पुलिस ने किया 6 माह पूर्व हुई बाबू पहलवान की हत्या का खुलासा

शहर के सदर कोतवाली थाना क्षेत्र में छह माह पूर्व हुई दिनदहाड़े हत्या की गुत्थी आखिरकार पुलिस ने सुलझा ली.सदर कोतवाली के विजय चौक किसान छात्रावास के सामने रहने वाले 65 वर्षीय बाबूलाल वैष्णव उर्फ बाबू पहलवान की 21 दिसंबर 2017 की सुबह गमछे से गला घोंट कर व धारदार ब्लेड से गला काट कर घर में ही व्हिल चैयर पर बैठे हुए हत्या कर दी गई थी.

Chandra Shekhar Vyas | News18 Rajasthan
Updated: May 17, 2018, 11:39 PM IST
पुलिस ने किया 6 माह पूर्व हुई बाबू पहलवान की हत्या का खुलासा
पुलिस हिरासत में हत्यारोपी
Chandra Shekhar Vyas | News18 Rajasthan
Updated: May 17, 2018, 11:39 PM IST
शहर के सदर कोतवाली थाना क्षेत्र में छह माह पूर्व हुई दिनदहाड़े हत्या की गुत्थी आखिरकार पुलिस ने सुलझा ली.डीसीपी अमनदीप सिंह कपूर ने गुरुवार को  बताया कि सदर कोतवाली के विजय चौक किसान छात्रावास के सामने रहने वाले 65 वर्षीय बाबूलाल वैष्णव उर्फ बाबू पहलवान की 21 दिसंबर 2017 की सुबह  गमछे से गला घोंट कर व धारदार ब्लेड से गला काट कर घर में ही व्हिल चैयर पर बैठे हुए हत्या कर दी गई थी इस सबंध में मृतक के बड़े भाई पुरूषोत्म शर्मा की रिपोर्ट पर हत्या का मामला दर्ज हुआ. डीसीपी ने बताया कि  टीम ने गहनता से हर पहलू  पर जांच की.

जांच के दौरान ज्ञात हुआ कि मृतक के पिता पन्नालाल सहित कुल चार भाई थे, जिनमे से एक भाई रामचन्द्र का परिवार पहले यहीं रहता था ओर अब 30 सालो से कोटा रहता है.रामचन्द्र का परिवार मृतक बाबू पहलवान पर तंत्र-मंत्र, टोना -टोटका का आरोप लगाता था. रामचन्द्र के पुत्र जितेन्द्र शर्मा ने घटना से करीब 2 माह पहले विजय चौक में मृतक को सबक सिखाने जैसी बातें कहीं थीं.

तकनीकी जांच में जितेन्द्र की मौजूदगी घटना के वक्त विजय चौक क्षेत्र की पाई गई. शेष मुलजिमों की पहचान कर पुलिस टीम ने कोटा से जितेन्द्र शर्मा, धर्मेंद्र शर्मा, रणवीर सिंह उर्फ नन्दा , दौलतराम लोदा को हिरासत में लिया और उनसे पूछताछ की. पुछताछ व तफ्तीश से चारों मुलजिमों ने हत्या का जुर्म स्वीकार किया. जिस पर चारों को गिरफ्तार किया गया है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर