Jodhpur News: पकड़ा गया मासूम हिमांशु का कातिल, पड़ोसी ने ही मारकर कट्टे में डालकर फेंक दिया था, जानिये वजह

पुलिस ने कट्टे के लेबल से कातिल तक पहुंचने की राह खोजी. इससे परिणाम भी जल्द ही सामने आ गया. वह कट्टा हिमांशु के पड़ोस में रहने वाले युवक के घर का था.

पुलिस ने कट्टे के लेबल से कातिल तक पहुंचने की राह खोजी. इससे परिणाम भी जल्द ही सामने आ गया. वह कट्टा हिमांशु के पड़ोस में रहने वाले युवक के घर का था.

Murder case in Jodhpur: पुलिस शहर में हुई 7 साल के मासूम की हत्या का खुलासा कर दिया है. मासूम का कातिल कोई और नहीं बल्कि उसका पड़ोसी (Neighbor) ही निकला है. पुलिस ने उसे गिरफ्तार (Arrested) कर लिया है.

  • Share this:
जोधपुर. सनसिटी जोधपुर शहर (Jodhpur) में 3 दिन पहले लापता हुये 7 साल के मासूम की हत्या (Murder) के मामला का पुलिस में चंद घंटों में ही खुलासा कर दिया है. मासूम की हत्या उसके पड़ोसी (Neighbor) ने की थी. आरोपी पड़ोसी युवक ने इंटरनेशनल वर्चुअल कॉलिंग के जरिये मासूम के परिजनों से 10 लाख रुपये की फिरौती (Ransom) मांगी थी. लेकिन हत्या का वास्तविक कारण अभी तक सामने नहीं आया है. पुलिस हत्या के अन्य कारणों को जानने में जुटी है.

जोधपुर शहर के खंडा फलसा थाना इलाके में रहने वाला 7 साल का मासूम हिमांशु प्रजापत सोमवार शाम को अचानक लापता हो गया था. इसके बाद परिजनों ने खंडा फलसा थाने में हिमांशु प्रजापत के किडनैपिंग का मामला दर्ज कराया था. पुलिस मामले की जांच कर ही रही थी कि बुधवार को सुबह करीब 11 बजे जोधपुर रेंज आईजी के बंगले के पास आटे के एक कट्टे में हिमांशु प्रजापत का शव पड़ा मिला.

8 थानों की पुलिस और 3 एसीपी जुटे मामले की जांच में

हिमांशु प्रजापत का शव के बरामद होने के बाद डीसीपी धर्मेंद्र सिंह यादव ने 8 थानों की पुलिस और 3 एसीपी तथा आईटी सेल के तमाम एक्सपर्ट को हिमांशु प्रजापत की हत्या करने वाले की तलाश में लगा दिया. चंद घंटों की मेहनत में ही आठ थानों की पुलिस और तीन एसीपी के साथ काम कर रही साइबर एक्सपर्ट टीम को मासूम के पड़ोस में रहने वाले एक युवक पर हत्या करने का शक हुआ. उसके बाद पुलिस ने उससे पूछताछ की. उसमें हत्या की पुष्टि हो गई. पुलिस ने हिमांशु के पड़ोसी युवक को गिरफ्तार कर लिया.
कट्टे के लेबल से मिला सुराग

8 थानों की पुलिस को अलग-अलग डायरेक्शन में जांच-पड़ताल में लगाया गया था. हिमांशु का शव कट्टे में मिला था. लिहाजा पुलिस ने कट्टे के लेबल से कातिल तक पहुंचने का राह खोजी. इससे परिणाम भी जल्द ही सामने आ गया. वह कट्टा हिमांशु के पड़ोस में रहने वाले युवक के घर का था. उसके बाद पुलिस ने पड़ोसी युवक को गिरफ्तार कर लिया. डीसीपी धर्मेंद्र सिंह यादव ने बताया कि आरोपी ने बच्चे को छोड़ने की एवज में 10 लाख रुपये की फिरौती मांगी थी. लेकिन हत्या का यह कारण समझ नहीं आ रहा. क्योंकि हिमांशु के घर वालों की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है. पुलिस पूरे मामले की तह में जाने का प्रयास कर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज