Home /News /rajasthan /

अशोक गहलोत के मुखर विरोधी थे महिपाल मदेरणा, कानून का था विशेष ज्ञान; थर्राते थे अधिकारी

अशोक गहलोत के मुखर विरोधी थे महिपाल मदेरणा, कानून का था विशेष ज्ञान; थर्राते थे अधिकारी

महिपाल मदेरनणा, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के सबसे मुखर विरोधियों में से एक थे.

महिपाल मदेरनणा, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के सबसे मुखर विरोधियों में से एक थे.

Mahipal Maderna death: महिपाल मदेरणा 19 वर्ष तक जिला प्रमुख के पद पर काबिज रहे. राजनीति में जिला प्रमुख के पद पर उनकी जीत का तिलिस्म कोई नहीं तोड़ पाया. लगातार इस पद पर काबिज रहे. अपने राजनीतिक जीवन में महिपाल मदेरणा दो बार विधायक रहे.

अधिक पढ़ें ...

जोधपुर. राजस्थान कांग्रेस के पितामह परसराम मदेरणा के पुत्र राजस्थान सरकार के पूर्व जल संसाधन मंत्री महिपाल मदेरणा का रविवार सुबह निधन हो गया. वे लंबे समय से कैंसर की बीमारी से लड़ रहे थे. राजस्थान सरकार के पूर्व जल संसाधन मंत्री महिपाल मदेरणा भंवरी देवी अपहरण हत्या मामले में चर्चा में रहे थे. गांव और किसान की राजनीति में अग्रणी नेता मदेरणा का जन्म 5 मार्च 1952 को हुआ. उन्होंने 69 वर्ष की आयु में अपनी जीवन यात्रा समाप्त की. मदेरणा ने अपनी शिक्षा जय नारायण व्यास विश्वविद्यालय से ली थी और यहीं से उन्होंने अपने राजनीतिक सफर का आगाज किया था. उनकी बेटी दिव्या मदेरणा ओसियां विधायक हैं और उनकी पत्नी लीलादेवी जोधपुर जिला प्रमुख के पद पर हाल ही में निर्वाचित हुई थीं.

महिपाल हमेशा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के सबसे मुखर विरोधियों में से एक थे. कई मुद्दों पर उन्होंने खुलकर गहलोत का विरोध किया. महिपाल मदेरणा बहुचर्चित भंवरी देवी अपहरण हत्या मामले में मुख्य आरोपी के तौर पर 10 वर्ष तक जेल में रहे. हाल ही में उन्हें जेल से जमानत मिली थी. यही चूक उन्हें भारी पड़ी. भवरी देवी हत्याकांड ने उनका राजनीतिक करियर खत्म कर दिया.

19 वर्ष तक रहे जिला प्रमुख
महिपाल मदेरणा 19 वर्ष तक जिला प्रमुख के पद पर काबिज रहे. राजनीति में जिला प्रमुख के पद पर उनकी जीत का तिलिस्म कोई नहीं तोड़ पाया. लगातार इस पद पर काबिज रहे. अपने राजनीतिक जीवन में महिपाल मदेरणा दो बार विधायक रहे जिसमें एक बार उनको जल संसाधन व जलदाय मंत्री के पद भार को बखूबी सम्भाला था.

कानून का था विशेष ज्ञान, थर्राते थे अधिकारी
महिपाल मदेरणा ने अपनी शिक्षा जय नारायण व्यास विश्वविद्यालय से प्राप्त की. उन्होंने बीए, एलएलबी तक पढ़ाई की. महिपाल मदेरणा को पढ़ाई का बहुत शौक था. वह अक्सर बैठे-बैठे विभिन्न कानूनों को पढ़ते रहते थे. विशेषकर उनकी पकड़ प्रशासनिक विधि पर थी जिसके चलते किसी भी बड़े अधिकारी की गलतियों को उनके सामने ही दुरुस्त करने की क्षमता रखते थे. कई बार अधिकारियों को उनके सामने जाने में भी डर लगता था.

Tags: Jodhpur News, Rajasthan news, Rajasthan news in hindi

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर