लाइव टीवी

जोधपुर: राजस्थान में मासूम बच्चों की मौत पर हाईकोर्ट चिंतित, राज्य सरकार से मांगी रिपोर्ट

Chandra Shekhar Vyas | News18 Rajasthan
Updated: January 7, 2020, 4:41 PM IST
जोधपुर: राजस्थान में मासूम बच्चों की मौत पर हाईकोर्ट चिंतित, राज्य सरकार से मांगी रिपोर्ट
हाईकोर्ट ने पूछा है कि कितने बच्चों की मौत हुई है ? किन कारणों से मौत हुई है ?

जोधपुर हाईकोर्ट (Jodhpur High Court) ने प्रदेश के कई जिलों के सरकारी अस्पतालों में बच्चों की मौत के मामले में स्व-प्रेरणा प्रसंज्ञान से दायर जनहित याचिका (Public interest litigation) पर सुनवाई करते हुए राज्य सरकार (State government) को महत्वपूर्ण निर्देश देते हुए जवाब मांगा है.

  • Share this:
जोधपुर. राजस्थान हाईकोर्ट (Rajasthan High Court) ने प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में हो रही मासूम बच्चों की मौतों (Deaths) पर चिंता जताई है. जोधपुर हाईकोर्ट ने कई जिलों के सरकारी अस्पतालों में बच्चों की मौत के मामले में स्व-प्रेरणा प्रसंज्ञान से दायर जनहित याचिका (Public interest litigation) पर सुनवाई करते हुए राज्य सरकार (State government) को महत्वपूर्ण निर्देश देते हुए जवाब मांगा है.

कोर्ट ने पूछा किन कारणों से मौत हुई है ?
मंगलवार को मामले में सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट सीजे इंद्रजीत महांति व जस्टिस पुष्पेंद्र सिंह भाटी की खण्डपीठ ने राज्य सरकार से इस मामले में जवाब मांगा है. हाईकोर्ट ने पूछा है कि कितने बच्चों की मौत हुई है ? किन कारणों से मौत हुई है ? कोर्ट ने राज्य सरकार को 10 फरवरी को रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिए हैं. इसके साथ ही खंडपीठ ने प्रदेश के सभी जिला अस्पतालों को कंप्यूटरीकृत कर ऑनलाइन करने के निर्देश जारी किए हैं ताकि मरीज जब अस्पताल आता है तब से उसका रिकॉर्ड मेंटेन हो सके और सही आंकड़े मिल सके.

दो अस्पतालों का औचक निरीक्षण करने के निर्देश

इसके अलावा हाईकोर्ट ने न्याय मित्र राजेंद्र सारस्वत और कुलदीप वैष्णव सहित अतिरिक्त महाधिवक्ता पंकज शर्मा को निर्देशित किया कि वे प्रदेश की किन्हीं दो अस्पतालों का औचक निरीक्षण कर एक रिपोर्ट प्रस्तुत करें. अब इस मामले में आगामी 10 फरवरी को फिर सुनवाई होगी.

राष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियों में रहा है कोटा का मामला
उल्लेखनीय है कि प्रदेश के कोटा के जेके लॉन अस्पताल में दिसंबर माह से अब तक बच्चों की मौत का आंकड़ा 111 के पार हो चुका है. वहीं बीकानेर और बूंदी समेत विभिन्न जिलों में भी बच्चों के मौत के तस्वीर भयावह है. कोटा का मामला हाल ही में राष्ट्रीय स्तर पर काफी चर्चा में रहा है. इसको लेकर जमकर सियासी घमासान मचा रहा है. वहीं नेताओं के बीच ट्वीटर वार भी खूब चला है. 

कोटा: जेके लॉन अस्पताल में 1 और नवजात ने तोड़ा दम, परिजन बिफरे, हंगामा मचा

कोटा: 110 बच्चों की मौत के बाद सरकार का एक्शन, HOD को हटाया, 4 डॉक्टर और लगाए

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कोटा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 7, 2020, 4:35 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर