लाइव टीवी

जोधपुर: निकाय चुनाव में बीजेपी-कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को उतारने की तैयारी

Lalit Singh | News18 Rajasthan
Updated: October 11, 2019, 3:08 PM IST
जोधपुर: निकाय चुनाव में बीजेपी-कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को उतारने की तैयारी
बीजेपी ने गत बार निगम की राजनीति में कांग्रेस को पीछे धकेलते हुए अपना बोर्ड बनाया था. फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

जोधपुर (Jodhpur) नगर निगम के चुनाव (Municipal elections) में इस बार बीजेपी और कांग्रेस (BJP and Congress) दोनों पार्टियों के वरिष्ठ नेताओं (Senior leaders) की एंट्री हो सकती है. पिछली बार बीजेपी ने निगम में कांग्रेस के 15 साल के वर्चस्व (Domination) को तोड़ने के लिए अपने सभी वरिष्ठ नेताओं को निकाय चुनाव में उतार दिया था.

  • Share this:
जोधपुर. नगर निगम के चुनाव (Municipal elections)  में इस बार बीजेपी और कांग्रेस (BJP and Congress) दोनों पार्टियों के वरिष्ठ नेताओं (Senior leaders) की एंट्री हो सकती है. पिछली बार बीजेपी ने निगम में कांग्रेस के 15 साल के वर्चस्व (Domination) को तोड़ने के लिए अपने सभी वरिष्ठ नेताओं को निकाय चुनाव में उतार दिया था. बीजेपी के पूर्व मंत्री से लेकर राजसीको अध्यक्ष तक निकाय चुनाव में कूद पड़े थे तब जाकर 15 साल बाद पार्टी का बोर्ड (BJP'S board) बना था. इस बार फिर बीजेपी अपने बोर्ड को बचाने के लिए और कांग्रेस उसे हथियाने (Grabbing) के लिए अपने अपने वरिष्ठ नेताओं को चुनावी मैदान में उतार सकती है.

निगम में कांग्रेस का वर्चस्व तोड़ा था
सूबे के सीएम अशोक गहलोत के गृहनगर जोधपुर में गत बार बीजेपी का बोर्ड बना था. गहलोत के गढ़ को भेदने के लिए बीजेपी ने गत बार प्रदेश उपाध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री राजेंद्र गहलोत, राजसिको के पूर्व अध्यक्ष मेघराज लोहिया और घनश्याम ओझा जैसे कई नेताओं को चुनाव मैदान में उतारा था. उसके बाद बीजेपी ने निगम की राजनीति में कांग्रेस को पीछे धकेलते हुए अपना बोर्ड बनाया था.

फिर से वरिष्ठों को चुनाव मैदान में उतारने की तैयारी

इस बार फिर बीजेपी निगम में अपने वर्चस्व को बनाए रखने के लिए सभी वरिष्ठ नेताओं को झौंकने की तैयारी कर रही है. हालांकि अभी तक यह तय नहीं है कि इस बार महापौर का चुनाव सीधे जनता द्वारा किया जाएगा या फिर पार्षद दल महापौर तय करेगा. लेकिन पार्टी के वरिष्ठ नेता प्रदेश संगठन के आदेश पर फिर से चुनावी मैदान में उतरने को तैयार हैं.

कांग्रेस भी चल रही है बीजेपी के नक्शे कदम पर
वहीं निगम की राजनीति में गत बार मात खा चुकी कांग्रेस भी इस बार पूरे जोश-खरोश के साथ अपना पुराना वैभव पाने के लिए बेताब हो रही है. निगम में अपनी खोई प्रतिष्ठा पुन: प्राप्त करने के लिए वह भी बीजेपी के नक्शे कदम पर चलने को तैयार हो रही है. गत बार कांग्रेस ने वरिष्ठ नेताओं में से महज जेडीए के पूर्व चेयरमैन राजेंद्र सोलंकी को मैदान में उतारा था. इस बार कांग्रेस के अन्य वरिष्ठ नेताओं को भी मैदान में उतारने की तैयारी की जा रही है.
Loading...

इन वरिष्ठ नेताओं पर लगाया जा सकता है दांव
कांग्रेस के संभाग प्रवक्ता डॉ. अजय त्रिवेदी के अनुसार उनके वरिष्ठ नेता भी जरुरत पड़ने पर निगम चुनाव में उतरने को तैयार हैं. इनमें राजेंद्र सोलंकी, अनिल टाटिया और गणपत सिंह चौहान जैसे वरिष्ठ नेता भी इस बार चुनावी मैदान में उतर सकते हैं. प्रदेश में इस बार अशोक गहलोत की सरकार है. लिहाजा कांग्रेस नगर निगम चुनाव में हर हाल में वापस अपना बोर्ड बनाना चाहेगी.

RCA विवाद से डरे वरिष्ठ कांग्रेस नेता, उपचुनाव पर असर की सता रही चिंता

स्थानीय निकाय प्रमुख जनता सीधे चुनेंगी या पार्षद ? जल्द होगा फैसला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जोधपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 11, 2019, 2:59 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...