लाइव टीवी

जोधपुर: फ्रांस के जोड़े ने अग्नि को साक्षी मानकर लिए सात फेरे, ऊंटगाड़ी पर सवार होकर पहुंची बारात
Jodhpur News in Hindi

Chandra Shekhar Vyas | News18 Rajasthan
Updated: February 27, 2020, 4:21 PM IST
जोधपुर: फ्रांस के जोड़े ने अग्नि को साक्षी मानकर लिए सात फेरे, ऊंटगाड़ी पर सवार होकर पहुंची बारात
फ्रांस से आए जां फासुआं और सेसील ने किया विवाह.

जोधपुर (Jodhpur) के बालेसर उपखंड क्षेत्र के भालू राजवा गांव में बुधवार को फ्रांस से आए जोड़े ने बाबा रामदेव जी के मंदिर में हिन्दू रीति-रिवाज (Hindu customs) से विवाह किया. वैसे जां फासुआं अपनी गर्लफ्रेंड सेसील के साथ सात दिन पहले गांव पहुंचे और ग्रामीणों के साथ मिलकर शादी तैयारी की.

  • Share this:
जोधपुर. राजस्‍थान के जोधपुर (Jodhpur) के बालेसर उपखंड क्षेत्र के भालू राजवा गांव में बुधवार को फ्रांस से आए जोड़े ने बाबा रामदेव जी के मंदिर में हिन्दू रीति-रिवाज (Hindu customs) से विवाह किया. इस समारोह के दौरान दूल्हा-दुल्हन और सभी गांव वाले भी काफी उत्साहित नजर आए. इस जोड़े ने हिन्दू रीति-रिवाज से विधिवत मुहूर्त के बाद अग्नि को साक्षी मानकर सात फेरे लेकर एक दूसरे का हाथ थामा है. वैसे फ्रांस से आए जां फासुआं और सेसील ने करीब सात दिन से गांव में रह कर अपनी शादी की तैयारियों को ग्रामीणों के साथ मिलकर अंजाम दिया.

ऊंटगाड़ी पर आई बारात
फ्रांस से आए दूल्हे जां फासुआं और दुल्हन सेसील ने अपने विवाह के लिए बालेसर उपखंड क्षेत्र के भालू राजवा गांव चयन किया. हिन्दू रीति-रिवाज से हुए विवाह समारोह में दूल्हा ऊंटगाड़ी पर बैठकर बारात के रूप में विवाह स्थल बाबा रामदेव मंदिर पहुंचा और तोरण की रस्म निभाई. जबकि बारात में शामिल ग्रामीण युवक नाचते हुए विवाह स्थल पहुंचे. पाणिग्रहण संस्कार में दूल्हे ने जब सेसील की मांग भरी तो मंदिर परिसर तालियों की गडगड़ाहट से गूंज उठा. पंडित ने जब सात फेरों के साथ, सात जन्मों का संकल्प दिलवाया तो ग्रामीण महिलाओं ने पारम्परिक विवाह गीत गाने लगी. महिलाओं के गीत सुनकर दूल्हा और दुल्हन एक दूसरे को देख उत्साहित नजर आए. यही नहीं, सोढ़ों की ढाणी स्थित शिवसिंह सोढ़ा के घर पर दूल्हा और दुल्हन को पारम्परिक रीति-रिवाज के अनुसार तैयार किया गया.

राजस्‍थानी परिधान बने पहचान



विवाह के दौरान नवविवाहित जोड़े ने राजस्थानी पारंपरिक परिधान धारण किए. दूल्हे को धोती-कुर्ता पहनाया गया और जोधपुरी साफे पर मोड़ और तुर्रियां लगाई गईं. जबकि दुल्हन भी मारवाड़ी वेशभूषा में सजी-धजी नजर आई. इस विवाह को लेकर फ्रैंच जोड़ा पिछले सात दिनों से गांव में है. हालांकि इस शादी की तैयारी ग्रामीणों ने की है. गांव में विदेशी जोड़े की शादी को देख ग्रामीण भी काफी रोमांचित नजर आए तो फ्रांस के जोड़े ने भी हर किसी का दिल से आभार व्‍यक्‍त किया है.

 

ये भी पढ़ें-

भरतपुर के हाेटल में मसाज करवा रही जर्मन महिला पर्यटक से छेड़छाड़, आरोपी गिरफ्तार

 

राजस्थान यूथ कांग्रेस संगठन चुनाव के कल घोषित होंगे नतीजे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जोधपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 27, 2020, 4:12 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर