Assembly Banner 2021

यह है इश्किया गणेश मंदिर, यहां प्रेमी जोड़ों की मनोकामना होती है पूरी

जोधपुर का इश्किया गजानंद महाराज का मंदिर प्रेम करने वालों के बीच मशहूर है. फोटो : न्यूज 18 राजस्थान

जोधपुर का इश्किया गजानंद महाराज का मंदिर प्रेम करने वालों के बीच मशहूर है. फोटो : न्यूज 18 राजस्थान

जोधपुर (Jodhpur) का इश्किया गजानंद महाराज का मंदिर (Ishqiya Ganesh Temple) प्रेम करने वालों के बीच काफी मशहूर है. कहा जाता है कि इस मंदिर में प्रेमी जोड़ों का प्यार और परवान पर चढ़ता है.

  • Share this:
यह है जोधपुर (Jodhpur) का इश्किया गजानंद महाराज का मंदिर (Ishqiya Ganesh Temple). यहां इश्किया गणेश प्यार करने वालों का मिलन कराते हैं. इस मंदिर में कई वर्षों से प्रेमी जोड़े मिलते रहे हैं. कहा जाता है कि इस मंदिर में प्रेमी जोड़ों का प्यार और परवान पर चढ़ता है. मान्यता है कि इस मंदिर में प्रार्थना (धोक लगाना) करने से प्यार करने वाले दो प्रेमी शादी के बंधन में बंध (Marriage) ही जाते हैं. यहां इश्क करने वालों की मुरादें पूरी होती हैं. यही कारण है कि यहां प्रेमी जोड़ों की आमद-रफ्त लगातार बनी रहती है.

मंदिर छोटा, लेकिन मान्यता बड़ी
जोधपुर का यह इश्किया गणेश मंदिर करीब 100 साल पुराना है. शहर की संकरी गलियों में स्थित यह मंदिर देखने में भले ही छोटा हो, लेकिन इसकी मान्यता बड़ी है. माना जाता है कि यहां पर कोई भी प्रेमी जोड़ा दर्शन के लिए लगातार आता है तो वह विवाह बंधन में बंध जाता है. उनके विवाह में कोई अड़चन नहीं आती है.

Ishqiya Ganesh Temple, Jodhpur-इश्किया गणेश मंदिर, जोधपुर
मान्यता है कि इस मंदिर में लगातार प्रार्थना करने से प्यार करने वाले दो प्रेमी शादी के बंधन में बंध ही जाते हैं.

पहले लोग छिपकर आते थे, आज भीड़ लगती है


पुराने जमाने में जब प्यार और इश्क का नाम दबी जुबान में लिया जाता था, तब भी प्रेमी-प्रेमिका लोगों से नज़रें बचाकर इस मंदिर में पहुंच ही जाते थे. वर्षों पहले यह मंदिर प्रेमी जोड़ों के लिए मिलने का स्थान बन गया था, तभी से इसका नाम गुरु गणपति से इश्किया गणेश के नाम से प्रसिद्ध हुआ. अब तो जमाना पूरी तरह से बदल चुका है. अब इस मंदिर में प्रेमी जोड़ों की भारी भीड़ लगती है. इश्किया गणेश आज भी प्रेमियों के आराध्य देव बने हुए हैं.

परिजन भी आते हैं मनोकामना लेकर
छोटी सी गली में स्थित मंदिर और मूर्ति की प्रसिद्धि देश में ही नहीं विदेशों में भी है. कई लोग केवल इश्किया गणेश मंदिर के दर्शन करने के लिए जोधपुर आते हैं. प्रत्येक बुधवार को यहां प्रेमी जोड़ों की कतारें लगती हैं. भक्तजनों की मानें तो वे वर्षों से यहां लगातार आ रहे हैं. जिन लोगों की शादियां नहीं होती हैं, उनके परिवार वाले लोग भी यहां आकर सुयोग्य वर और वधू की कामना करते हैं.

Ishqiya Ganesh Temple, Jodhpur-इश्किया गणेश मंदिर, जोधपुर
कई जोड़े मुराद पूरी होने के बाद भी इस मंदिर में हाजरी लागाने आते हैं.


मनोकामना पूरी होने के बाद भी आते हैं लोग
ऐसा नहीं कि प्रेमी जोड़े अपनी मुराद पूरी होने के बाद इस मंदिर को भूल जाते हैं. ऐसे कई जोड़े हैं जो अपनी मुराद पूरी हो जाने के बाद भी इस मंदिर में हाजरी लागाने आते हैं. वे मानते हैं कि इश्किया गणेश के आशीर्वाद से ही उनको प्यार में सफलता मिली है और वे विवाह के बंधन में बंध पाए.

पत्नी की ख्वाहिश पूरी करने को शिक्षक ने मंगवाया हेलीकॉप्टर

CM गहलोत और पूर्व सीएम राजे के बीच शुरू हुआ ट्वीट वार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज