कांकाणी हिरण शिकार केस: सरकार की अपील पर HC में हुई सुनवाई, सितारों की बढ़ सकती है मुसीबतें

कांकाणी हिरण शिकार मामले (Kankani deer hunting case) में सीजेएम ग्रामीण कोर्ट से बरी हुए सह-आरोपियों की मुसिबतें बढ़ सकती हैं. मामले में सह आरोपियों (Co-accused) को बरी किए जाने के खिलाफ राज्य सरकार (Rajasthan government) की ओर से पेश की गई लीव टू अपील पर सोमवार को हाईकोर्ट (High Court) कोर्ट में सुनवाई हुई.

Chandra Shekhar Vyas | News18 Rajasthan
Updated: August 19, 2019, 12:49 PM IST
कांकाणी हिरण शिकार केस: सरकार की अपील पर HC में हुई सुनवाई, सितारों की बढ़ सकती है मुसीबतें
फाइल फोटो।
Chandra Shekhar Vyas | News18 Rajasthan
Updated: August 19, 2019, 12:49 PM IST
कांकाणी हिरण शिकार मामले (Kankani deer hunting case) में सीजेएम ग्रामीण कोर्ट से बरी हुए सह-आरोपियों की मुसिबतें बढ़ सकती हैं. मामले में सह आरोपियों (Co-accused) को बरी किए जाने के खिलाफ राज्य सरकार (Rajasthan government) की ओर से पेश की गई लीव टू अपील पर सोमवार को हाईकोर्ट (High Court) जस्टिस मनोज कुमार गर्ग की कोर्ट में सुनवाई हुई. सुनवाई के दौरान मामले के सभी सह आरोपियों की ओर से अधिवक्ताओं ने वकालतनामें पेश किए. इस मामले की सर्विस अब पूरी हो चुकी है। इस पर आगामी सुनवाई 16 सितंबर को मुकर्रर की गई है.

सहआरोपियों के अधिवक्ता ने पेश किया वकालतनामा
कांकाणी हिरण शिकार मामले में सीजेएम ग्रामीण कोर्ट ने संदेह का लाभ देते हुए सह आरोपी फिल्म अभिनेता सैफ अली खान, अभिनेत्री नीलम, तब्बू, सोनाली बेंद्रे और दुष्यंत सिंह को बरी कर दिया था. उसके बाद सरकार की ओर से हाईकोर्ट में लीव टू अपील पेश की गई थी. उस पर सोमवार को सुनवाई के दौरान अधिवक्ता केके व्यास ने अभिनेता सैफ अली खान, अभिनेत्री नीलम व सोनाली बेंद्रे की ओर से वकालतनामा पेश किया.

1998 में हुआ था कांकाणी हिरण शिकार मामला

उल्लेखनीय है कि वर्ष 1998 में फिल्म 'हम साथ साथ हैं' की शूटिंग के दौरान फिल्म अभिनेता सलमान खान व सह आरोपियों ने 12 व 13 अक्टूबर की मध्य रात्रि में कांकाणी गांव की सरहद पर दो कृष्ण मृगों का शिकार किया था. उसके बाद इस मामले में सुनवाई करते हुए सीजेएम ग्रामीण कोर्ट ने करीब दो दशक बाद सलमान खान को 5 साल की सजा सुनाई थी, जबकि सह-आरोपियों को संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया था. उसके खिलाफ राजस्थान सरकार ने राजस्थान हाईकोर्ट में एक अपील पेश की है.

सह आरोपियों को भरने पड़ पर सकते हैं जमानती मुचलके 
इस अपील के साथ ही कहीं ना कहीं सह आरोपियों की मुसीबतें बढ़ती नजर आ रही है. अब जल्द कोर्ट में केस डायरी आने के बाद बहस शुरू होगी. सभी सह-आरोपियों को कोर्ट में पेश होकर जमानती मुचलके भी भरने पड़ पर सकते हैं.
Loading...

सीएम गहलोत की बड़ी घोषणा, जघन्य अपराध मॉनिटरिंग यूनिट बनेगी

मेयर चुनाव: जयपुर में कांग्रेस के दावेदारों की लंबी कतार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जोधपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 19, 2019, 12:47 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...