अपना शहर चुनें

States

जोधपुर के युवा इंजीनियर का कमाल, सॉफ्टवेयर से पकड़े जायेंगे मास्क नहीं पहनने वाले

पुलिस कमिश्नर जोस मोहन ने बताया कि यह सॉफ्टवेयर भीड़ में जो बिना मास्क पहने चल रहे हैं उन्हें कम्प्यूटर की स्क्रीन पर लाल रंग में दिखा देता है. वहीं जो मास्क पहने हैं उन्हें हरे रंग में दिखा देता है.
पुलिस कमिश्नर जोस मोहन ने बताया कि यह सॉफ्टवेयर भीड़ में जो बिना मास्क पहने चल रहे हैं उन्हें कम्प्यूटर की स्क्रीन पर लाल रंग में दिखा देता है. वहीं जो मास्क पहने हैं उन्हें हरे रंग में दिखा देता है.

Innovation: जोधपुर के एक युवा इंजीनियर ने ऐसा सॉफ्टवेयर (Software) तैयार किया गया जिसकी मदद से मास्क (Mask) नहीं पहनने वाले व्यक्ति की भीड़भाड़ में भी आसानी से पहचान कर ली जायेगी.

  • Share this:
जोधपुर. देश में लगातार फैल रहे कोरोना संक्रमण (COVID-19) के बावजूद लोग इससे बचाव के लिये जारी की गई गाइडलाइन (Guideline) का सही तरीके से पालन नहीं कर रहे हैं. सरकार के तमाम प्रयासों के बावजूद लोग मास्क लगाने और सोशल डिस्टेंसिंग (Mask and social distancing) की पालना करने में कोताही बरत रहे हैं. इस बीच जोधपुर के एक युवा ने एक ऐसा सॉफ्टवेयर (Software) बनाया है जिसके जरिये मास्क नहीं पहनने वाले लोगों की भीड़ में भी आसानी से पहचान की जा सकेगी. इस युवा इंजीनियर की काबिलियत देखकर जोधपुर पुलिस कमिश्नर ने उसे बुलाकर इस सॉफ्टवेयर को देखा है. अब जल्द ही जोधपुर पुलिस इस सॉफ्टवेयर को अभय कमांड के कैमरे से जोड़कर बिना मास्क घूम रहे लोगों पर लगाम लगाने की तैयारी कर रही है.

बिट्स हैदराबाद से इंजीनियरिंग कर रहे जोधपुर के छात्र रोहन दुबे ने कोरोना से बचाव के लिये सबसे अधिक कारगर साबित हो रहे फेस मास्क को डिटेक्ट करने वाला सॉफ्टवेयर विकसित किया है. इस सॉफ्टवेयर के माध्यम से भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों में भी कैमरे की मदद से यह पता लगाया जा सकता है कि कितने लोगों ने मास्क पहना है और कितने लोगों ने नहीं. इसके आधार पर मास्क नहीं पहनने वाले लोगों का ई-चालान भी काटा जा सकता है. उन्होंने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र भेज उनके समक्ष इसका डेमो देने का अनुरोध किया है.

Weather update: राजस्थान में 17 दिसंबर से शीतलहर चलने की चेतावनी, कड़ाके की सर्दी पड़ेगी

मास्क संक्रमण से बचाव के लिए सबसे अहम उपाय है


कोरोना काल में कॉलेज बंद होने के कारण रोहन इन दिनों अपने घर जोधपुर में ही रहकर ऑन लाइन पढ़ाई कर रहे हैं. रोहन ने बताया कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण से बचाव के लिए सबसे अहम उपाय मास्क है. केंद्र और राज्य सरकार बार-बार लोगों से मास्क पहनने की अपील कर रही है. साथ ही मास्क नहीं पहनने वालों से जुर्माना तक वसूल रही है. ताकि लोगों में जागरुकता आए और वे बाहर निकलते समय हर समय मास्क पहनें.

अभय कमांड की टीम को अध्ययन के लिए आगे भेजा है
जोधपुर यातायात पुलिस ने शहर में कई स्थान पर उच्च गुणवत्ता के कैमरे लगा रखे हैं. इनके माध्यम से यातायात नियमों को उल्लंघन करने वाले चालकों के ई-चालान काटे जाते हैं. पुलिस नियंत्रण कक्ष में स्थापित अभय कमांड से इस सॉफ्टवेयर को जोड़ देने पर यह सड़कों पर बगैर मास्क घूम रहे लोगों को चिह्नित कर लेगा. इस बीच पुलिस कमिश्नर जोस मोहन ने डीसीपी यातायात राजेश मीणा के साथ पुलिस कमिश्नर कार्यालय में रोहन दुबे को बुलाकर न केवल इस सॉफ्टवेयर को देखा बल्कि अभय कमांड की टीम को अध्ययन के लिए आगे भेजा है.

जोधपुर के युवा इंजीनियर का नवाचार, सॉफ्टवेयर से पकड़े जायेंगे मास्क नहीं पहनने वाले Rajasthan, Jodhpur, Covid-19 innovation of young engineer, those who do not wear masks will be caught through software
रोहन दुबे से सॉफ्टवेयर के बारे में जानकारी लेते पुलिस कमिश्नर.


बिना मास्क वालों लाल रंग में दिखा देगा यह सॉफ्टवेयर
को पुलिस कमिश्नर जोस मोहन ने बताया कि यह सॉफ्टवेयर जो लोग भीड़ में बिना मास्क पहने चल रहे हैं उन्हें कम्प्यूटर की स्क्रीन पर लाल रंग में दिखा देता है. वहीं जो मास्क पहने हैं उन्हें हरे रंग में दिखा देता. यही नहीं जिन्होंने सही ढंग से मास्क नहीं पहन रखा है उनकी भी यह सॉफ्टवेयर पहचान कर लेता है. उन्होंने रोहन दुबे की तारीफ करते हुए विश्वास व्यक्त किया है कि यदि यह सॉफ्टवेयर कारगर साबित होता है तो वे इसका उपयोग करेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज