लाइव टीवी

COVID-19: आसाराम और महिपाल मदेरणा को रिहाई दिलाएगा कोरोना ! जोधपुर सेंट्रल जेल में हड़ताल स्थगित
Jodhpur News in Hindi

Chandra Shekhar Vyas | News18 Rajasthan
Updated: March 28, 2020, 4:35 PM IST
COVID-19: आसाराम और महिपाल मदेरणा को रिहाई दिलाएगा कोरोना ! जोधपुर सेंट्रल जेल में हड़ताल स्थगित
आसाराम और पूर्व मंत्री महिपाल मदेरणा सहित अन्य कैदियों को उम्मीद है कि कोरोना वायरस की महामारी उन्हें जेल की सलाखों से मुक्ति दिलाएगी.

कोरोना वायरस (Corona virus) के खौफ के चलते रिहाई की मांग को लेकर जोधपुर सेंट्रल जेल में चल रही 1200 कैदियों की भूख हड़ताल (Hunger strike) मंगलवार तक के लिए स्थगित हो गई है.

  • Share this:
जोधपुर. कोरोना वायरस (Corona virus) के खौफ के चलते रिहाई की मांग को लेकर जोधपुर सेंट्रल जेल में चल रही 1200 कैदियों की भूख हड़ताल (Hunger strike) मंगलवार तक के लिए स्थगित हो गई है. शुक्रवार रात को जेल कमेटी की सदस्य गीता बरवड़ ने करीब 3 घंटे तक सभी कैदियों से समझाइस की. उसके बाद कैदियों ने आगामी मंगलवार तक हड़ताल स्थगित कर दी है. जोधपुर सेंट्रल जेल में बंद आसाराम (Asaram) और पूर्व मंत्री महिपाल मदेरणा (Mahipal Maderna) सहित 1200 से अधिक कैदियों ने पिछले 4 दिनों से भूख हड़ताल कर रखी थी.

कई कैदियों को राहत प्रदान की जाएगी
कैदियों की मांग है कि महामारी के इस दौर में उन्हें जेल से रिहा किया जाए. जेल कमेटी की सदस्य गीता बरवड़ ने कैदियों से करीब 3 घंटे तक समझाइश कर उनको विश्वास दिलाया कि आगामी मंगलवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में बनी कमेटी उनकी मांगों पर विचार करेगी. इस कमेटी द्वारा कई कैदियों को राहत प्रदान की जाएगी. उसके बाद सेंट्रल जेल के करीब 1200 से अधिक कैदियों ने अपनी भूख हड़ताल को आगामी मंगलवार तक स्थगित कर दिया.

800 कैदियों को पैरोल या जमानत पर रिहा करने की अनुशंसा



गीता बरवड़ ने बताया कि भूख हड़ताल के बाद कैदियों के स्वास्थ्य के स्तर में गिरावट दिखाई गई है. इन कैदियों में शामिल आसाराम भी पिछले 4 दिनों से भूख हड़ताल पर हैं. समझाइश के बाद आसाराम में अपनी थैली से गुड़ निकाला और उसे खाकर अपनी भूख हड़ताल स्थगित की है. गीता बरवड़ ने बताया कि कमेटी ने करीब 800 कैदियों को पैरोल या जमानत पर रिहा किए जाने की की अनुशंसा की है.



800 कैदियों में ये हैं शामिल
इनमें 7 साल से कम की सजा काट रहे कैदी, विचाराधीन बंदी और 60 साल से अधिक उम्र के 40 कैदी शामिल हैं. ऐसे में अब आसाराम और महिपाल मदेरणा सहित अन्य कैदियों को उम्मीद है कि कोरोना वायरस की महामारी उन्हें जेल की सलाखों से मुक्ति दिलाएगी.

COVID:कोरोना के खिलाफ रेलवे ने कसी कमर, ट्रेनों को बदल रहा आईसोलेशन वॉर्ड में

Corona Update: राजस्थान के 10 जिलों में फैली महामारी, 52 हुए पॉजिटिव केस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जोधपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 28, 2020, 4:31 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading