Home /News /rajasthan /

राजीव गांधी लिफ्ट कैनाल: 1416 करोड़ स्वीकृत, जोधपुर, बाड़मेर और पाली के 2104 गांवों को मिलेगा पानी

राजीव गांधी लिफ्ट कैनाल: 1416 करोड़ स्वीकृत, जोधपुर, बाड़मेर और पाली के 2104 गांवों को मिलेगा पानी

राजीव गांधी कैनाल की यह महत्वकांक्षी परियोजना पूरी होने के बाद नहर 70 दिन के क्लोजर में भी जोधपुर को नियमित पानी की सप्लाई की जा सकेगी. (सांकेतिक तस्वीर)

राजीव गांधी कैनाल की यह महत्वकांक्षी परियोजना पूरी होने के बाद नहर 70 दिन के क्लोजर में भी जोधपुर को नियमित पानी की सप्लाई की जा सकेगी. (सांकेतिक तस्वीर)

Rajiv Gandhi Lift Canal third phase: राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने नये साल पर पश्चिमी राजस्थान को बड़ा तोहफा दिया है. राजस्थान सरकार ने राजीव गांधी लिफ्ट कैनाल के थर्ड फेज के लिये 1416 करोड़ रुपए की तकनीकी स्वीकृति प्रदान कर इसे नया जीवन देने का प्रयास किया है. इससे जोधपुर, पाली और बाड़मेर के 2104 गांवों को पानी मिलेगा. यह कार्य तीन साल में पूरा होने की उम्मीद जताई जा रही है. पहले यह राशि जायका से मिलने वाली थी. लेकिन वहां से हो रही देरी के चलते गहलोत सरकार ने इसके लिये यह राशि स्वीकृत की है.

अधिक पढ़ें ...

जोधपुर. राजीव गांधी लिफ्ट कैनाल (Rajiv Gandhi Lift Canal) को लंबे समय बाद अब राहत की सांस मिली है. राजस्थान की गहलोत सरकार ने राजीव गांधी लिफ्ट कैनाल के थर्ड फेज के लिए 1416 करोड़ रुपए की तकनीकी स्वीकृति प्रदान कर इसे नया जीवन देने का प्रयास किया है. सूत्रों की मानें तो अगले दस दिन में इस बहुप्रतीक्षित नई कैनाल के टेंडर होंगे और दो माह में पीएचईडी (PHED) लिफ्ट कैनाल के समानांतर पाइप लाइन डालने का काम शुरू कर देगी. उसके बाद जोधपुर, बाड़मेर और पाली के 2104 गांवों को बड़ी राहत मिलेगी.

राजीव गांधी लिफ्ट कैनाल की लंबाई 205 किमी है. इसके समानांतर पाइप लाइन का काम तीन साल में पूरा होने का अनुमान है. यह कार्य पूरे हो जाने के बाद यह वर्ष 2051 तक संभावित 75 लाख जनता को पानी पिलाने के उद्देश्य को पूरा करेगी. पीएचईडी के अतिरिक्त मुख्य अभियंता नक्षत्रसिंह चारण के अनुसार इस योजना की कुछ ही दिनों में टेंडर प्रक्रिया पूरी करके काम शुरू कर देंगे.

पहले जायका के सहयोग से होने वाला था यह काम
कैनाल का यह काम पहले जायका के सहयोग से होने वाला था. लेकिन जायका से मिलने वाली राशि में समय अधिक लगने का अनुमान था. ऐसे में गहलोत सरकार ने इस पाइप लाइन को अपने स्तर पर बिछाने का निर्णय लिया. डेढ़ साल पहले जब यह प्रोजेक्ट बना उस दौरान इसका बजट 1454 करोड़ था, लेकिन महंगाई बढ़ने से यह राशि वर्तमान में 1799 करोड़ हो गई.

70 दिन के क्लोजर में भी जोधपुर को मिलेगा नियमित पानी
पीएचईडी ने तकनीकी स्वीकृति के लिए सरकार के पास इस योजना को भेजा था. इस पर गहलोत सरकार ने महज एक महीने में इसे स्वीकृति दे दी. कैनाल की यह महत्वकांक्षी परियोजना पूरी होने के बाद नहर 70 दिन के क्लोजर में भी जोधपुर को नियमित पानी की सप्लाई की जा सकेगी. पीएचईडी राजीव गांधी लिफ्ट कैनाल और इंदिरा गांधी नहर के पास के बीच मदासर पर एक बड़ी डिग्गी इस योजना के तहत बनाएगी. इसमें करीब तीस दिन सप्लाई जितना पानी स्टोर रहेगा.

205 किलोमीटर लंबी पाइपलाइन बिछेगी
वर्तमान में लिफ्ट कैनाल का पानी रास्ते में सात पंपिंग स्टेशन से होकर गुजरता है. लेकिन नई पाइप लाइन में महज पांच बड़े पंप हाउस लगेंगे. इस योजना के तहत 205 किलोमीटर लंबी 2000 एमएम से 1100 एमएम की स्टील पाइपलाइन बिछेगी. यह शहर में जलापूर्ति के लिए निर्बाध रूप से पानी की सप्लाई करेगी.

Tags: Barmer news, Jodhpur News, Pali news, Rajasthan latest news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर