होम /न्यूज /राजस्थान /

CM अशोक गहलोत को बहन की याद खींच लाई जोधपुर, राखी बंधवाने विशेष विमान से पहुंचे राजस्थान

CM अशोक गहलोत को बहन की याद खींच लाई जोधपुर, राखी बंधवाने विशेष विमान से पहुंचे राजस्थान

Rajasthan News: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जोधपुर में बड़ी बहन बिमला देवी से बंधवाई राखी.

Rajasthan News: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जोधपुर में बड़ी बहन बिमला देवी से बंधवाई राखी.

Jodhpur News: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) अपनी बहन बिमला देवी से राखी बंधवाने विशेष विमान से दिल्ली से जोधपुर पहुंचे. सीएम ने अपनी बहन से राखी बंधवाई और उनका आशीर्वाद लिया. इसके साथ ही उन्होंने अपनी बहन की तबियत के बारे में जानकारी ली. मुख्यमंत्री से उनकी बड़ी बहन ने पूछा कि वे बीमार हो गए थे, अब तबियत कैसी है?

अधिक पढ़ें ...

जोधपुर. भाई-बहन के अटूट प्रेम के पर्व रक्षाबंधन के मौके पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Chief Minister Ashok Gehlot) को बहन की याद जोधपुर खींच लाई. वे दिल्ली से विशेष विमान से बड़ी बहन बिमला देवी (Sister Bimla devi) से राखी बंधवाने और उनका आशीर्वाद लेने के लिए जोधपुर आए. बहन ने राखी (Rakhi) बांधकर सीएम गहलोत से उनकी तबियत के बारे में जानकारी ली. पिछले दिनों सीएम का स्वास्थ्य खराब हो गया था. सीएम गहलोत ने बहन से राखी बंधवाने के अलावा जोधपुर हवाई अड्डे पर विभिन्न मुद्दों पर संवाददाताओं से बातचीत की. मुख्यमंत्री गहलोत करीब डेढ़ घंटा सर्किट हाउस में भी रुके. तीन घंटे जोधपुर रुककर वे जयपुर चले गए.

मुख्यमंत्री गहलोत अपनी बड़ी बहन से राखी बंधवाने के लिए दिल्ली से विशेष विमान द्वारा जोधपुर आए थे. सीएम लाल सागर में अपनी बड़ी बहन विमला देवी के घर गए. बहन से राखी बंधवा कर मुख्यमंत्री ने उनका आशीर्वाद लिया. दोनों ने एक-दूसरे की तबीयत पूछी. मुख्यमंत्री से उनकी बड़ी बहन ने पूछा कि वे बीमार हो गए थे, अब तबियत कैसी है? सीएम ने कहा स्वास्थ्य अब बेहतर है. अभी वह दिल्ली से सीधे जोधपुर आए हैं और अभी जयपुर जाएंगे.

मेहरानगढ़ दुखान्तिका के पीड़ित परिवारों की मदद होगी

इससे पहले सीएम ने एयर पोर्ट पर पत्रकारों से बातचीत की. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि खाटूश्याम जी हादसे के बाद प्रदेश के सभी प्रमुख भीड़भाड़ वाले मंदिरों में सुरक्षा प्रबंधों की समीक्षा की जाएगी. इसके लिए धर्म गुरुओं को भी बुलाकर उनसे इस बारे में विचार-मंथन होगा. गहलोत ने कहा कि हम अभी मेहरानगढ़ दुखान्तिका को भूले नहीं है, जिसमें 216 लोगों की जान गई थी. इनमें से 185 लोग तो जोधपुर शहर के ही निवासी थे. मुख्यमंत्री गहलोत ने बताया कि उन्होंने जिला कलेक्टर को निर्देश दिए हैं कि मेहरानगढ़ दुखान्तिका के पीड़ित परिवारों के बारे में पता लगाया जाए. वे किस स्थिति में है और उनके लिए क्या किया जा सकता है?

धर्म गुरुओं और मंदिर प्रबंधकों से विचार मंथन करेंगे
सीएम अशोक गहलोत ने जोधपुर हवाई अड्डे पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे. उन्होंने कहा कि भीड़भाड़ वाले मंदिरों में सुरक्षा इंतजाम सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है. अभी हम मेहरानगढ़ हादसा भूले भी नहीं थे कि खाटू श्यामजी में भगदड़ से दुर्घटना हो गई. मुख्यमंत्री गहलोत ने बताया कि प्रदेश के सभी प्रमुख भीड़भाड़ वाले मंदिरों में सुरक्षा के पुख्ता प्रबंधों के लिए जल्द ही समीक्षा बैठक की जाएगी. मंदिर प्रबंधन और धर्म गुरुओं से बातचीत कर मंदिरों के लिए आवश्यक कदम उठाए जाएंगे.

ये भी पढ़ें:  Rajasthan: तृतीय श्रेणी शिक्षकों को तबादले के लिए करना होगा और इंतजार, जानिए क्या है वजह

बाड़मेर में रिफाइनरी प्रोजेक्ट का जल्द दौरा करेंगे सीएम
मुख्यमंत्री गहलोत ने एक सवाल के जवाब में लंपी स्किन डिजीज को गंभीर बताते हुए कहा कि इस संबंध में उन्होंने दिल्ली में केंद्रीय मंत्री से बात की है. केंद्रीय मंत्री ने उनको आश्वस्त किया है कि बीमारी से राहत के लिए हर संभव प्रयास किए जाएंगे. इस बीमारी का टीका भी बनने वाला है. पूरी सरकार बीमारी को लेकर गंभीर है. रिफाइनरी प्रोजेक्ट के बारे में सीएम ने कहा कि वे जल्दी ही रिफाइनरी का दौरा करेंगे और इसके काम को आगे बढ़ाएंगे. गहलोत ने बताया कि रिफाइनरी प्रोजेक्ट 40 हजार करोड से अब 70 हजार करोड रुपये का हो गया है. ऐसा सरकार बदलने के कारण हुआ है.

Tags: Ashok gehlot, Jaipur news, Rajasthan news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर