जोधपुर: बेरोजगारों ने भरी हुंकार, लंबित भर्तियों की मांगें पूरी नहीं हुई 10 हजार युवा करेंगे दिल्ली कूच

अगर गहलोत सरकार ने भी 
पुरानी भर्तियों को पूरा नहीं किया तो बेरोजगार अपने संघर्ष को तेज करेंगे.

अगर गहलोत सरकार ने भी पुरानी भर्तियों को पूरा नहीं किया तो बेरोजगार अपने संघर्ष को तेज करेंगे.

राजस्थान के बेरोजगारों ने अशोक गहलोत सरकार (Gehlot Government) को चेतावनी दी है कि यदि जनवरी में उनकी मांगों को पूरा नहीं किया गया तो वे बड़ी संख्या दिल्ली कूच (Delhi March) करेंगे.

  • Share this:
जोधपुर. प्रदेश के बेरोजगारों (Unemployed) ने राज्य सरकार को चेतावनी दी है कि यदि जनवरी माह में उनकी मांगों को पूरा नहीं किया गया, तो बड़ी संख्या वे दिल्ली (Delhi March) कूच करेंगे. रविवार को यहां जिले के बेरोजगारों के साथ संवाद के दौरान राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष उपेन यादव ने यह चेतावनी दी. उन्होंने बेरोजगारों को संबोधित करते हुए कहा कि वे अपनी मांगों के लिए सरकार से आर-पार की लड़ाई लड़ेंगे. बेरोजगारों के साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा. इस मौके पर उपस्थिति सैकड़ों बेरोजगारों ने एक स्वर में उनकी इस चेतावनी के प्रति अपनी सहमति जताई.

यादव ने कहा कि वर्ष 2013 से लंबित आयुर्वेद नर्सिंग भर्ती के 1005 पद सहित एएनएम, जीएनएम, नर्सिंग, पंचायत राज, एलडीसी और विद्यालय सहायक भर्ती सहित तमाम लंबित भर्तियों को जल्द से जल्द पूरा करने की मांग को लेकर हजारों बेरोजगार लंबे समय से संघर्ष कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि वर्ष 2013 में कांग्रेस की सरकार की ओर से विज्ञापित पदों की भर्ती प्रक्रिया को सरकार बदलने के साथ ही रोक दिया गया. बीजेपी की सरकार ने भर्ती को अटका कर रख दिया था.

यादव ने कहा कि उसके बाद से बेरोजगार युवा अभी तक इन भर्तियों को पूरा कराने को लेकर संघर्ष करते आ रहे हैं. अब राज्य में फिर से गहलोत सरकार आई है. इससे एक बार फिर इन भर्तियों के पूरा होने की उम्मीद जगी है. अगर गहलोत सरकार ने भी इन भर्तियों को पूरा नहीं किया तो वे अपने संघर्ष तेज करेंगे. इसके लिए गहलोत सरकार को 1 माह का समय दिया गया है. उसके बाद अगर उनकी मांगों पर विचार नहीं किया गया तो प्रदेश के करीब 10000 बेरोजगार युवा दिल्ली कूच करेंगे. इसकी तैयारियां शुरू कर दी गई हैं. इस मौके पर उपेन यादव का मालाएं पहनाकर स्वागत किया गया. इस दौरान बड़ी संख्या में बेरोजगार उपस्थित थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज