होम /न्यूज /राजस्थान /Jodhpur News: जोधपुर के चीतल अब कोटा के मुकुंदरा हिल्स टाइगर रिजर्व की बढ़ाएंगे शोभा, जल्द होंगे शिफ्ट

Jodhpur News: जोधपुर के चीतल अब कोटा के मुकुंदरा हिल्स टाइगर रिजर्व की बढ़ाएंगे शोभा, जल्द होंगे शिफ्ट

Jodhpur News: वन्यजीव उपवन सरंक्षक संदीप कुमार छलाणी का कहना है कि सेंट्रल जू अथॉरिटी और मुख्य वन्यजीव प्रतिपालक राजस्थ ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट: मुकुल परिहार

जोधपुर. राजस्थान के जोधपुर को पर्यटन नगरी के रूप में सिर्फ यहां के किले,महल औरहवेलियों ही नहीं प्रसिद्ध कर रहे, बल्कि अब देश के चुनिंदा बायोलॉजिकल पार्क में एक जोधपुर का माचिया बायोलॉजिकल पार्क भी पर्यटकों को आकर्षित कर रहा है. यहां के चीतल कि देश मे ऐसी डिमांड है कि गत वर्ष में ही 230 से अधिक चीतल को अन्य जंतुआलय में पर्यटकों के लिए शिफ्ट किया जा चुका है और जल्द ही 35 अन्य चीतल को भी कोटा के मुकुंदरा टाइगर रिजर्व में शिफ्ट करना भी प्रस्तावित है.

जोधपुर में सेंट्रल जू अथॉरिटी और मुख्य वन्यजीव प्रतिपालक राजस्थान के निर्देशानुसार एनिमल एक्सचेंज कार्यक्रम के तहत एक जू से दूसरे जू में वन्यजीवों के आदान-प्रदान की प्रक्रिया चलती रहती है. जिसके तहत अलग-अलग शहरो के जू में वहां पर आकर्षक वन्यजीव भी देखने को मिलते है. इसी कडी में जोधपुर के माचिया बायोलॉजिकल पार्क की बात करे तो यहां पर भी इस प्रक्रिया को लम्बे समय से अपनाया जा रहा है जो आज भी जारी है. वर्तमान समय में अगर बात करे तो 35 चीतल को जल्द ही कोटा के मुकुंदरा टाइगर रिजर्व शिफ्ट किया जाएगा.

इसको लेकर मुख्य वन्यजीव प्रतिपालक राजस्थान द्वारा प्राप्त निर्देशों की पालना में इनको शिफ्ट किया जाएगा. जिसके बदले माचिया में भी कई नए आकर्षक वन्यजीव देखने को मिल सकते है. गत वर्ष में ही सम्भवतया जोधपुर के माचिया बायोलॉजिकल पार्क से 220 से अधिक चीतल यहां से अन्य जू में शिफ्ट किए जा चुके है, जो कि इनकी डिमांड लगातार बढ़ती जा रही है. अब जल्द ही 35 चीतल और मुकुंदरा टाइगर रिजर्व में शिफ्ट किया जाना प्रस्तावित है जिसकी प्रक्रिया चल रही है.

इनका यह कहना
वन्यजीव उपवन सरंक्षक संदीप कुमार छलाणी का कहना है कि सेंट्रल जू अथॉरिटी और मुख्य वन्यजीव प्रतिपालक राजस्थान के निर्देशानुसार एनिमल एक्सचेंज की प्रक्रिया चलती है. माचिया बायोलॉजिकल पार्क से अन्य जू और अन्य सेंचूरी नेशनल पार्क एंड टाइगर्स रिजर्व में जो भी वन्यजीव है उनको भेजने और वहां से वन्यजीव लाने का कार्यक्रम चलते रहते है. इसी कड़ी में पिछले वर्षो में 220 चीतल यहां से मुकुंदरा टाइगर रिजर्व और अन्य जू में भेजे गए है. 35 चीतल भेजने अभी प्रस्तावित है.

Tags: Forest department, Jodhpur News, Rajasthan news, Rajasthan Tourism Department

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें