अपना शहर चुनें

States

गुरु पूर्णिमा: आसाराम के लिए जोधपुर जेल तक पहुंचे 5000 समर्थक, नदबई में ट्रेन रोकी

गुरु पूर्णिमा के मौके पर जोधपुर सेंट्रल जेल के बाहर आसाराम समर्थकों की संख्या बढ़ती जा रही है, दोपहर तक यहां 5000 से ज्यादा समर्थक डेरा डाल चुके हैं.
गुरु पूर्णिमा के मौके पर जोधपुर सेंट्रल जेल के बाहर आसाराम समर्थकों की संख्या बढ़ती जा रही है, दोपहर तक यहां 5000 से ज्यादा समर्थक डेरा डाल चुके हैं.

गुरु पूर्णिमा के मौके पर जोधपुर सेंट्रल जेल के बाहर आसाराम समर्थकों की संख्या बढ़ती जा रही है, दोपहर तक यहां 5000 से ज्यादा समर्थक डेरा डाल चुके हैं.

  • Last Updated: August 1, 2015, 7:18 AM IST
  • Share this:
गुरु पूर्णिमा के मौके पर जोधपुर सेंट्रल जेल के बाहर आसाराम समर्थकों की संख्या बढ़ती जा रही है, दोपहर तक यहां 5000 से ज्यादा समर्थक डेरा डाल चुके हैं.

कहते हैं आस्था का कोई रूप नहीं होता. फिर चाहे वह किसी मूर्ति के लिए हो या फिर किसी अदृश्य शक्ति के लिए. या फिर आसाराम जैसे यौन उत्पीड़न के आरोपी के लिए.

नाबालिग से यौन उत्पीड़न के मामलें में जोधपुर की सेंट्रल जेल में बंद आसाराम की एक झलक पाने के लिए उसके हजारों चाहने वाले डटे हुए है. शुक्रवार को गुरु पूर्णिमा है और आसाराम का हर भक्त बस एक आस लिए जेल के बाहर डटा हुआ है कि कैसे भी बस एक बार आसाराम के दर्शन हो जाए.



भारी पुलिस जाब्ता तैनात-
गुरु पूर्णिमा होने के कारण पुलिस किसी प्रकार का कोई खतरा मोल नही लेना चाहती यही वजह है की शुक्रवार को जोधपुर सेंट्रल जेल के बाहर तड़के से ही भारी पुलिस जाब्ता तैनात कर दिया गया. पुलिस किसी भी आसाराम समर्थकों को समूह में इकट्ठा नही होने दे रही है. पुलिस आयुक्त अशोक राठौड़ स्वंय सुरक्षा व्यवस्था की मॉनिटरिंग कर रहे है.

5 हजार से अधिक आसाराम भक्त पहुंचने का दावा-
पुलिस का अनुमान है कि गुरु पूर्णिमा पर आसाराम के करिब 5 हजार समर्थक व भक्त जोधपुर पहुंचे है. इतनी अधिक संख्या को देखते हुए पुलिस ने भारी सुरक्षाबल तैनात किया है. पुलिस द्वारा जेल परिसर के बाहर आसाराम समर्थकों भीड़ नही लगाने देने पर आसाराम समर्थक गलियों में दुबके बैठे है.

लाठीचार्ज से लिया पुलिस ने सबक-
बुधवार को कोर्ट में पेशी के दौरान आसाराम समर्थकों द्वारा अव्यवस्था फैलाए जाने के बाद पुलिस द्वारा लाठीचार्ज किया गया था. तब पुलिस की सुरक्षा व्यवस्थाओं में खामियां होने के कारण ऐसी परिस्थिति उत्पन्न हुई थी. इस बार पुलिस किसी प्रकार की कोई कोताही नही बरतना चाहती थी इसलिए पुलिस ने गुरु पूर्णिमा के दिन तड़के से ही भारी पुलिस जाब्ता तैनात किया.

नदबई में आसाराम समर्थकों ने रोकी ट्रेन-
इस बीच सूचना यह भी मिली की भरतपुर के नदबई में आसाराम समर्थकों ने ट्रेन रोक दी. बताया जा रहा है कि आसाराम समर्थक भारी संख्या में जोधपुर पहुंचना चाहते थे. इसी कारण आसाराम समर्थक ट्रेनों में बेहिसाब तरिके चढ़ने लगे. अव्यवस्थाएं फैलने के बाद पुलिसकर्मियों ने आसाराम समर्थकों को खदेड़कर ट्रेन को रवाना करवाया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज