Jodhpur High Court : नीट काउंसलिंग को याचिका के अधीन रखने के आदेश
Jodhpur News in Hindi

Jodhpur High Court : नीट काउंसलिंग को याचिका के अधीन रखने के आदेश
अगली सुनवाई 18 मई होगी.

EWS आरक्षण (EWS Reservation) को लेकर दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट जस्टिस अरुण भंसाली की कोर्ट ने गुरुवार को नीट काउंसलिंग (NEET Counseling) को याचिका के अधीन रखने के आदेश दिए हैं.

  • Share this:
जोधपुर. EWS आरक्षण (EWS Reservation) को लेकर दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट जस्टिस अरुण भंसाली की कोर्ट ने गुरुवार को नीट काउंसलिंग (NEET Counseling) को याचिका के अधीन रखने के आदेश दिए हैं. लोकेंद्र सिंह की याचिका पर सुनवाई करते हुए जोधपुर मुख्य पीठ की एकल पीठ ने यह आदेश दिए हैं. अब इस मामले में 18 मई को फिर सुनवाई होगी.

ऑनलाइन एप के ज़रिये हुई सुनवाई
जस्टिस अरुण भंसाली के समक्ष गुरुवार को नीट पीजी-2020 में प्रवेश में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के आरक्षण को लेकर दायर याचिका पर ऑनलाइन एप पर ज़रिये वीसी सुनवाई हुई. याचिकाकर्ता की ओर से अधिवक्ता नूपुर भाटी ने पैरवी करते हुए न्यायालय के समक्ष दलील दी कि गवर्मेंट मेडिकल कॉलेज में नीट पीजी-2020 में EWS आरक्षण को लागू करते हुए कम से कम 10 प्रतिशत सीटें बढ़ानी चाहिये थी. यह क़रीब 145 होनी चाहिए थी. लेकिन राज्य सरकार ने मात्र 51 सीटें बढ़ाने का प्रस्ताव मेडिकल कौंसिंल ऑफ़ इंडिया के समक्ष रखा. एमसीआई के नियम 10-ए के अनुसार 23 सीटें और 18 सीटें डिप्लोमा से डिग्री के अपग्रेड के आधार पर बढ़ाते हुए कुल 92 सीटें ही बढाई गई, जबकि नियमानुसार 145 सीटें होनी चाहिये थी.

18 मई होगी अगली सुनवाई
इसके साथ ही उन्होंने यह तर्क भी दिया की पिछले साल वर्ष 2019-20 में कुल 584 सीटें थी व इस वर्ष 2020-21 में 597 सीटें ही है जो पिछले वर्ष से मात्र 13 सीटें ही अधिक है. इसके उपरांत भी याचिकाकर्ता से कम मेरिट वाले विद्यार्थी को EWS आरक्षण का लाभ देते हुए सीट आवंटित कर दी गई. राज्य सरकार की ओर से अतिरिक्त महाधिवक्ता मनीष व्यास ने कहा कि इस मामले में प्रथम काउंसिलंग हो चुकी है. लेकिन न्यायालय के समक्ष जो तथ्य आये है उन सभी तथ्यों का लिखित में जवाब देना अभी बाक़ी है. न्यायालय ने दोनो पक्षों को सुनने के पश्चात नीट काउंसलिंग को याचिका के अधीन रखने के आदेश देते हुए आगामी सुनवाई 18 मई को रखी है. अब आगामी सुनवाई में राज्य सरकार की ओर से याचिका का जवाब दिया जाएगा.



Alwar: 9वीं की छात्रा से गैगरेप कर जान से मारने की कोशिश, Video भी बनाया

Rajasthan: लॉकडाउन और मंदी के दौर के बीच भी करोड़ों कमा लिए, जानिए कौन है यह
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज