट्रल जेल में मोबाइल के खेल में सीधे जेलर का नाम सामने आया है. पुलिस ने अपनी जांच में जेलर जगदीश पूनिया को जेल में अवैध सामग्री सप्लाई करने का मुख्य सूत्रधार माना है. डीसीपी ईस्ट धर्मेंद्र सिंह यादव ने कहा कि जांच के बाद और जेल के कई कर्मचारियों और अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर उन पर कार्रवाई की जा सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज