Home /News /rajasthan /

तो इसलिए राजू फौजी 10 साल तक राजस्थान पुलिस को देता रहा चकमा, हुआ चौंकाना वाला खुलासा

तो इसलिए राजू फौजी 10 साल तक राजस्थान पुलिस को देता रहा चकमा, हुआ चौंकाना वाला खुलासा

Raju Fauji News: दो सिपाहियों की हत्या में वांछित चल रहा कुख्यात अपराधी राजू फौजी आखिराकार पुलिस के हाथ लग गया.

Raju Fauji News: दो सिपाहियों की हत्या में वांछित चल रहा कुख्यात अपराधी राजू फौजी आखिराकार पुलिस के हाथ लग गया.

Raju Fauji arrested: भीलवाड़ा पुलिस के दो सिपाहियों की हत्या में वांछित चल रहे 1 लाख के इनामी कुख्यात अपराधी राजू फौजी आखिराकार पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. पुलिस के साथ मुठभेड़ में कुख्यात गैंगस्टर घायल हुआ. राजू फौजी ने पुलिस पर दो राउण्ड फायर किए. जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने भी फायरिंग की. फायरिंग के बावजूद भी उसने भागने की कोशिश की थी. इसी साल दस अप्रैल को भीलवाड़ा में राजू फौजी की गैंग व पुलिस के बीच मुठभेड़ हुई थी. इस मुठभेड़ में पुलिस के 2 जवानों की जान चली गई थी. तभी से पुलिस लगातार उसकी तलाश में जुटी थी.

अधिक पढ़ें ...

    रंजन दवे.

    जोधपुर. भीलवाड़ा पुलिस के दो सिपाहियों की हत्या में वांछित चल रहा कुख्यात अपराधी राजू फौजी आखिराकार पुलिस के हाथ लग गया. उसे जोधपुर में शनिवार की अलसुबह बनाड़ एरिया में एक मकान के बाहर से गिरफ्तार किया गया. उसने भागने के लिए पुलिस पर दो राउंड फायर भी किए लेकिन पुलिस और कमांडोज के घेरेबंदी की जवाबी फायरिंग में घायल हो गया. उसके बाएं पैर के टखने में गोली लगने के बावजूद वह भागने लगा जिससे नीचे गिरा और पत्थर से सिर टकराने के साथ सिर पर हल्की चोट भी आई. घेराबंदी कर उसे पकड़ा गया और बाद में उपचार के लिए मथुरादास माथुर अस्पताल में भर्ती करवाया गया. पैर पर प्लास्टर चढ़ाया गया है. अब पुलिस अभिरक्षा में उसका उपचार चल रहा है.

    राजस्थान के पुलिस कप्तान की तरफ से राजू फौजी पर एक लाख का इनाम भी घोषित हो रखा था. इसके अलावा भी भीलवाड़ा, अजमेर, बाड़मेर आदि जिलों में भी इनाम घोषित हो रखे हैं. अजमेर रेंज आईजी एस सेंगथिर ने बताया कि पिछले लंबे समय से कोर टीम राजू फौजी का पीछा कर रही थी. राजू फौजी की गिरफ्तारी कानून का इकबाल बुलंद करती है. आमजन में विश्वास और अपराधियों में भय होना जरूरी है. उन्होंने बताया कि राजू फौजी 10 साल से पुलिस को चकमा इसलिए देता रहा क्योंकि वह मोबाइल का इस्तेमाल नही करता था. यही वजह है कि उसे पकड़ने में परेशानी हुई.
    पुलिस ने मुखबिर तंत्र को सक्रिय कर पकड़ा
    अजमेर रेंज आईजी एस.सेंगाथिर शुक्रवार को पुलिस की स्पेशल टीम के साथ जोधपुर आए थे. यहां पुलिस उपायुक्त पूर्व भूवनभूषण यादव के साथ चर्चा कर बाड़मेर के कल्याणपुर डोली के रहने वाले कुख्यात अपराधी राजू फौजी पुत्र करणाराम के जोधपुर में बनाड़ एरिया में एक मकान पर होने की जानकारी दी.
    इस पर पुलिस की टीम में पहले से शामिल एसीपी मंडोर राजेंद्र प्रसाद दिवाकर, बनाड़ थानाधिकारी सीताराम खोजा, डांगियवास थानाधिकारी कन्हैयालाल आदि के साथ क्यूआटी के कमांडोज को अलर्ट किया गया.

    शनिवार की सुबह छह बजे राजू फौजी बनाड़ एरिया में एक मकान पर बाइक पर पहुंचा. तब 30 पुलिस
    अधिकारियों, सिपाहियों एवं कमांडोज की घेराबंदी पहले से हो रखी थी. जब वह पहुंचा तो उसे पकडऩे का प्रयास किया गया. उसने भागने की कोशिश में पुलिस पर दो राउंड फायर कर दिए. जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने भी दो राउण्ड फायर किए. सुबह छह बजे अंधेरा होने के कारण वह भागने लगा. तब पुलिस
    की फायरिंग से उसके बाएं पैर के टखने में गेाली लगने से वह घायल हो गया. फिर वह भागने लगा तो नीचे गिर गया और पत्थर से सिर टकराने के कारण उसे चोट भी लगी. तब क्यूआरटी कमांडोज और पुलिस ने घेर कर उसे दबोच लिया. बाद में उसे तत्काल पहले उपचार के लिए मथुरादास माथुर अस्पताल लाया गया, जहां पर पैर पर प्लास्टर चढ़ाया गया. सिर पर चोट का भी प्राथमिक उपचार किया गया.

    पुलिस अभिरक्षा में चल रहा उपचार:
    राजू फौजी का अब पुलिस की अभिरक्षा में मथुरादास माथुर अस्पताल में उपचार चल रहा है. उसके भागने की आशंका में हथियाबंद जवानों को तैनात रखा गया है.

    सेना से हो रखा बर्खास्त
    राजू फौजी बाड़मेर के कल्याणपुर स्थित डोली गांव का रहने वाला है. वह पहले सेना में नौकरी करता था. बाद में किसी कारण से सेना की नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया था. इसके बाद वह तस्करी के कामों में लिप्त हो गया. इस साल की शुरुआत में उसने भीलवाड़ा पुलिस के दो सिपाहियों के साथ मुठभेड़ की थी. तब दो सिपाहियों की इसमें मौत हो गई थी. तब से वह फरार चल रहा था. उसे पकडऩे के लिए राज्य के पुलिस महानिदेशक ने एक लाख का इनाम भी घोषित किया था.

    जोधपुर में भी हिस्ट्रीशीटरों के संपर्क में रहा:
    राजू फौजी जोधपुर में भी हिस्ट्रीशीटरों के संपर्क में रहा था. यह हिस्ट्रीशीटर चौपासनी हाऊसिंग बोर्ड थाना क्षेत्र में रहने वाले हैं जिनके बीच पुरानी अदावत चली आ रही है. राजू फौजी एक साल पहले भी जोधपुर आया था. चौपासनी हाऊसिंग बोर्ड पुलिस द्वारा पकड़े गए हिस्ट्रीशीटरों से इस बात का खुलासा हुआ था.

    चार जिलों की पुलिस ने की कार्रवाई
    शनिवार की सुबह छह बजे पुलिस के साइबर सेल की सूचना पर 4 जिलों की पुलिस ने देर रात की जोधपुर जयपुर रोड पर बनाड़ थाना इलाके के खोखरिया गांव में घेराबंदी कर ली थी. भीलवाड़ा पुलिस के कमांडोज के साथ जोधपुर कमिश्नरेट, जोधपुर देहात जिलाज नागौर जिला पुलिस के कमांडो ने गांव में
    पोजीशन ले ली थी.

    डीसीपी यादव पहुंचे अस्पताल:
    उसके पकड़े जाने की सूचना पर बाद में पुलिस उपायुक्त पूर्व भुवन भूषण यादव मथुरादास माथुर अस्पताल पहुंचे. उसके सुरक्षा में पुलिस और गार्ड को तैनात किया गया. बाद में राज्य के पुलिस मुखिया को उसके पकड़े जाने की जानकारी दी गई. फिलहाल उसका पुलिस अभिरक्षा मेें उपचार जारी है.

    Tags: Jodhpur News, Rajasthan news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर