जोधपुर में अब ग्रामीण इलाके रेड अलर्ट पर, जिले के 50 फीसदी कोरोना मरीज यहीं से

(सांकेतिक फोटो)

(सांकेतिक फोटो)

Rajasthan Corona News: राजस्थान में कोरोना संक्रमण की पहली लहर में सुरक्षित रहे ग्रामीण इलाके अब दूसरी लहर में रेड अलर्ट पर आ चुके हैं. सरकार ने गांवों में संक्रमण की रोकथाम के लिए किए विशेष इंतजाम.

  • Share this:

जोधपुर. राजस्थान में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) की पहली लहर में सुरक्षित रहे ग्रामीण इलाके अब दूसरी लहर में रेड अलर्ट पर आ चुके हैं. जोधपुर (Jodhpur) जिले में पिछले एक सप्ताह से ग्रामीण इलाकों से ज्यादा मरीज कोरोना संक्रमित पाए जा रहे हैं. इस बीच शहर से ज्यादा ग्रामीण इलाकों में कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आने के बाद अब प्रसासन ने गांवों में पूरी ताकत झोंक दी है. जोधपुर जिले में कुल संक्रमित से आधे ग्रामीण इलाकों से सामने आ रहे हैं. जोधपुर शहर में कोरोना संक्रमण ने शहर के बाद अब जिले के गांवों में अपनी रफ्तार तेज कर दी है.

पिछले 8 से दस दिन के आंकड़ों पर नजर डालें तो 50 फीसदी मरीज ग्रामीण इलाकों से सामने आ रहे हैं. इस महीने की शुरुआत में जहां शहर व ग्रामीण इलाकों में कोरोना संक्रमित का अनुपात 70 व 30 का था. अब यह अनुपात 50-50 पर आ गया है. पिछले एक सप्ताह के आंकड़ों पर नजर डालें तो शहर से ज्यादा कोरोना संक्रमित मरीज गांवों से सामने आ रहे हैं.

गांवों में कोरोना चेन तोड़ने लगाए 7 आरएएस अधिकारी

जोधपुर जिला प्रशासन गांवों में कोरोना संक्रमण फैलने को लेकर चिंतित हो गया है. शहर में तो अस्पतालों में कोरोना संक्रमण के इलाज के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन मौजूद हैं, लेकिन ग्रामीण इलाकों में कोरोना से जंग लड़ने को संसाधन की कमी साफ दिखाई देती है. इस बीच जिला प्रशासन ने ग्रामीण इलाकों में कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने को लेकर 7 आरएएस अधिकारियों को तैनात किया है. जिला कलक्टर इंद्रजीत सिंह ने कहा कि ग्रामीण इलाकों में प्रशासन पूरी तरह से फोकस कर रहा है. 7 अधिकारियों को ग्रामीण इलाकों की जिम्मेदारी दी गई है. उन्होंने बताया कि वो खुद ग्रामीण इलाकों का दौरा कर व्यवस्था देख रहे हैं उन्होंने कहा ग्रामीण इलाकों में कोरोना की चैन तोड़नी होगी. वरना स्थिति खराब हो जाएगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज