लाइव टीवी
Elec-widget

पाकिस्तान की सीमा के पास भारतीय सेना का बड़ा युद्धाभ्यास, रणबांकुरे दिखा रहे रण कौशल

Lalit Singh | News18 Rajasthan
Updated: November 15, 2019, 2:51 PM IST
पाकिस्तान की सीमा के पास भारतीय सेना का बड़ा युद्धाभ्यास, रणबांकुरे दिखा रहे रण कौशल
करीब 3 माह से चल रहे इस युद्धाभ्यास के दौरान सेना के जवान शुक्रवार को चंद घंटों में दुश्मन के इलाकों पर कब्जा करने का पराक्रम दिखाएंगे.

भारतीय थल सेना (Indian army) की सबसे ताकतवर 21 स्ट्राइक कोर (21 strike corps) पाकिस्तानी की सीमा (Pakistani border) के पास युद्धाभ्यास (Maneuvers) में जुटी है. भारतीय सेना पहली बार इस युद्धाभ्यास में शूटर ग्रिड सेंसर (Shooter grid sensor) का प्रयोग कर रही है.

  • Share this:
जोधपुर. भारतीय थल सेना (Indian army) की सबसे ताकतवर 21 स्ट्राइक कोर (21 strike corps) पाकिस्तानी की सीमा (Pakistani border) के पास युद्धाभ्यास (Maneuvers) में जुटी है. इस युद्धाभ्यास में भारतीय सेना के 40 हजार जवान ऑपरेशन सिंधु सुदर्शन चक्र (Operation Sindhu Sudarshan Chakra) के तहत चंद घंटों में दुश्मन पर हमला (Attack) कर उसके इलाकों को अपने कब्जे में ले लेंगे. भारतीय सेना पहली बार इस युद्धाभ्यास में शूटर ग्रिड सेंसर (Shooter grid sensor) का प्रयोग कर रही है.

12 घंटे तक युद्ध लड़ने की क्षमता को मैदान में परखा जाएगा
करीब 3 माह से चल रहे इस युद्धाभ्यास के दौरान सेना के जवान शुक्रवार को चंद घंटों में दुश्मन के इलाकों पर कब्जा करने का पराक्रम दिखाएंगे. अभ्यास पाकिस्तान की सीमा से सटे बाड़मेर जिले में किया जा रहा है. सिंधु सुदर्शन चक्र ऑपरेशन में लगातार 12 घंटे तक युद्ध लड़ने की क्षमता को मैदान में परखा जाएगा. युद्धाभ्यास के दौरान मैकेनाइज्ड फोर्स पहली बार शूटर ग्रिड सेंसर का प्रयोग करने जा रही है. इसके तहत युद्ध क्षेत्र में इजराइली यूएवी हेरोन, हेलिकॉप्टर व सैटेलाइट से टारगेट को ग्रिड की तस्वीरें भेजी जाएगी.

'रुद्र' का खास तौर से प्रयोग किया जा रहा है

युद्धाभ्यास में आर्मर्ड, मैकेनाइज्ड इन्फेंट्री, इन्फेंट्री, आर्टिलरी, आर्मी एयर डिफेंस, आर्मी एविएशन के अटैक हेलिकॉप्टर, वायु सेना के संसाधनों और स्पेशल फोर्स का खास तौर पर प्रदर्शन किया जाएगा. संयुक्त हथियारों का सामंजस्य k-9 वज्र (सेल्फ प्रोपेल्ड आर्टिलरी गन सिस्टम) और स्वदेशी एडवांस लाइट हेलिकॉप्टर (वेपन सिस्टम इंटीग्रेटेड) 'रुद्र' का खास तौर से प्रयोग किया जा रहा है.

पिछले दिनों भारतीय रणबांकुरों ने दिखाई थी अपनी क्षमता
गौरतलब है कि पिछले दिनों सेना ने भारत-पाकिस्तान अंतररसष्ट्रीय बॉर्डर से सटे जैसलमेर जिले में युद्धाभ्यास किया था. यह युद्धाभ्यास पोकरण फील्ड फायरिंग रेंज में दो दिन तक चला था. उससे पहले रेगिस्तान के धोरों में वॉर गेम एक्सरसाइज का आयोजन किया गया था. वॉर गेम एक्सरसाइज में भारत सहित 8 देशों के सैनिकों ने अंतरराष्ट्रीय आर्मी स्काउट मास्टर्स प्रतियोगिता में अपने युद्ध कौशल का प्रदर्शन कर अपनी क्षमता का लोहा मनवाया था. इस प्रतियोगिता के दूसरे चरण में भारतीय सैनिकों ने चीन सहित 7 देशों को पछाड़ा था. भारतीय सैनिक इस प्रतियोगिता में प्रथम स्थान पर रहे थे, जबकि चीन 7वें नंबर पर रहा था.
Loading...

29 नवंबर से सेना करेगी दूसरा बड़ा युद्धाभ्यास, पहली बार शामिल होंगे ये हथियार

BJP प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया की बढ़ाई जाएगी सुरक्षा ! 3 PSO देने पर विचार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जोधपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 15, 2019, 2:48 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...