मामा ने भांजे को घर बुलाकर पेड़ से बांधा, इतनी की पिटाई कि हो गई मौत

जोधपुर जिले के देचू थाना क्षेत्र के गोदेलाई गांव में एक मामा अपने भांजे को फोन करके घर बुलाया और पेड़ से बांधकर इतना पीटा कि अस्पताल पहुंचने के पहले ही उसकी मौत हो गई.

Chandra Shekhar Vyas | News18 Rajasthan
Updated: July 31, 2019, 3:20 PM IST
मामा ने भांजे को घर बुलाकर पेड़ से बांधा, इतनी की पिटाई कि हो गई मौत
इसी थाना क्षेत्र में हुई यह वारदात
Chandra Shekhar Vyas | News18 Rajasthan
Updated: July 31, 2019, 3:20 PM IST
जोधपुर जिले के देचू थाना अंतर्गत चामू के गोदेलाई गांव में मामा व एक अन्य ने मिलकर अपने ही भांजे को फोन करके घर बुलाया, फिर बंधक बनाकर इतना पीटा कि अस्पताल ले जाने से पहले ही उसकी मौत हो गई. देचू थाने में मृतक के भाई ने नामजद मामला दर्ज कराया है. थानाधिकारी जयकिशन सोनी ने बताया कि सुख मंडला निवासी टीकूराम ने रिपोर्ट पेश कर बताया कि 29 जुलाई को मेरे भाई असलाराम उर्फ अशोक कुमार को भीखाराम निवासी गोदेलाई चामू ने फोन करके गोदेलाई बुलाया और मेरे भाई असलाराम उर्फ अशोक कुमार को गोदेलाई निवासी मगाराम व प्रेमाराम दोनों पुत्र हीराराम जाट व असलाराम पुत्र भीखाराम ने बंध बना लिया, उसके बाद रात भर अपने घर के पीछे बबूल के पेड़ से बांधकर लाठियों से पीटते रहे. इस घटना की सूचना मिलने पर चामू चौकी प्रभारी को फोन करके जानकारी दी. वे भाई को चामू अस्पताल लाए जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

पुलिस जब तक उसे लेकर अस्पताल पहुंची उसके पहले ही मौत हो चुकी थी


घटना की सूचना मिलने पर बालेसर सीओ सिमरथाराम पटेल, थानाधिकारी जयकिशन सोनी मय जाब्ता घटनास्थल का मौका मुआयना किया.

मामा ने समझाने के लिए बुलाया था, विवाद बढ़ गया

बताया जा रहा है कि मामा भाणजे में पुरानी रंजिश चल रही थी. रात भर जब वह वापस नहीं आया तो परिजनों को चिंता हुई. उन्होंने मामा को फोन किया तो उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया. ऐसे में उनका शक बढ़ गया. सुबह उसका भाई गोदेलाई आया तब वह पेड़ के नीचे बंधा बेसुध पड़ा था. उसने चामू पुलिस चौकी प्रभारी राणीदानसिंह को इसकी सूचना दी. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घायल पड़े असलाराम उर्फ अशोक की रस्सियां खोलकर चामू अस्पताल पहुंचाया. जब उसे गाड़ी में डाला था तब तक उसकी सांसें चल रही थी लेकिन अस्पताल पहुंचने से पहले उसकी मौत हो गई थी.

अस्पताल पहुंचने के पहले ही तोड़ दिया दम 

डॉक्टरों ने देखते ही उसे मृत घोषित कर दिया. मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने शव परिजनों को सौंप दिया. यह भी जानकारी सामने आई कि किसी विवाद को लेकर मामा ने उसे समझाने के लिए बुलाया था. वहां विवाद बढ़ गया. ग्रामीण जिला पुलिस अधीक्षक राहुल बारहट ने देचू थाना अधिकारी जय किशन सोनी के नेतृत्व में टीम बनाकर आरोपियों को तलाश करने के निर्देश दिए हैं.
First published: July 31, 2019, 3:20 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...