होम /न्यूज /राजस्थान /जोधपुर के डॉक्टरों ने की सबसे जटिल सर्जरी, इस तकनीक से कैंसर मरीज को दिया नया जीवन

जोधपुर के डॉक्टरों ने की सबसे जटिल सर्जरी, इस तकनीक से कैंसर मरीज को दिया नया जीवन

Jodhpur News: मथुरादास माथुर अस्पताल की एनेस्थीसिया विभाग कि आचार्य डॉ. शोभा का कहना है कि अनियन्त्रित डाइबिटीज होने के ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट- मुकुल परिहार

जोधपुर. जोधपुर के मथुरादास माथुर अस्पताल के चिकित्सकों ने 10 घंटे कि जटिल सर्जरी को सफल कर रोगी को दर्द से राहत दिलाई है. एमडीएम के ईएनटी विभाग एवं प्लास्टिक सर्जरी विभाग ने मिलकर एक बेहद ही जटिल कैंसर का सफल ऑपरेशन किया है. 45 वर्षीय रोगी हरीश सोनी गत 5 माह से मुंह के कैंसर से ग्रसित था. जिसका निदान होने के पश्चात रेडियोथैरेपी विभाग में मरीज को कीमोथेरेपी की तीन साइकिल्स दी गई. परन्तु बीमारी और ज्यादा फैल गई. जिसके चलते मरीज को सर्जरी के लिए ईएनटी विभाग में भेजा गया. जहां डॉ. महेन्द्र चौहान ने उनकी जांच कर ऑपरेशन की तैयारी शुरू की. जिसमें मरीज डाइबिटीज से ग्रस्त भी पाया गया.

ऑपरेशन के पश्चात पैदा होने वाली विकृति को सही करने के लिए प्लास्टिक सर्जन डॉ प्रभुदयाल सिंवर की मदद ली गई. ईएनटी विभागाध्यक्ष, डॉ. भारती सोलंकी के सुपरविजन में डॉ महेन्द्र चौहान और 16 डॉक्टरों की टीम ने ऑपरेशन में मरीज के मुंह के नीचे के लगभग आधे चेहरे की त्वचा, उत्तक, ऊपर औरनिचला जबड़ाऊपर और नीचे का आधा होंठ शल्य क्रिया कर निकाला.

10 घंटे तक चली सर्जरी
ऑपरेशन की शुरूआत में ट्रेकियोस्टोमी की गई. ऑपरेशन के पश्चात उत्पन्न होने वाली विकृति को सही करना भी एक बड़ी चुनौतीपूर्ण था. जिसको प्लास्टिक सर्जन डॉ प्रभुदयाल सिंवर ने दायीं जांघसे 21 गुणा 18 सेमी त्वचा लेकर उसे गले की नसों से जोड़ा. नसों में प्रवाह आने पर चेहरा और होंठ ‘फ्री-फ्लैप प्लास्टिक सर्जरी’ कर अत्याधुनिक तकनीक से बनाया गया. इसमें रोगी के जल्दी ठीक होने की संभावना रहती है. वहीं 10 घंटे चलीजटिल सर्जरी के बाद में रोगी को दर्द से राहत मिली.

एनेस्थीसिया देना चुनौतीपूर्ण
मथुरादास माथुर अस्पताल की एनेस्थीसिया विभाग कि आचार्य डॉ. शोभा का कहना है कि अनियन्त्रित डाइबिटीज होने के कारण ऑपरेशन में काफी कठिनाइयां होती हैं. जिसमें एनेस्थीसिया देना चुनौतीपूर्ण कार्य होता है. इस 45 वर्षीय रोगी की जटिल सर्जरी लगभाग 10 घंटे तक चली. ऑपरेशन के बाद मरीज को 5 दिनों के लिए आईसीयू में रखा गया. कुछ दिनों बाद उन्हें सामान्य वार्ड में भी शिफ्ट कर दिया जाएगा.

डॉक्टरों की इस टीम ने किया सफल ऑपरेशन
डॉ. संपूर्णानंद मेडिकल कॉलेज के संबंधित एमडीएम अस्पताल के डॉक्टरों की टीम द्वारा द्वारा 10 घंटे चलेइस जटिल ऑपरेशन की टीम में डॉ. महेन्द्र चौहान, डॉ. सोनू परमार, डॉ. राजेन्द्र सिंह जोधाा, डॉ. रूचिका, डॉ. प्रीति, डॉ. विक्रम, डॉ. हर्षिता, डॉ. प्रभुदयाल सिंवर, डॉ. शोभा उज्जवल, डॉ. गीता सिंघारिया, डॉ. देवेन्द्र बोहरा, डॉ. वन्दना, डॉ. अनीशा, डॉ. आभास, डॉ. शिवानन्द, डॉ. सीमा, ओ.टी. के हरीष गौतम, आरती शामिल थी.

Tags: AIIMS-New Delhi, Cancer, Government Hospital, Jodhpur News, Rajasthan news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें