होम /न्यूज /राजस्थान /

राजस्थान के चिराग सोनी को Google ने ऑफर किया 3 करोड़ का पैकेज, न्यूयॉर्क में करेंगे काम, पढ़ें Success Story

राजस्थान के चिराग सोनी को Google ने ऑफर किया 3 करोड़ का पैकेज, न्यूयॉर्क में करेंगे काम, पढ़ें Success Story

Rajasthan News: जोधपुर के चिराग सोनी को गूगन ने करीब 3 करोड़ का पैकेज ऑफिर किया है.

Rajasthan News: जोधपुर के चिराग सोनी को गूगन ने करीब 3 करोड़ का पैकेज ऑफिर किया है.

Chirag Soni News: राजस्थान (Rajasthan News) के जोधपुर (Jodhpur News) में जन्मे चिराग सोनी (Chirag Soni Rajasthan) ने पूरे देश का नाम रोशन किया है. उन्हें गूगल ने करीब 3.25 करोड़ रुपए सालाना का पैकेज ऑफर किया है. उनके पास फेसबुक, अमेजॉन और माइक्रोसॉफ्ट जैसी दिग्गज कम्पनियों के जॉब ऑफर आए थे. सॉफ्टवेयर इंजीनियर चिराग अब गूगल के हिंदी फोनेटिक वर्जन में काम करेंगे.

अधिक पढ़ें ...

    Ranjan Dave

    जोधपुर. राजस्थान के जोधपुर में जन्मे चिराग सोनी (माहेश्वरी) की नियुक्ति गूगल में हुई है. चिराग को गूगल ने करीब 3.25 करोड़ रुपये सालाना का पैकेज ऑफर किया है. पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर चिराग अब गूगल की असिस्टेंट टीम के साथ काम करने वाले हैं. नियुक्ति के बाद चिराग के जोधपुर पहुंचने पर परिवार और दोस्तों ने उनका फूल-मालाओं के साथ स्वागत किया. एक बेहद ही साधारण परिवार में जन्मे चिराग सोनी जोधपुर के ओसियां क्षेत्र के मूल निवासी हैं. चिराग सोनी गूगल के हिंदी फोनेटिक वर्जन में काम करेंगे.

    आईआईटी पटना से कंप्यूटर साइंस में बीटेक करने के बाद चिराग ने सैमसंग रिसर्च इंस्टीट्यूट दिल्ली में सॉफ्टवेयर इंजीनियर पद पर काम किया. इसके बाद आगे की शिक्षा के लिए चिराग अमेरिका गए. वहां यूनिवर्सिटी ऑफ वाशिंगटन से ‘मास्टर ऑफ साइंस इन कम्प्यूटेशनल लिग्विस्टिक्स की डिग्री हासिल की. उसी दौरान चिराग के पास फेसबुक, अमेजॉन और माइक्रोसॉफ्ट जैसी दिग्गज कम्पनियों के जॉब ऑफर आए. बाद में विश्व की सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनी गूगल ने चिराग को करीब सवा तीन करोड़ के सालाना पैकेज पर सॉफ्टवेयर इंजीनियर 3 के पद पर नियुक्ति दी.

    चिराग ने अपनी मेहनत से हासिल की सफलता 

    जोधपुर के ओसियां में जन्मे चिराग 3 भाई बहनों में सबसे बड़े हैं. चिराग की प्राथमिक शिक्षा आदर्श विद्या मंदिर ओसियां से हुई. इसके बाद सोनी परिवार जोधपुर आ गया और चिराग की माध्यमिक तक की शिक्षा सेंट ऑस्टिन स्कूल में पूरी हुई.

    ये भी पढ़ें:  Indian Railways: पैसेंजर्स के लिए जरूरी खबर, रेलवे ने 30 ट्रेनें में शुरू की MST सुविधा, चेंक करें लिस्ट

    12वीं तक की पढ़ाई रेजोनेंस कोटा से पूरी की. अपनी मेहनत और प्रतिभा के दम पर चिराग ने ये मुकाम हासिल किया है. ये उपलब्धि जोधपुर के लिए गौरव की बात है. चिराग की इस उपलब्धि पर उनके पिता गजेन्द्र सोनी एवं माता सुष्मा सोनी के साथ पूरा परिवार और दोस्त काफी खुश हैं.

    Tags: Google, Jodhpur News, Rajasthan news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर