होम /न्यूज /राजस्थान /चीन-पाकिस्तान के खिलाफ भारत को 'प्रचंड' ताकत देगा नया हेलीकॉप्टर, जानें खूबियां

चीन-पाकिस्तान के खिलाफ भारत को 'प्रचंड' ताकत देगा नया हेलीकॉप्टर, जानें खूबियां

National News: मेड-इन-इंडिया लाइट कॉम्बेट हेलिकॉप्टर 'प्रचंड' भारतीय वायुसेना में शामिल हुआ. (फोटो ANI)

National News: मेड-इन-इंडिया लाइट कॉम्बेट हेलिकॉप्टर 'प्रचंड' भारतीय वायुसेना में शामिल हुआ. (फोटो ANI)

Indian Air Force: भारतीय वायुसेना की ताकत सोमवार को और बढ़ गई. लाइट कॉम्बेट हेलीकॉप्टर (LCH) को राजस्थान के जोधपुर बेस ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

वायुसेना में शामिल हुआ एलसीएच ‘प्रचंड’
पाकिस्तान बॉर्डर के पास होगी पहली तैनाती
हर तरीके से, हर वक्त हमला करने में सक्षम

जोधपुर. भारतीय वायुसेना में सोमवार को लाइट कॉम्बेट हेलीकॉप्टर (LCH) शामिल किया गया. दुश्मनों को थर्राने के लिए इसका नाम ही ‘प्रचंड’ रखा गया है. इसके शामिल होने से अब वायुसेना की ताकत कई गुना बढ़ गई है. पूरी तरह स्वदेशी प्रचंड को राजस्थान के जोधपुर एयरबेस में कार्यक्रम आयोजित कर शामिल किया गया. इस मौके पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा- ‘योद्धाओं की भूमि राजस्थान में इस एलसीएच को शामिल किया गया. इसके लिए नवरात्रि से अच्छा और कोई समय नहीं हो सकता था.’

गौरतलब है कि इसी साल मार्च में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में सुरक्षा को लेकर कैबिनेट की बैठक हुई थी. इस बैठक में कैबिनेट ने 15 एलसीएच लिमिटेड सीरीज बनाने के लिए 3887 करोड़ रुपये और इससे जुड़े इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए 377 करोड़ रुपये मंजूर किए. सरकार 15 में से 10 एलसीएच वायुसेना और 5 थल सेना को प्रदान करेगी. बताया जाता है कि वायुसेना और थल सेना को आने वाले वर्षों में 160 एलसीएच की जरूरत है. अकेले आर्मी को ही 95 हेलीकॉप्टर की जरूरत है. आर्मी इन्हें ऊंची पहाड़ी सीमाओं में तैनात करेगी. आर्मी को उम्मीद है कि अगले महीने उसके पास भी एलसीएच होंगे.

रेस्क्यू ऑपरेशन में भी करेगा मदद
इस एलसीएच को हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स ने तैयार किया है. इसका वजन 5.5 टन है. इसकी शक्ति को अजेय रखने के लिए इसमें डबल शक्ति इंजन लगाए गए हैं. इसका उपयोग युद्ध के साथ-साथ देश में हो रहे विद्रोह और रेस्क्यू ऑपरेशन में भी किया जा सकेगा. यह दुश्मनों के रिमोट से चलने वाले विमानों के लिए भी काल होगा. बता दें, वायुसेना में शामिल करने से पहले इन हेलीकॉप्टर को लद्दाख और रेगिस्तान के ऊपर उड़ा कर देखा जा चुका है. इसे उस इलाके में भी उड़ाकर देखा गया है, जो चीन सीमा के पास है.

यह हैं खूबियां

  • एलसीएच पूरी तरह स्वदेशी. बहुत तेजी से करता है हमला
  • इसे हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड ने किया तैयार
  • इस हेलीकॉप्टर से एयर टू एयर मिसाइल फायर की जा सकती है
  • इसमें 20 एमएम की गन भी लगी है
  • इस हेलीकॉप्टर से 70 एमएम का रॉकेट भी फायर किया जा सकता है
  • यह हेलीकॉप्टर हाई एल्टीट्यूड और सियाचिन में भी उड़ान भर सकता है
  • यह जमीन और हवा में किसी भी लक्ष्य को आसानी से भेद सकता है

Tags: Delhi news, Indian air force, Ministry of defence, Rajnath Singh

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें