जोधपुर : कोरोना वैक्सीनेशन का ड्राइ रन शुरू, हेल्थ वर्करों की सहायता से व्यवस्था जांची

जोधपुर में शुरू हुए कोरोना वैक्सीनेशन के ड्राइ रन का एक नजारा.

जोधपुर में शुरू हुए कोरोना वैक्सीनेशन के ड्राइ रन का एक नजारा.

सीएमएचओ डॉ. बलवंत मंडा और आईएएस अधिकारी अपूर्वा के सुपरविजन में यह ड्राई रन शुरू हुआ. दो सेंटरों पर किए गए इस ड्राइ रन के जरिए सारी व्यवस्था की जांच की गई, ताकी वैक्सीनेशन के वक्त किसी तरह की परेशानी सामने न आए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 2, 2021, 4:18 PM IST
  • Share this:

जोधपुर. पिछले 1 साल से कोरोना संक्रमण से जूझ रहे देश के नागरिकों को आज राहत भरी तस्वीर नजर आई. प्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन का ड्राइ रन शुरू हुआ. जोधपुर में आज जिला प्रशासन व चिकित्सा विभाग ने ड्राइ रन के माध्यम से अपनी तैयारियां परखीं. जोधपुर शहर में रेजीडेंसी व बनाड़ में ड्राइ रन के माध्यम से व्यवस्था जांची गई. सीएमएचओ डॉ. बलवंत मंडा और आईएएस अधिकारी अपूर्वा के सुपरविजन में यह ड्राइ रन शुरू हुआ. इसके माध्यम से यह परखा गया कि वैक्सीन स्टोरेज पाइंट से वैक्सीन किस तरह जोधपुर पहुंचेगी. जोधपुर में उन्हें कोल्ड चेन पाइंट पर भेजने के बाद एक व्यक्ति को लगाने में कितना समय लगेगा. इस तरह पूरी व्यवस्था परखी गई. रेजीडेंसी चिकित्सालय में प्रारंभिक तौर पर 2 दर्जन से अधिक हेल्थ वर्कर को इस ड्राइ रन में शामिल किया गया.

कोरोना वैक्सीन देने के तीन स्टेज

एक-एक व्यवस्था सुनिश्चित करने के बाद सीएमएचओ डॉ बलवंत मंडा ने बताया कि किसी प्रकार की कोई असुविधा किसी सेंटर पर देखने को नहीं मिलेगी. रेजीडेंसी वैक्सीनेशन बूथ पर 3 कमरे तैयार किए गए हैं. पहला वेटिंग रूम, जहां टीका लगवाने वाले के पहचान पत्र वगैरह की जांच की गई. टीका लगवाने के लिए सबसे पहले यहां पहुंचना होगा. वेरिफिकेशन के बाद संबंधित शख्स को वैक्सीनेशन रूम में भेजा गया जहां उसे वैक्सीन लगाया गया. उसके बाद संबंधित शख्स को ऑब्जर्वेशन रूम भेजा गया जहां अगले आधे घंटे के लिए उसकी निगरानी की गई कि कहीं कोई साइड इफेक्ट तो नहीं है.

एक बार में एक व्यक्ति की एंट्री
वैक्सीनेशन रूम में एक बार में सिर्फ एक व्यक्ति को एंट्री दी जाएगी, जिन्हें टीका लगना है. रूम में 5 वैक्सीन ऑफिसर होंगे. टीके के लिए चयनित शख्स को टीकाकरण के बारे में पहले से जानकारी दे दी जाएगी. माना जा रहा है कि कुछ दिन पहले ही उन्हें एसएमएस से सूचना दे दी जाएगी कि आप अमुक पते पर अमुक समय पर टीका लगवाने के लिए पहुंचे.

वैक्सीनेशन ड्राइव के लिए ऐप तैयार

वैक्सीनेशन ड्राइव के लिए Co-WIN नाम से एक ऐप बनाया गया है. अगले कुछ दिनों में इस ऐप पर सेल्फ-रजिस्ट्रेशन की सुविधा शुरू हो जाएगी. गौरतलब है कि देश में कोलकाता, मुंबई, चेन्नई और करनाल में चार बड़े वैक्सीन स्टोरेज पाइंट बनाए गए हैं. यहां से विशेष विमान या स्पेशल रेफ्रिजरेटेड वैन के जरिये वैक्सीन को जोधपुर के स्टोरेज पाइंट तक लाया जाएगा. स्टोरेज पाइंट से इन्हें वैक्सीनेशन के लिए तय बूथ पर भेजा जाएगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज