लाइव टीवी

Jodhpur: एम्स ने खुद के नर्सिंगकर्मी की पत्नी का नहीं किया इलाज, निजी अस्पताल में कराना पड़ा गर्भपात
Jodhpur News in Hindi

Lalit Singh | News18 Rajasthan
Updated: May 23, 2020, 11:07 AM IST
Jodhpur: एम्स ने खुद के नर्सिंगकर्मी की पत्नी का नहीं किया इलाज, निजी अस्पताल में कराना पड़ा गर्भपात
यहां गायनी विभाग की डॉक्टर ने कहा कि आप हॉटस्पॉट क्षेत्र में रहते हैं ऐसे में मैं आप का उपचार नहीं कर सकती.

कोरोना संक्रमण काल (COVID-19 crisis) में कोविड-19 के अलावा अन्य बीमारियों से त्रस्त लोगों को इलाज कराने में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. जोधपुर में स्थित एम्स (AIIMS) ने अपने स्टाफ के परिजनों के इलाज से किया इनकार.

  • Share this:
जोधपुर. कोरोना संक्रमण काल (COVID-19 crisis) में कोविड-19 के अलावा अन्य बीमारियों से त्रस्त लोगों को इलाज लेने में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. हालात यह है कि सनसिटी जोधपुर (Jodhpur) में स्थित एम्स (AIIMS) ने आम नागरिक छोड़ खुद के स्टाफ के परिजनों के इलाज से इनकार कर दिया है. हाल ही में सामने आए चौंकाने वाले इस मामले के बाद अब एम्स स्टाफ ने निदेशक को पत्र लिखकर मामले की जांच की मांग की है. वहीं इस प्रकरण में जोधपुर एम्स की ओर से किसी ने भी आधिकारिक वक्तव्य नहीं दिया है.

आप हॉटस्पॉट क्षेत्र में रहते हैं तो इलाज नहीं कर सकती

एम्स में सीनियर नर्सिंग ऑफिसर के पद पर कार्यरत नरेश स्वामी की पत्नी 3 माह के गर्भ से थी. 17 मई को पत्नी की तबीयत बिगड़ने पर वह एम्स पहुंचा. वहां गायनी विभाग की डॉक्टर ने कहा कि आप हॉटस्पॉट क्षेत्र में रहते हैं, इसलिए मैं आप का इलाज नहीं कर सकती. बाहर जाकर सोनोग्राफी करवाओ और फोन पर डिस्कशन कर लेना. नरेश ने डॉक्टर से खूब मिन्नतें की. यह भी बताया कि वह यहीं का कर्मचारी है, लेकिन उसकी कोई सुनवाई नहीं हुई. एम्स के बाहर इलाज कराने में उसे समय लग गया और नतीजा यह हुआ कि उसे निजी अस्पताल में पत्नी का गर्भपात करवाना पड़ा. यदि एम्स में समय रहते जांच होकर उसकी पत्नी को उपचार मिल जाता तो शायद गर्भपात की नौबत नहीं आती.



नर्सिंग एसोसिएशन नोवा ने की एम्स की शिकायत



पीड़ित नर्सिगकर्मी नरेश ने बताया कि कर्मचारियों के साथ ऐसे हालात हैं, तो दूसरे मरीजों के साथ क्या होता होगा. सरकार ने तय कर रखा है कि किसी भी मरीज को इलाज से वंचित नहीं किया जा सकता. डॉक्टर चाहते तो PPE किट का इस्तेमाल कर उसकी पत्नी की जांच कर लेते, लेकिन ऐसा नहीं किया गया. नरेश ने अपनी पूरी पीड़ा एम्स के निदेशक को पत्र लिखकर बताई है. इधर, जोधपुर एम्स की नर्सिंग एसोसिएशन नोवा ने एम्स प्रबंधन से दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है. हालांकि उस पर अभी कोई कार्रवाई नहीं हुई है और ना ही एम्स प्रबंधन की ओर से इस पर किसी ने कोई आधिकारिक व्यक्तव्य नहीं दिया है.

यह भी पढ़ें-

COVID-19: नियमों के उल्लंघन पर और सख्त हुई सरकार, इन बातों का रखें खास ध्यान

Weather : राजस्थान में गर्मी का अटैक, श्रीगंगानगर और चूरू में पारा 47 डिग्री

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जोधपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 23, 2020, 10:23 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading