होम /न्यूज /राजस्थान /

Live Murder: एक हिस्ट्रीशीटर ने दूसरे हिस्ट्रीशीटर को सरेराह मार डाला

Live Murder: एक हिस्ट्रीशीटर ने दूसरे हिस्ट्रीशीटर को सरेराह मार डाला

जोधपुर शहर (Jodhpur City) में एक बार फिर बदमाशों की गैंगवार (Gangwar) ने लोगों को दहशत (Panic) में ला दिया है. गुरुवार को एक हिस्ट्रीशीटर (History-sheeter) ने दूसरे हिस्ट्रीशीटर की दिनदहाड़े लाठी से ताबड़तोड़ वारकर उसकी हत्या (Murder) कर दी. महज करीब 16 सैकेंड में ताबड़तोड़ एक दर्जन वारकर आरोपी मौके से फरार हो गया.

अधिक पढ़ें ...
जोधपुर. शहर में एक बार फिर बदमाशों की गैंगवार (Gangwar) ने लोगों को दहशत (Panic) में ला दिया है. गुरुवार को एक हिस्ट्रीशीटर (History-sheeter) ने दूसरे हिस्ट्रीशीटर की दिनदहाड़े लाठी से ताबड़तोड़ वारकर उसकी हत्या (Murder) कर दी. महज करीब 16 सैकेंड में ताबड़तोड़ एक दर्जन वारकर आरोपी मौके से फरार हो गया. वारदात के बाद इलाके में दहशत फैल गई. सरेराह हुई हत्या की वारदात वहां लगे सीसीटीवी कैमरे (Cctv cameras) में कैद हो गई. पुलिस आरोपी की तलाश में जुटी हुई है, लेकिन उसका अभी तक कोई सुराग (clue) नहीं लग पाया है. एहतियात के तौर पर इलाके में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात (Additional Police Force deployed) किया गया है.

लाठी से ताबड़तोड़ वार किए
जानकारी के अनुसार हत्या की वारदात सदर थाना इलाके के गुलाब सागर क्षेत्र में स्थित पाल हवेली के पास हुई. वहां हिस्ट्रीशीटर नूर मोहम्मद खड़ा था. दोपहर करीब पौने तीन बजे दूसरा हिस्ट्रीशीटर सुलतान वहां लाठी लेकर आया. आते ही उसने नूर मोहम्मद पर लाठी से ताबड़तोड़ हमला कर दिया. सुलतान ने पहला वार नूर मोहम्मद की गर्दन पर किया, जिससे वह नीचे गिर पड़ा और उसके बाद वह संभल नहीं पाया. नूर मोहम्मद के नीचे गिरते ही सुलतान में उसके सिर और सीने पर वार किया. उसके बाद ताबड़तोड़ उसके घुटनों पर जमकर लगातार किए.



16 सेकैंड में वारदात को अंजाम देकर आरोपी हुआ फरार
सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई इस घटना में सुलतान महज 16 सेकैंड में वारदात को अंजाम देकर वहां से फरार हो गया. उसने नूर मोहम्मद पर लाठी से करीब एक दर्जन वार किए. हालांकि इस दौरान सीसीटीवी कैमरे में एक दो लोग वहां आते जाते दिखाई दे रहे हैं, लेकिन किसी ने उफ तक नहीं की. सुलतान बेखौफ होकर आया और हत्या की वारदात कर फरार हो गया. बाद में नूर मोहम्मद
को अस्पताल ले जाया गया. वहां उसे मृत घोषित कर दिया गया.

दोनों के खिलाफ 30 मुकदमे दर्ज हैं
डीसीपी धर्मेंद्र यादव ने बताया कि सुलतान कोतवाली थाने का हिस्ट्रीशीटर है. नूर मोहम्मद भी कोतवाली थाने का ही हिस्ट्रीशीटर था. करीब 30 मुकदमे दर्ज हैं. दोनों के बीच लगातार झगड़ा चल रहा था.

जोधपुर को जल्द मिल सकती है IPL मैच की सौगात, RCA अध्यक्ष ने किया दौरा

भरतपुर: बाराती नाचते-गाते रहे और चोर दुल्हनों के मंगल सूत्र समेत गहने ले उड़े

Tags: Crime in Rajasthan, Jodhpur News, Murder, Rajasthan news

अगली ख़बर