अपना शहर चुनें

States

जोधपुर: BSF के SI की पिटाई पर छलका मंत्री प्रताप सिंह का दर्द, पुलिस और जनता को दी यह नसीहत

सिंह ने कहा कि पब्लिक की भी यह जिम्मेदारी है कि अगर 5-10 लोग मिलकर सरे राह किसी व्यक्ति को मार रहे हैं तो वे उन्हें रोकें. इससे बदमाशों के हौसले पस्त हो जाएंगे और उन्हें भागना पड़ेगा.
सिंह ने कहा कि पब्लिक की भी यह जिम्मेदारी है कि अगर 5-10 लोग मिलकर सरे राह किसी व्यक्ति को मार रहे हैं तो वे उन्हें रोकें. इससे बदमाशों के हौसले पस्त हो जाएंगे और उन्हें भागना पड़ेगा.

जोधपुर में बीएसएफ (BSF) के सब इंस्पेक्टर की बदमाशों द्वारा निर्ममता से की गई पिटाई से आहत मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास (Pratap Singh Khachariwas) ने पुलिस और जनता को नसीहत दी है कि वे ऐसे मामलाें में मूक दर्शक ना बने, बल्कि आगे आयें.

  • Share this:
जोधपुर. जिले के पीपाड़ थाना इलाके में चलती बस से बीएसएफ (BSF) के एक सब इंस्पेक्टर को घसीटकर सड़क पर उतारने और उसके साथ निर्दयतापूर्वक मारपीट करने के मामले को लेकर परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास (Pratap Singh Khachariwas) का दर्द छलका है. सब इंस्पेक्टर से मारपीट का वीडियो वायरल होने के बाद मंत्री खाचरियावास ने इसकी कड़ी निंदा की है. सिंह ने पुलिस और प्रदेश की जनता (Police and public) को नसीहत देते हुए कहा कि ऐसी घटनाओं के दौरान मूकदर्शक बने रहना ठीक नहीं है. ऐसे बदमाशों को सबक नहीं सीखा सकते तो कम से कम उन्हें रोकने का प्रयास जरुर करें. सिंह ने कहा कि वे इस मामले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) बात करेंगे.

उन्होंने कहा कि कि ऐसे मामले को रोकने के लिये पुलिस को सख्ती करने की जरुरत है. अपराधियों में पुलिस का डर होना चाहिए. जो लोग अपने आपको स्ट्रीट फाइटर समझने लगे हैं पुलिस को उनका इलाज करना चाहिये. जो लोग इस तरह की गुंडागर्दी करते हैं उनको यह समझ लेना चाहिए कि वे अपनी जिंदगी खराब कर रहे हैं. सिंह ने कहा कि पब्लिक की भी यह जिम्मेदारी है कि अगर कोई 5-10 लोग मिलकर सरे राह किसी व्यक्ति को मार रहे हैं तो वे उन्हें रोकें. इससे बदमाशों के हौसले पस्त हो जाएंगे और उन्हें भागना पड़ेगा. आपका बीच बचाव किसी की जिंदगी बचा सकता है. अपराधियों को डाउन कर सकता है. पब्लिक को भी अवेयर होना पड़ेगा.

जोधपुर: बेखौफ बदमाशों की शर्मनाक करतूत, BSF के SI को बीवी-बच्चों के सामने बेहोश होने तक पीटा

सोमवार को हुई थी यह शर्मनाक घटना


उल्लेखनीय है कि सोमवार को बीएसएफ का सब इंस्पेक्टर बन्ने सिंह पत्नी और बच्चों के साथ अपने गांव पालडी सिद्घा जा रहा था. इस दौरान बस में सवार एक युवक ने उनसे बदसलूकी की. विवाद बढ़ा तो एसआई बन्ने सिंह ने पुलिस को इसकी सूचना दे दी. मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले को शांत करवाकर बस को रवाना कर दिया था. लेकिन बाद में आगे चलकर युवक ने अपने साथियों को बुला लिया. उसने एसआई को परिवार समेत बस से घसीटकर नीचे उतार लिया. उसके बाद बदमाशों ने बन्ने सिंह को इस कदर पीटा कि बेहोश हो गया. इस दौरान लोग मूकदर्शक बने देखते रहे और इसका वीडियो बनाते रहे. बाद में यह वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज