अपना शहर चुनें

States

जोधपुर के आसमान में राफेल की उड़ान, कल से शुरू होगा भारत और फ्रांस का संयुक्त युद्धाभ्यास

भारतीय वायुसेना का यह पहला युद्धाभ्यास है जिसमें राफेल लड़ाकू विमान हिस्सा ले रहे हैं.
भारतीय वायुसेना का यह पहला युद्धाभ्यास है जिसमें राफेल लड़ाकू विमान हिस्सा ले रहे हैं.

भारत और फ्रांस (India and France) कल से पश्चिमी राजस्थान में संयुक्त युद्धाभ्यास (Joint maneuvers) करेगी. देश में यह पहला युद्धभ्यास जिसमें राफेल (Rafael) फाइटर प्लेन का इस्तेमाल होगा.

  • Share this:
जोधपुर. देश के सबसे घातक योद्धा राफेल (Rafael) की आसमान में उड़ान शुरू हो चुकी है. बुधवार से भारत व फ्रांस (India and France) की वायुसेना संयुक्त युद्धाभ्यास (Joint maneuvers) शुरू कर रही है. एक्स डेजर्ट नाइट-21 नाम से शुरू होने वाला यह युद्धाभ्यास 24 जनवरी तक चलेगा. जोधपुर से लेकर पाकिस्तान बॉर्डर तक दोनों देशों की वायुसेना अपने अपने फाइटर प्लेन से ताकत का अहसास करवाएगी.

चीन और पाकिस्तान के साथ चल रहे तनाव के बीच भारत तथा फ्रांस पश्चिमी राजस्थान के जोधपुर इलाके में युद्धभ्यास शुरू कर रहे हैं. जोधपुर डिफेंस एयरफोर्स स्टेशन पर कल से 24 जनवरी तक जॉइंट युद्धाभ्यास होगा. इस युद्धाभ्यास में देश के सबसे घातक फाइटर प्लेन राफेल की ताकत देखने को मिलेगी. राफेल के साथ सुखोई-30 और अन्य फाइटर प्लेन एक साथ उड़ान भरकर दुश्मन देशों को अपनी ताकत का अहसास करवाएंगे. फ्रांस की वायुसेना मौजूदा समय में स्काईरॉस डिप्लॉयमेंट के तहत एशिया में तैनात है. वह भारत में युद्ध अभ्यास के दौरान आगे बढ़ेगी. इस युद्धाभ्यास का मकसद दोनों देशों की क्षमताओं का प्रदर्शन करते हुये प्रोफेशनल प्रेक्टिस का इस्तेमाल कर युद्धकौशल को और निखारना है.





देश में यह पहला युद्धभ्यास जिसमें राफेल फाइटर प्लेन का इस्तेमाल होगा
भारतीय वायुसेना का यह पहला युद्धाभ्यास है जिसमें राफेल लड़ाकू विमान हिस्सा ले रहे हैं. फ्रांस वायुसेना राफेल के साथ एयरबस A330-मल्टीरोल टेंकर ट्रांसपोर्ट, ए-400 एम टैक्टिकल ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट के साथ 175 वायु योद्धा इस युद्धाभ्यास में शामिल होंगे. वहीं भारतीय वायुसेना के मिराज 2000, सुखोई 30 एमकेआई और राफेल फाइटर प्लेन युद्ध अभ्यास करेंगे. आईएल-78 फ्लाइट रेफ्यूलिंग एयरक्राफ्ट, डब्ल्यूए सीएस और एईडब्ल्यू एड सी एयरक्राफ्ट शामिल होंगे. सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण पश्चिमी राजस्थान में भारतीय सेना के युद्धाभ्यास चलते रहते हैं. यहां जोधपुर के साथ ही जैसलमेर और बाड़मेर भारतीय सेना के अहम ठिकाने हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज