• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • जोधपुर में कोर्ट ने रुकवाया मृत्यु भोज, कुरीति के खिलाफ सामने आए दो शिक्षक

जोधपुर में कोर्ट ने रुकवाया मृत्यु भोज, कुरीति के खिलाफ सामने आए दो शिक्षक

demo pic

demo pic

जोधपुर महानगर मजिस्ट्रेट की अदालत ने जिले में एक महिला की मौत के बाद किए जाने वाले मृत्युभोज पर रोक आदेश दिए हैं. समाज में व्याप्त मृत्युभोज जैसी सामाजिक कुरीति के खिलाफ सामने आए हैं जोधपुर के दो शिक्षक.

  • Share this:
    जोधपुर महानगर मजिस्ट्रेट की अदालत ने जिले में एक महिला की मौत के बाद किए जाने वाले मृत्युभोज पर रोक आदेश दिए हैं. समाज में व्याप्त मृत्युभोज जैसी सामाजिक कुरीति के खिलाफ सामने आए हैं जोधपुर के दो शिक्षक. इन शिक्षकों ने मृत्युभोज की सूचना पर अदालत की शरण ली और इस पर रोक की गुहार की.

    Weather Alert- प्रदेश में बवंडर दे सकता है दस्तक

    जानकारी के अनुसार जोधपुर से सटे गांव सोढ़ों की ढाणी की हवादेवी की पिछले दिनों मृत्यु हो गई थी. उसके बाद परिजनों ने मृत्यु भोज करने की तैयारी कर रखी थी. इसकी जानकारी मिलने पर जोधपुर के सैन समाज से जुडे मनीष पंवार और बन्नाराम दोनों जोधपुर महानगर मजिस्ट्रेट की अदालत में पहुंचे और मृत्युभोज रुकवाने की गुहार की. इस पर कोर्ट ने राजस्थान मृत्यु भोज निषेध अधिनियम 1960 के तहत महिला के पुत्र भंवरलाल और हरिराम को 10 व 11 मई को प्रस्तावित मृत्यु भोज रोकने के आदेश जारी किए.

    Alwar Gangrape:- डॉ. किरोड़ीलाल मीणा का ऐलान, 14 मई को करेंगे सीएम का घेराव

    पंच गरीबों को सामाजिक मान्यताएं निभाने के लिए करते हैं मजबूर
    शिक्षक मनीष पंवार बताते हैं कि समाज के पंच गरीबों को सामाजिक मान्यताएं निभाने के लिए मजबूर करते हैं. किसी की मृत्यु के बाद बैठक व न्यात में अफीम खिलाने और सैंकडों लोगों के भोजन करने के लिए मजबूर करते हैं. अपना रुतबा दिखाने के लिए पंचों के दबाव में चलते लोग कर्ज तले दब जाते हैं. यह कुरीति खत्म होनी चाहिए. मनीष पंवार और बन्नाराम पेशे से शिक्षक हैं. वे अपने समाज सुधार के प्रयास में लगे हैं.

    अलवर गैंगरेप केस- नए एसपी की नियुक्ति पर बेनीवाल ने सरकार पर लगाए गंभीर आरोप

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज