अपना शहर चुनें

States

अशोक गहलोत के गढ़ में BJP का ये नेता दे रहा चुनौती, जानें कौन हैं गजेंद्र सिंह शेखावत

गजेंद्र सिंह शेखावत(फोटो-एफबी से साभार)
गजेंद्र सिंह शेखावत(फोटो-एफबी से साभार)

राजस्थान में तीन बार सीएम की कुर्सी पर बैठने वाले अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत और कांग्रेस के गढ़ में उन्हें बीजेपी के टिकट पर गजेंद्र सिंह शेखावत ने ताल ठोकी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 29, 2019, 5:33 AM IST
  • Share this:
राजस्थान की जोधपुर लोकसभा सीट और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के गढ़ कहे जाने वाले क्षेत्र में सियासी घमासान शुरू हो गया है. तीन बार सीएम की कुर्सी पर बैठने वाले गहलोत के बेटे वैभव गहलोत को कांग्रेस ने यहां मैदान में उतारा है, लेकिन यहां गहलोत की साख को चुनौती देने बीजेपी के टिकट पर केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने यहां से ताल ठोकी है. शेखावत कांग्रेस की सुरक्षित कही जाने वाली इस सीट पर पिछले चुनाव में जीत दर्ज करवा चुके हैं.

ये भी पढ़े- बीजेपी प्रत्याशी गजेंद्र सिंह शेखावत का एक नामांकन खारिज

गजेंद्र सिंह शेखावत को कुछ समय पहले ही राजस्थान में बीजेपी की कमान सौंपी जानी लगभग तय थी. उन्हें उपचुनाव में पार्टी की शिकस्त के बाद प्रदेशाध्यक्ष पद से हटाए गए अशोक परनामी का स्थान दिया जाना था. हालांकि पार्टी की आंतिरिक सियासत के चलते कई दिन चली कशमकश के बाद मदनलाल सैनी को यह जिम्मेदारी सौंपी गई.



ये भी पढ़ें- वैभव गहलोत के प्रचार में सक्रिय हुए राजपूत नेता
gajendra singh shekhawat
गजेंद्र सिंह शेखावत(फोटो-एफबी से साभार)


ये भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव: वैभव की लॉन्चिंग के वक्त यूं नजर आया गहलोत परिवार

पिछले साल सितंबर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शेखावत को अपने मंत्रिमंडल में शामिल किया था. तब मोदी सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार में 9 नए चहरों को जगह दी गई है. इनमें जोधपुर सांसद गजेंद्र सिंह शेखावत को कृषि राज्यमंत्री बनाया गया था.


सीकर का जन्म, जोधपुर में छात्र राजनीति

तीन अक्टूबर 1967 को सीकर के मेहरोली गांव में जन्मे गजेंद्र सिंह शेखावत के पिता शंकर सिंह शेखावत जलदाय विभाग में वरिष्ठ अधिकारी के पद से सेवानिवृत्त हुए. पिता की सर्विस राजस्थान भर में अनेक स्थानों पर रही, ऐसे में उनकी स्कूली शिक्षा कई स्थानों पर हुई. स्कूली शिक्षा के बाद कॉलेज में कदम रखा तो छात्र राजनीति में सक्रिय रहे. और वर्तमान में जोधपुर सांसद हैं.

गजेंद्र सिंह शेखावत(फोटो-एफबी से साभार) gajendra singh shekhawat
गजेंद्र सिंह शेखावत(फोटो-एफबी से साभार)


दर्शनशास्त्र में एमए है शेखावत

मंत्री शेखावत ने जोधपुर के जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय में वर्ष 1992 में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के टिकट पर अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ा और भारी मतों से जीत हासिल की. दर्शनशास्त्र में एमए कर चुके शेखावत प्रखरवक्ता हैं. उन्होंने अनेक वाद-विवाद प्रतियोतिगतों में विवि का प्रतिनिधित्व किया.

ये भी पढ़ें- राजनीति नहीं, इस वजह से चर्चित हैं वैभव गहलोत की पत्नी हिमांशी!
आरएसएस के रहे हैं खास




गजेंद्र सिंह छात्र राजनीति से ही संघ परिवार से जुड़े रहे हैं और उन्हें संघ का खास माना जाता रहा है. सांसद ने छात्र जीवन के बाद समाजसेवा को अपनाया और स्वदेशी जागरण मंच व सीमा जन कल्याण समिति में कार्य किया. वर्ष 2014 के लोकसभा में चुनाव जोधपुर संसदीय सीट से भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ा. शेखावत ने कांग्रेस उम्मीदवार चन्द्रेश कुमारी को करारी मात देकर 4,01,051 मतों से करारी शिकस्त दी. इसके बाद मोदी टीम के साथ जुड़कर सक्रियता से काम किया और जोधपुर ही नहीं बल्कि पूरे मारवाड़ और राजस्थान में लोगों का दिल जीता. शेखावत को हाल ही में किसान मोर्चा का राष्ट्रीय महामंत्री बनाया गया.

ये भी पढ़ें- Analysis: क्या वैभव अपने पिता अशोक गहलोत की चाहत पूरी करेंगे?

gajendra singh shekhawat
गजेंद्र सिंह शेखावत(फोटो-एफबी से साभार).


Know Your Leader:

नाम- गजेंद्र सिंह शेखावत
पिता- शंकर सिंह शेखावत
जन्म- 3 अक्टूबर 1967
विवाह- 24 नवंबर 1993
पत्नी- नौनंद कंवर
संतान- एक बेटा, दो बेटियां
शिक्षा- एम.ए.,एमफिल
व्यवसाय- बिजनेसमैन
पता- 34-ए, अजीत कॉलोनी, जोधपुर
पार्टी- सदस्य, बीजेपी प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य
सांसद- लोकसभा चुना, मई, 2014

ये भी पढ़ें- केंद्र की सियासत तक पहुंचना चाहती हैं ये राजस्थानी महिलाएं

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज