Good News: भिवाड़ी से हरियाणा के रास्ते से 9 घंटे में ऑक्सीजन लेकर जोधपुर पहुंचा टैंकर, बचाई मरीजों की जान


झारखंड के बोकारो से मध्‍य प्रदेश के सागर आ रहा ऑक्सीजन का टैंकर सुबह सागर पहुंच गया

झारखंड के बोकारो से मध्‍य प्रदेश के सागर आ रहा ऑक्सीजन का टैंकर सुबह सागर पहुंच गया

Oxygen crisis in Jodhpur : कोरोना काल में ऑक्सीजन संकट से जूझ रहे जोधपुर के लिए गुरुवार का दिन काफी अहम रहा. यहां जब एमजीएच अस्पताल में ऑक्सीजन खत्म होने वाली थी, तब भिवाड़ी से हरियाणा के रास्ते ऑक्सीजन के एक टैंकर को ग्रीन कॉरिडोर बनाकर समय से पहले यहां पहुंचा दिया गया.

  • Share this:
जोधपुर. कोरोना संक्रमण का हॉट-स्पॉट बना जोधपुर (Jodhpur) भी ऑक्सीजन संकट (Oxygen crisis) से जूझ रहा है. ऑक्सीजन की कमी से मचे हाहाकार के बीच गुरुवार को राजस्थान के भिवाड़ी से हरियाणा के रास्ते आये संजीवनी 'ऑक्सीजन' के टैंकर ने सैकड़ों कोरोना मरीजों की जान बचा ली. इसके लिए आनन-फानन में राजस्थान और हरियाणा (Rajasthan and Haryana) की पुलिस ने मिलकर ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया.

ग्रीन कॉरीडोर बनाने के बाद 20 टन ऑक्सीजन लेकर टैंकर महज 9 घंटे में ही हरियाणा राज्य के रास्ते जोधपुर पहुंच गया. ग्रीन कॉरिडोर के कारण टैंकर ने 24 घंटे का सफर केवल 9 घंटे में ही पूरा कर सैकड़ों कोरोना मरीजों को सांसें दी. पुलिस और परिवहन विभाग की मेहनत के बूते टैंकर चालक ने रास्ते में लगने वाले 15 घंटे बचा लिये.

कुछ घंटों की ऑक्सीजन बची थी अस्पताल में

जोधपुर में भी कोरोना काल में ऑक्सीजन संकट बना हुआ है. गुरुवार को एमजीएच अस्पताल में ऑक्सीजन खत्म होने वाली थी. अस्पताल में लिक्विड ऑक्सीजन प्लांट में महज कुछ घंटों की ही ऑक्सीजन बची थी. अस्पताल प्रशासन कोरोना संक्रमित मरीजों को ऑक्सीजन सप्लाई देने को लेकर चिंतित हो रहा था. इस बीच ऑक्सीजन का टैंकर ऑक्सीजन खत्म होने से पहले अस्पताल पहुंच गया. हरियाणा और राजस्थान पुलिस के साथ परिवहन विभाग की टीम ने ऑक्सीजन ट्रक के लिए ग्रीन कॉरिडोर बनाकर तय समय से पहले उसे जोधपुर पहुंचा दिया.
हरियाणा से जोधपुर आने में लगते हैं 24 घंटे

एमजीएच अस्पताल के ऑक्सीजन प्लांट इंचार्ज अरविंद ने बताया कि पुलिस और परिवहन विभाग सहयोग से भिवाड़ी से समय पर ऑक्सीजन टैंकर अस्पताल पहुंच गया. ऑक्सीजन टैंकर लाने वाले ड्राइवर बजरंग सिंह ने बताया कि वैसे तो हरियाणा से जोधपुर आने का समय 24 घंटे लग जाता है. लेकिन पुलिस के सहयोग से ऑक्सीजन से भरा टैंकर महज 9 घंटे में ही जोधपुर पहुंच गया. बकौल बजरंग पूरे रास्ते मे पुलिस ने रास्ता साफ करवाया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज