जोधपुर में कोर्ट ने रुकवाया मृत्यु भोज, कुरीति के खिलाफ सामने आए दो शिक्षक

जोधपुर महानगर मजिस्ट्रेट की अदालत ने जिले में एक महिला की मौत के बाद किए जाने वाले मृत्युभोज पर रोक आदेश दिए हैं. समाज में व्याप्त मृत्युभोज जैसी सामाजिक कुरीति के खिलाफ सामने आए हैं जोधपुर के दो शिक्षक.

News18 Rajasthan
Updated: May 11, 2019, 2:57 PM IST
जोधपुर में कोर्ट ने रुकवाया मृत्यु भोज, कुरीति के खिलाफ सामने आए दो शिक्षक
फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।
News18 Rajasthan
Updated: May 11, 2019, 2:57 PM IST
जोधपुर महानगर मजिस्ट्रेट की अदालत ने जिले में एक महिला की मौत के बाद किए जाने वाले मृत्युभोज पर रोक आदेश दिए हैं. समाज में व्याप्त मृत्युभोज जैसी सामाजिक कुरीति के खिलाफ सामने आए हैं जोधपुर के दो शिक्षक. इन शिक्षकों ने मृत्युभोज की सूचना पर अदालत की शरण ली और इस पर रोक की गुहार की.

Weather Alert- प्रदेश में बवंडर दे सकता है दस्तक

जानकारी के अनुसार जोधपुर से सटे गांव सोढ़ों की ढाणी की हवादेवी की पिछले दिनों मृत्यु हो गई थी. उसके बाद परिजनों ने मृत्यु भोज करने की तैयारी कर रखी थी. इसकी जानकारी मिलने पर जोधपुर के सैन समाज से जुडे मनीष पंवार और बन्नाराम दोनों जोधपुर महानगर मजिस्ट्रेट की अदालत में पहुंचे और मृत्युभोज रुकवाने की गुहार की. इस पर कोर्ट ने राजस्थान मृत्यु भोज निषेध अधिनियम 1960 के तहत महिला के पुत्र भंवरलाल और हरिराम को 10 व 11 मई को प्रस्तावित मृत्यु भोज रोकने के आदेश जारी किए.

Alwar Gangrape:- डॉ. किरोड़ीलाल मीणा का ऐलान, 14 मई को करेंगे सीएम का घेराव

पंच गरीबों को सामाजिक मान्यताएं निभाने के लिए करते हैं मजबूर
शिक्षक मनीष पंवार बताते हैं कि समाज के पंच गरीबों को सामाजिक मान्यताएं निभाने के लिए मजबूर करते हैं. किसी की मृत्यु के बाद बैठक व न्यात में अफीम खिलाने और सैंकडों लोगों के भोजन करने के लिए मजबूर करते हैं. अपना रुतबा दिखाने के लिए पंचों के दबाव में चलते लोग कर्ज तले दब जाते हैं. यह कुरीति खत्म होनी चाहिए. मनीष पंवार और बन्नाराम पेशे से शिक्षक हैं. वे अपने समाज सुधार के प्रयास में लगे हैं.

अलवर गैंगरेप केस- नए एसपी की नियुक्ति पर बेनीवाल ने सरकार पर लगाए गंभीर आरोप

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जोधपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 11, 2019, 2:54 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...