Home /News /rajasthan /

Rajasthan: जोधपुर सेंट्रल जेल में पुलिस की दबिश, कैदियों के पास मिले 8 मोबाइल और अफीम का दूध

Rajasthan: जोधपुर सेंट्रल जेल में पुलिस की दबिश, कैदियों के पास मिले 8 मोबाइल और अफीम का दूध

पुलिस इसकी जांच में भी जुटी है कि इन मोबाइल और सिम से किन लोगों से बात की गई.

पुलिस इसकी जांच में भी जुटी है कि इन मोबाइल और सिम से किन लोगों से बात की गई.

Jodhpur Central Jail News: जोधपुर सेंट्रल जेल में एक बार फिर से कैदियों के पास 8 मोबाइल मिले हैं. जोधपुर पुलिस कमिश्नरेट के 50 अधिक अधिकारियों और पुलिसकर्मियों ने एक साथ जेल में तलाशी अभियान चलाया तो कैदियों में हड़कंप मच गया. पुलिस ने इस संबंध में तीन कैदियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

अधिक पढ़ें ...

जोधपुर. जोधपुर सेंट्रल जेल (Jodhpur Central Jail ) और यहां के कैदियों का मोबाइल से पुराना नाता है. तमाम सतर्कता और सुरक्षा के बावजूद जोधपुर सेंट्रल में लगातार मोबाइल और मादक पदार्थो का मिलना बदस्तूर जारी है. जोधपुर पुलिस कमिश्नरेट ने एक बार फिर से जब सेंट्रल जेल में सर्च अभियान चलाया तो यहां 8 मोबाइल (Mobiles) मिले. इसके साथ ही अफीम का दूध, मोबाइल चार्जर, ईयरफोन और कई सिम बरामद हुई हैं. जोधपुर सेंट्रल जेल में पहले भी कैदी गुदा में दबाकर आधा दर्जन मोबाइल ले जा चुका है.

जोधपुर पुलिस कमिश्नरेट ने रविवार को जेल में तलाश अभियान चलाया. इस दौरान टीम को जेल से 8 मोबाइल मिले. इनमें से तीन मल्टीमीडिया मोबाइल है और पांच की-पैड मोबाइल हैं. इसके अलावा तीन चार्जर, एक ईयरफोन भी बरामद किया गया है. मोबाइल, चार्जर और सिम के अलावा यहां अफीम का दूध भी मिला है.

तीन कैदियों के खिलाफ 3 मुकदमें दर्ज
सेंट्रल जेल में औचक तलाश अभियान डीसीपी पूर्व भुवन भूषण यादव के नेतृत्व में चलाया गया था. इस सर्च अभियान के बाद लोहावट निवासी कैदी सोमराज सहित दो अज्ञात कैदियों के खिलाफ कुल तीन मुकदमें दर्ज किए गए हैं. पुलिस इस बात की तहकीकात करने में जुटी है कि आखिर ये मोबाइल कैदियों के पास आते कहां से हैं. डीसीपी भवन भूषण यादव ने बताया कि पुलिस इसकी जांच में भी जुटी है कि इन मोबाइल और सिम से किन लोगों से बात की गई.

50 पुलिसकर्मियों की टीम ने दी थी दबिश
जेल में सर्च अभियान के दौरान कमिश्नर जोश मोहन के निर्देशन पर डीसीपी भुवन भूषण यादव, एसीपी रंजीता शर्मा, एसीपी दरजाराम और एडीसीपी भागचंद सहित बड़ी संख्या में कई स्थानों के थाने अधिकारी तथा पुलिस के जवानों ने एक साथ दबिश दी थी. जोधपुर एडीएम भी इस टीम का हिस्सा थे.

गुदा में छिपाकर 6 मोबाइल जेल में ले गया था कैदी
जोधपुर सेंट्रल जेल में कैदियों को बड़े आराम से सुविधायें मुहैया हो जाती है. जाहिर जेल प्रशासन की मिलीभगत के बिना यह सबकुछ संभव नहीं है. जोधपुर सेंट्रल जेल में पहले भी कई बार सर्च के दौरान मोबाइल मिल चुके हैं. पूर्व में एक कैदी अपनी गुदा में छिपाकर 6 मोबाइल जेल में ले जाने में कामयाब हो गया था. तत्कालीन समय में उस कैदी ने 5 मोबाइल तो अपने शरीर से निकाल दिए लेकिन एक मोबाइल उसके शरीर में ही रह गया था. उसे सर्जरी करके निकाला गया था.

Tags: Crime in Rajasthan, Jail Diary, Jodhpur Central Jail, Rajasthan latest news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर