होम /न्यूज /राजस्थान /जोधपुर: जय नारायण व्यास विश्वविद्यालय के कुलपति कक्ष के पास मिली मानव खोपड़ी, पुलिस कर रही जांच

जोधपुर: जय नारायण व्यास विश्वविद्यालय के कुलपति कक्ष के पास मिली मानव खोपड़ी, पुलिस कर रही जांच

FSL Team: मामले की सूचना मिलने के बाद भगत की कोठी थाना प्रभारी सुनील चरण खुद मौके पर पहुंचे और फॉरेसिंक साइंस लेबोरेट्र ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट: मुकुल परिहार

जोधपुर. जोधपुर के जय नारायण व्यास विश्वविद्यालय के केंद्रीय कार्यालय के पास मानव खोपड़ी मिलने से हड़कंप मचा है. यह मानव खोपड़ी बुधवार को कुलपति कक्ष से चंद कदम की दूरी पर मिली है. केंद्रीय कार्यालय में कार्य कर रहे कर्मचारियों और स्टाफ में खोपड़ी मिलने के बाद दहशत फैल गई है.

यहां कार्यालय में अलग-अलग गुटों में कर्मचारी इस मानव खोपड़ी के कंगाल मिलने से फैली दहशत की चर्चा करते दिखे. कई ने इसे तंत्र विद्या से जोड़ा, तो कुछ लोगों ने इसे किसी असामाजिक तत्त्व की करतूत करार दिया. इन्हीं सब बातों और चर्चाओं के बीच पुलिस को सूचित किया गया. जिसके बाद भगत की कोठी थाना प्रभारी सुनील चरण खुद मौके पर पहुंचे और फॉरेसिंक साइंस लेबोरेट्री (FSL) टीम की मौजूदगी में खोपड़ी को जांच के लिए कब्जे में लिया.

स्पेशल टीम ने सैंपल जुटाए

पुलिस की सूचना पर स्पेशल टीम भी मौके पर पहुंची और वीडियोग्राफी कर जांच के लिए सैंपल भी लिए. इस घटना के बाद विश्वविद्यालय के केंद्रीय कार्यालय में काम करनेवाले कर्मचारियों के साथ ही यहां आवासीय कॉलोनी में भी दहशत का माहौल फैल गया है. अब पुलिस को स्पेशल टीम की रिपोर्ट का इंतजार है. रिपोर्ट आने पर ही इस पूरे घटनाक्रम की स्थिति स्पष्ट होगी.

सोशल मीडिया पर वायरल

विश्वविद्यालय के केंद्रीय कार्यालय के पास मिली मानव खोपड़ी मिलने की खबर सोशल मीडिया पर तेजी से फैल गई. विश्वविद्यालय के आसपास के क्षेत्र से जुड़े लोगों में भी इस घटना को लेकर चर्चा होती रही. मानव खोपड़ी को देखने के लिए मौके पर आवासीय कॉलोनी के लोग भी मौके पर पहुंच गए.

सबसे पहले ठेकाकर्मी ने देखा

विश्वविद्यालय में संविदा पर लगे एक कार्मिक ने सबसे पहले मानव खोपड़ी देखी. उसी ने ही सबसे पहले पुलिस को इस संबंध में सूचित किया. पुलिस ने मौके पर पहुंच जांच शुरू कर दी है और स्पेशल टीम को सूचित किया. एफएसएल की टीम ने भी पूरे घटनाक्रम को बारीकी से देखा और सैंपल लिए.

Tags: Jodhpur News, Jodhpur Police, Rajasthan news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें