'आश्रम' वेब सीरीज को लेकर एक्‍टर बॉबी देओल और फिल्‍म निर्माता प्रकाश झा को नोटिस, 11 जनवरी को अगली सुनवाई

आश्रम वेब सीरीज के खिलाफ दायर केस को लेकर बॉबी देओल और प्रकाश झा को कोर्ट ने भेजा नोटिस. (फाइल फोटो)

आश्रम वेब सीरीज के खिलाफ दायर केस को लेकर बॉबी देओल और प्रकाश झा को कोर्ट ने भेजा नोटिस. (फाइल फोटो)

आश्रम वेब सीरीज (Ashram web series) के खिलाफ दायर एक केस में बॉलीवुड एक्टर बॉबी देओल (Bobby Deol) और निर्माता प्रकाश झा (Prakash Jha) को जोधपुर की अदालत ने नोटिस जारी किया. मामले की सुनवाई की अगली तारीख 11 जनवरी को तय की गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 14, 2020, 3:14 PM IST
  • Share this:

जोधपुर. इस वक्‍त की सबसे बड़ी खबर जोधपुर से आ रही है. चर्चित वेब सीरीज 'आश्रम' (Ashram web series) को लेकर बॉलीवुड एक्‍टर बॉबी देओल (Actor Bobby Deol) और इसके निर्माता प्रकाश झा (Film Producer Prakash Jha) को कोर्ट ने नोटिस दिया है. इस मामले पर अगली सुनवाई अब 11 जनवरी को होगी. इस तरह दोनों को 11 जनवरी तक कोर्ट (Jodhpur Court) की नोटिस का जवाब देना होगा. बता दें कि वेब सीरीज 'आश्रम' को MX प्‍लेयर पर रिलीज किया गया था. इसमें आश्रम के अंदर महिलाओं के साथ होने वाले उत्‍पीड़न को दिखाया गया है.

'आश्रम' वेब सीरीज के पहले संस्करण के रिलीज होते ही इसके निर्माताओं और कलाकारों के ऊपर धार्मिक भावनाओं को आहत करने का आरोप लगा था. वेब सीरीज का दूसरा संस्करण आने के बाद भी इसके निर्माताओं के ऊपर भावनाएं आहत करने का आरोप लगा. हालांकि वेब सीरीज के मुख्य कलाकार बॉबी देओल और निर्माता प्रकाश झा ने ऐसे आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया था. न्यूज 18 के साथ लाइव बातचीत में दोनों ने साधु-संतों को लेकर किसी भी तरह की भावनाओं से खिलवाड़ नहीं किए जाने की बात कही थी. वेब सीरीज के निर्माता प्रकाश झा ने साफ कहा था कि उन्हें पब्लिक डोमेन में जो बातें और तथ्य हैं, उन्हीं के आधार पर 'आश्रम' वेब सीरीज बनाई.


बॉबी देओल ने फेसबुक पर न्यूज 18 के साथ लाइव बातचीत में कहा था कि इस वेब सीरीज में धर्म के नाम पर फ्रॉड करने वाले बाबाओं के खिलाफ बातें की गई हैं. वहीं, निर्माता प्रकाश झा ने कहा था कि 400 मिलियन से ज्यादा लोगों ने यह वेब सीरीज देखी थी.

प्रकाश झा ने कहा कि हमारा धर्म महान है, हमारे धर्म ग्रंथ महान हैं, लेकिन जो इसकी आड़ में प्रपंच रचते हैं, उन्हें बेनकाब करना और समाज के सामने सच्चाई पेश करने की यह एक कोशिश थी, जिसे लोगों ने सराहा. उन्होंने कहा कि इस वेब सीरीज में जो कुछ भी कहा गया, वह पब्लिक डोमेन में है. इसलिए किसी सच्चे धर्म गुरु ने इस वेब सीरीज को लेकर आपत्ति नहीं उठाई.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज