जोधपुर में निर्माणाधीन फैक्ट्री की दीवार गिरी, मलबे के नीचे दबने से 9 मजदूरों की मौत

बताया जा रहा है कि निर्माणाधीन फैक्ट्री की दीवार के मलबे के नीचे अभी भी कुछ मजदूर दबे हो सकते हैं (फोटो: ANI)
बताया जा रहा है कि निर्माणाधीन फैक्ट्री की दीवार के मलबे के नीचे अभी भी कुछ मजदूर दबे हो सकते हैं (फोटो: ANI)

सीएम गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने हादसे की जांच जोधुपर (Jodhpur) संभागीय आयुक्त से करवाने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने हादसे में मारे गए हर मृतक के परिवार को मुख्यमंत्री सहायता कोष (CM Relief Fund) से दो लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 11, 2020, 2:01 AM IST
  • Share this:
जोधपुर. राजस्थान के जोधपुर (Jodhpur) में एक बड़ा हादसा हुआ है. यहां एक निर्माणाधीन फैक्ट्री की दीवार गिरने (Under Construction Factory Wall Collapse) से नौ मजदूरों की मौत (Labourers Dead) हो गई है. हादसे की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने रेस्क्यू ऑपरेशन (Rescue Operation) चलाकर मलबे में दबे 14 मजदूरों को बाहर निकाला. बताया जा रहा है कि दीवार के नीचे अभी कुछ और मजदूरों के दबे होने की आशंका है.

एसीपी नीरज शर्मा ने बताया कि घायल छह मजदूरों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. टैक्सी चालकों ने मदद के लिए हाथ बढ़ाया है. घटनास्थल पर बड़ी संख्या में पहुंचे टैक्सी चालकों ने एंबुलेंस के अलावा अपनी-अपनी टैक्सियों में घायलों को अस्पताल पहुंचाया है.
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस हादसे पर दुख जताया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'जोधपुर के बासनी फेज द्वितीय में निर्माणाधीन फैक्ट्री की छत गिरने से श्रमिकों की मृत्यु अत्यंत दुखद है. जिला कलेक्टर से बात कर घटना की जानकारी ली है. फंसे हुए श्रमिकों को निकालने के लिए बचाव कार्य जारी है, स्थानीय पुलिस और प्रशासन घटनास्थल पर मौजूद हैं.'

सीएम गहलोत ने हादसे की जांच जोधुपर संभागीय आयुक्त से करवाने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने हादसे में मारे गए हर मृतक के परिवार को मुख्यमंत्री सहायता कोष से दो लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है. वहीं गंभीर रूप से जख्मी लोगों को चालीस-चालीस हजार रुपए की मदद दी जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज