जोधपुर में लोक अदालत का आयोजन, 1438 प्रकरणों का किया गया निस्तारण

जोधपुर में लोक अदालत का किया गया आयोजन. इस दौरान भारी संख्या में केस निपटारे के लिए पहुंचे लोग. फोटो-(ईटीवी)
जोधपुर में लोक अदालत का किया गया आयोजन. इस दौरान भारी संख्या में केस निपटारे के लिए पहुंचे लोग. फोटो-(ईटीवी)

जोधपुर हाईकोर्ट और अधीनस्थ अदालतों में लोक अदालत का आयोजन किया गया. इस दौरान कुल 1438 प्रकरणों का निस्तारण किया गया.

  • Share this:
राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण एवं राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार बैंक प्रकरण, एनआई एक्ट प्रकरण एवं अन्य वसूली के प्रकरणों तथा प्री-लिटिगेशन के प्रकरणों के निस्तारण को लेकर शनिवार हाईकोर्ट और अधीनस्थ अदालतों में लोक अदालत का आयोजन किया गया.

राष्ट्रीय लोक अदालत में कुल 1438 प्रकरणों का निस्तारण किया गया. राजस्थान हाईकोर्ट के मध्यस्थता केन्द्र में आयोजित लोक अदालत में पूर्व जज जेडी थानवी और सदस्य रामसुख शर्मा ने सुनवाई के बाद राजीनामें का प्रयास किया.

राष्ट्रीय लोक अदालत के प्रभारी अधिकारी बन्नालाल जाट ने बताया कि शनिवार को आयोजित लोक अदालत में बैंकों से संबंधित प्रकरणों को निपटाने में पक्षकारों ने खूब पहल की.



उन्होंने बताया कि इस लोक अदालत में कुल 4027 प्रकरण रखे गए थे, जिनमें से 1438 प्रकरणों का राजीनामें के जरिए निस्तारण किया गया और इनमें 3 करोड़ 91 लाख 54 हजार 966 रुपए का अवॉर्ड पारित किया गया.
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के पूर्णकालिक सचिव प्रेमरतन ओझा ने बताया कि जोधपुर महानगर न्यायक्षेत्र में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में कुल 5 बैंचों का गठन किया गया था, जिसमें सेवानिवृत न्यायाधीश मुरलीधर वैष्णव, रामचंद्र सरगरा, एस.एन.ओझा, भलाराम परमार ने अध्यक्ष तथा अधिवक्ता प्रमिला आचार्य, माणकलाल चाण्डक, दिव्या शर्मा, सीताराम बेनीवाल, रंजना सिंह मेड़तिया, अशोक जोशी, राजेंद्र दाधीच, शीतल शर्मा, श्याम सिंह गादेरी, लक्ष्मी रामावत आदि ने सदस्य के रूप में भाग लिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज