लाइव टीवी

Lockdown-4.0: फिर बिखरने लगी जोधपुरी पत्थर की चमक, करीब 1.5 लाख श्रमिकों की उम्मीदें जुड़ी हैं इससे
Jodhpur News in Hindi

Lalit Singh | News18 Rajasthan
Updated: May 19, 2020, 7:26 PM IST
Lockdown-4.0: फिर बिखरने लगी जोधपुरी पत्थर की चमक, करीब 1.5 लाख श्रमिकों की उम्मीदें जुड़ी हैं इससे
प्रदेश में पत्थर उद्योग में जोधपुर शहर बड़ा हब है. शहर से सटे इस इलाके में 6500 पत्थर खानें मौजूद हैं.

देश में लॉकडाउन-3 (Lockdown) के खत्म होते ही जोधपुरी पत्थर की चमक फिर से लौट आई है. विश्वविख्यात जोधपुरी पत्थर (Jodhpuri stone) उद्योग फिर से गुलजार होने लग गया है.

  • Share this:
जोधपुर. देश में लॉकडाउन-3 (Lockdown) के खत्म होते ही जोधपुरी पत्थर की चमक फिर से लौट आई है. विश्वविख्यात जोधपुरी पत्थर (Jodhpuri stone) उद्योग फिर से गुलजार होने लग गया है. हालांकि खनन क्षेत्र में मजदूरों की कमी देखी जा रही है, लेकिन आसपास के ग्रामीणों के काम पर लौटने से खनन क्षेत्र फिर चमकने लगा है.

करीब 2 माह बाद फिर लौटी रौनक
सनसिटी जोधपुर शहर स्थित सूरसागर चौपड़ से खनन क्षेत्र में करीब 2 माह बाद फिर रौनक लौटने लगी है. शहर की पत्थर की खानें फिर छितर का पत्थर उगलने लगी है. खानों में हथौड़ी व छेनी की आवाजें सुनाई देने लगी है. मुंह पर कपड़ा बांधे सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए मजदूर वापस काम में जुट गए हैं. खनन क्षेत्र के मालिक घनश्याम पंवार ने बताया कि दो महीने बाद अब राज्य सरकार की अनुमति से खनन कार्य शुरू कर दिया गया है. हालांकि मजदूरों की कमी होने से खनन कार्य अभी तक पूरी तरह रफ़्तार नहीं पकड़ पा रहा है. लेकिन उम्मीद है जल्दी सबकुछ सुचारू हो जाएगा.

डेढ़ लाख लोगों को मिलता है रोजगार



प्रदेश में पत्थर उद्योग में जोधपुर शहर बड़ा हब है. शहर से सटे इस इलाके में 6500 पत्थर खानें मौजूद हैं. इन खानों में करीब डेढ़ लाख मजदूर काम करते रहे हैं. जोधपुर शहर स्थित सूरसागर, चौपड़, काली बेरी और भूरी बेरी इलाकों में 6500 खनन क्षेत्र है. साथ ही जिले के बालेसर क्षेत्र में भी 6500 खनन उद्योग है. इन सभी खानों में मजदूरों के अलावा ट्रक ड्राइवर और जेसीबी चालक समेत करीब डेढ़ लाख लोगों को इनमें रोजगार मिलता है.



राज्य सरकार को रोजाना मिलता है 20 लाख का राजस्व
जोधपुर जिले में पत्थर के खनन क्षेत्र से राज्य सरकार को प्रतिदिन करीब 20 लाख का राजस्व मिलता है. करीब 2 माह से कामकाज बंद होने से सरकार को अकेले इस पत्थर उद्योग से ही करोड़ों का नुकसान हो चुका है.

Locust Terror: राजस्थान में इस बार खतरा 2 से 3 गुना ज्यादा, सरकार चिंतित

राजस्‍थान में सिर्फ एक ग्रीन जोन, यहां देखें रेड और ऑरेंज जोन की लिस्‍ट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जोधपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 19, 2020, 7:12 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading